1980 में जन्मी भाजपा 6 अप्रैल को मनाएगी 39वां स्थापना दिवस

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/03/26 01:27

जयपुर (योगेश शर्मा)। यह संयोग है कि आम चुनावों के बीच बीजेपी का स्थापना दिवस मनाया जाना है। 39 साल पहले 6 अप्रैल 1980 को बीजेपी की स्थापना हुई थी। आज यह दुनिया का सबसे बड़ा राजनीतिक दल और देश की सत्ता पर काबिज है। राजस्थान में भी बीजेपी अपनी कम आयु में ही कई मर्तबा सत्ता का स्वाद चख चुकी है। हालांकि अब काबिज है कांग्रेस सरकार। स्थापना दिवस पर बीजेपी का हर कार्यकर्ता अपने आवास पर पार्टी का झंडा लगायेगा। खास रिपोर्ट:

पहले आर एस एस, फिर जनसंघ और फिर दोनों के विचारों के सम्मिश्रण से भारतीय जनता पार्टी का जन्म हुआ था। आपातकाल के बाद 1980 में जन्मी बीजेपी ने अपनी कम आयु में ही कठिन सियासी इम्तिहान पास कर डाले। उस दौरान एक ही नारा लगता था अटल, आडवाणी कमल निशान मांग रहा हिन्दुस्तान। अब बीजेपी नये दौर में है और गू़ंज है एक ही नारे की मोदी, मोदी और मोदी। ये नारा कम समय में ही भाजपाइयों के लिये वरदान साबित हो गया था, जब बीजेपी ने पिछले लोकसभा चुनावों में प्रचंड बहुमत से दिल्ली के तख्त पर कमल खिलाया। यह संयोग ही है कि केन्द्र में बीजेपी की सरकार है, आम चुनाव है और पार्टी को मनाना है अपना स्थापना दिवस। देश के तख्त पर नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली एनडीए सरकार विराजमान है तो राजस्थान में अशोक गहलोत के नेतृत्व में कांग्रेस की सरकार। पिछले विधानसभा चुनावों में कड़ी से कड़ी टूट गयी थी। लिहाजा पिछले स्थापना दिवस की तरह दोहरा खुशी नहीं, लेकिन चुनावी माहौल के कारण बीजेपी के कार्यकर्ताओं के बीच जोश है, 6 अप्रैल को स्थापना दिवस मनाने का। लिहाजा पार्टी के बैनर तले कई कार्यक्रम होंगे। 

6 अप्रैल को भाजपा स्थापना दिवस:
-प्रत्येक भाजपाई घर- घर लगायेंगे पार्टी के झंडे
-बूथ, शक्ति, मंडल, जिला इकाइयों की ओर से आयोजन 
-भाजपा के महापुरुषों को याद किया जाएगा
-पं दीनदयाल उपाध्याय, अटल बिहारी वाजपेयी की स्मृति में कार्यक्रम होंगे 
-कार्यक्रमों के जरिये मोदी सरकार की उपलब्धियों को प्रचारित किया जाएगा
-राष्ट्रवाद की बात बुलंद की जाएगी
-प्रभात फेरियां निकालकर होगा प्रचार
-बीजेपी के उम्मीदवार पूरे जोश के स्थापना दिवस को मनायेंगे
-पार्टी के झंडो के वितरण भी कार्यक्रम होंगे
-जनसंघ के जमाने के नेताओं और बुजुर्ग नेताओं से आशीर्वाद लिया जाएगा
-बीजेपी की पंच निष्ठाओं को चुनाव प्रचार के जरिये आम जन तक पहुंचाया जाएगा
-कार्यकर्ता सम्मेलन आयोजित किये जाएंगे

राजस्थान में अपने जन्म के बाद बीजेपी ने धीरे धीरे खुद को स्थापित किया। भैंरो सिंह शेखावत और वसुंधरा राजे की अगुवाई में समय समय पर सरकारें बनाई। स्वर्गीय भैंरो सिंह शेखावत, सुंदर सिंह भंडारी जैसे दिग्गजों ने राजस्थान में बीजेपी को खड़ा करने का काम किया। पिछली बार वसुंधरा राजे सरकार प्रचंड बहुमत के साथ राजस्थान में आई तो उसकी झोली में आगे चलकर यहां से 25 सीटें भी आई। अब अपनी पार्टी के स्थापना दिवस पर बीजेपी के सामने चुनावी चुनौती है फिर से खुद को साबित करने की। राजस्थान में राह आसान नहीं है, क्योंकि यहां काबिज है गहलोत सरकार। 

...ऐश्वर्य प्रधान के साथ योगेश शर्मा की रिपोर्ट

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in