गेंदबाजी में बोल्ट और बल्लेबाजी में ईशान के प्रदर्शन से मुंबई ने चेन्नई को दस विकेट से हराया

गेंदबाजी में बोल्ट और बल्लेबाजी में ईशान के प्रदर्शन से मुंबई ने चेन्नई को दस विकेट से हराया

गेंदबाजी में बोल्ट और बल्लेबाजी में ईशान के प्रदर्शन से मुंबई ने चेन्नई को दस विकेट से हराया

शारजाह: ट्रेंट बोल्ट और जसप्रीत बुमराह की कहर बरपाती तेज गेंदबाजी के बाद ईशान किशन के आक्रामक अर्धशतक की मदद से मुंबई इंडियंस ने शुक्रवार को इंडियन प्रीमियर लीग के मैच में तीन बार की चैम्पियन चेन्नई सुपर किंग्स को दस विकेट से हरा दिया. टॉस की उछाल से लेकर गेंदबाजी और बल्लेबाजी तक कुछ भी चेन्नई के पक्ष में नहीं रहा. मुंबई के तेज आक्रमण के सामने चेन्नई सुपर किंग्स का शीर्षक्रम एक बार फिर नेस्तनाबूद हो गया और महेंद्र सिंह धोनी की टीम नौ विकेट पर 114 रन ही बना सकी.

पावरप्ले के अंदर चेन्नई ने पांच विकेट गवाएंः
पहले बल्लेबाजी के लिये भेजे जाने पर चेन्नई ने पांच विकेट पावरप्ले के भीतर ही गंवा दिये. इनमें से बोल्ट ने तीन और बुमराह ने दो विकेट लिये. इन शुरूआती झटकों से चेन्नई उबर ही नहीं सकी. जवाब में रोहित शर्मा के बिना उतरी मुंबई ने 12 . 2 ओवर में बिना किसी नुकसान के लक्ष्य हासिल कर लिया. क्विंटॉन डिकॉक ने 37 गेंद में पांच चौकों और दो छक्कों की मदद से 46 रन बनाये जबकि ईशान ने 37 गेंद में 68 रन जोड़े जिनमें पांच छक्के और छह चौके शामिल थे. हैमस्ट्रिंग चोट के शिकार रोहित की जगह कीरोन पोलार्ड ने कमान संभाली थी. इस जीत के बाद मुंबई दस मैचों में 14 अंक लेकर शीर्ष पर है जबकि चेन्नई 11 मैचों में सिर्फ छह अंक के साथ आखिरी स्थान पर है.

चेन्नई की ओर से सैम कुरेन ने बनाएं सबसे ज्यादा रनः
इससे पहले सैम कुरेन के 52 रन नहीं होते तो चेन्नई नौ विकेट पर 114 रन के स्कोर तक भी नहीं पहुंच पाती. कुरेन ने संभलकर खेलते हुए 47 गेंद में दो छक्कों और चार चौकों की मदद से 52 रन बनाये. वह मैच की आखिरी गेंद पर बोल्ड हुए और बोल्ट का चौथा शिकार बने. बोल्ट ने 18 रन देकर चार विकेट लिये. उन्होंने अपने आखिरी ओवर में 13 रन दिये यानी पहले तीन ओवर में सिर्फ पांच रन ही दिये. बुमराह ने 25 रन देकर दो और लेग स्पिनर राहुल चाहर ने 22 रन देकर दो विकेट चटकाये. 

कुरेन और इमरान ताहिर ने नौवे विकेट के लिये की 43 रनों की साझेदारीः
कुरेन ने इमरान ताहिर (नाबाद 13) के साथ नौवे विकेट के लिये 43 रन की साझेदारी की जो चेन्नई के लिये सबसे बड़ी साझेदारी रही. चेन्नई की शुरूआत बेहद खराब रही और दो ओवर के बाद उसके तीन विकेट तीन रन पर गिर गए थे. पावरप्ले में उसने दो विकेट और गंवाये. शेन वॉटसन की जगह खेल रहे रूतुराज गायकवाड़ खाता खोले बिना बोल्ट के पहले ही ओवर में पगबाधा आउट हुए. अंबाती रायुडू को बुमराह ने शॉर्ट गेंद पर पवेलियन भेजा जिनका कैच क्विंटॉन डिकॉक ने लपका. एन जगदीशन अगली गेंद पर सूर्यकुमार यादव को कैच देकर लौटे.

कप्तान धोनी फिर हुए फैल
इस सत्र में अब तक अच्छा प्रदर्शन करने वाले चेन्नई के इकलौते बल्लेबाज फाफ डु प्लेसी भी डिकॉक को कैच देकर रवाना हुए. कप्तान धोनी (16) का खराब फार्म जारी रहा जो राहुल चाहर की गेंद पर छक्का लगाने के बाद फिर बड़ा शॉट खेलने के प्रयास में आउट हुए . रविंद्र जडेजा (सात) को बोल्ट ने कृणाल पंड्या के हाथों लपकवाया.
सोर्स भाषा

और पढ़ें