भारत-पाक सीमा पर BSF के लिए पैदा हुई परेशानी, देश के तमाम बॉर्डर पर जवानों का सम्पर्क टूटा !

Suryaveer Singh Tanwar Published Date 2019/06/10 11:49

जैसलमेर: देश में राजस्थान के दूरदराज के रेतीले धोरों व जम्मू कश्मीर के लेह लद्दाख से लगती अन्तर्राष्ट्रीय सीमाओं पर तैनात बी.एस.एफ सहित अन्य सुरक्षाबल इन दिनों एक बहुत बड़ी समस्या से जूझ रहे हैं. भारत व साउथ एशिया में संचार सेवाओं के लिये कार्य कर रहा एक ट्रांसपोर्डर एन.एस.एस 6 सेटेलाईट की अवधि पूरी होने के बाद उसके कार्य करना बंद करने से देश की सीमाओं पर व देश की अन्य विभिन्न क्षेत्रों में लगे हुवे डी.एस.पी.टी सेट ;डिजीटल सैटेलाईट फोन टर्मिनलद्ध व वी सैट पूरी तरह बंद हो गया हैं. इससे सुरक्षा बलों को अपने घरों पर बातचीत करने व ऑपरेशनल क्रियाकलापों में खासी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है. 

ऑपरेशनल गतिविधियों के लिये जरूरी संदेश भेजने में आ रही कठिनाईयां
इन डी.एस.पी.टी फोन के बंद होने से खासकर लेह लद्दाख, सियाचीन आदि व राजस्थान के दुर्गम इलाकों में देश की रक्षा में तैनात विभिन्न सुरक्षा बलों के जवानों, अधिकारियों का अपने घर परिवार से सम्पर्क नहीं हो पा रहा हैं और तो और उन्हें ऑपरेशनल गतिविधियों के लिये जरूरी संदेश भेजने के लिये काफी कठिनाईयां आ रही है. यह सचमुच चिंता का विषय बनता जा रहा है. केन्द्र सरकार द्वारा इसमें अभी तक किसी प्रकार की वैकल्पिक व्यवस्था नहीं की गई है. उच्चधिकारिक सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार देश में विभिन्न दूर दराज के क्षेत्रों में दूर संचार के विभिन्न अधिकारियों को  एस.ई.एस डायरेक्टर इंडिया एण्ड साउथ ईस्ट एशिया ने एक मेल भेजकर जानकारी दी थी कि ट्रांसपोर्डर एन.एस.एस. 6 सैटेलाईट 13 मई 2019 से टर्न ऑफ हो गया हैं इसके कारण देश में विभिन्न क्षेत्रों में लगे हुवे डी.एस.पी.टी फोन की सर्विस नहीं मिल सकेगी.

सीमा चौकियों पर लगे हुए 146 डी.एस.पी.टी फोन बंद 
इस संबंध में जानकार सूत्रों ने बताया कि जैसलमेर में भारत पाक सीमा पर बी.एस.एफ की विभिन्न सीमा चौकियों पर लगे हुए 146 डी.एस.पी.टी फोन बंद हो गए हैं. गत 13 मई से एन.एस.एस 6 सैटेलाईट फोन के टर्न ऑफ होने से पूरे देश में डी.एस.पी.टी की सेवाएं बंद हो गई. इससे इंटरनेट डाटा सेवाएं भी उपभोक्ता को नहीं मिल पाएगा. डी.एस.पी.टी सेवाएं बंद होने से निश्चित रूप से बी.एस.एफ के जवानों को कठिनाईयों का सामना करना पड़ रहा है क्योंकि वे बोर्डर से किसी प्रकार की बातचीत अब नहीं कर सकेंगे. उन्होंने बताया कि अभी डी.एस.पी.टी सेवाएं बंद होने के बाद कोई अलटरनेट सिस्टम शुरू नहीं हो पाया हैं. 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in