Live News »

नक्सली हमले में शहीद अजीत सिंह को उनके दोनों बेटों ने दी मखाग्नि

नक्सली हमले में शहीद अजीत सिंह को उनके दोनों बेटों ने दी मखाग्नि

अलवर: जिले के मांढण क्षेत्र के गण्डाला निवासी अजीत सिंह यादव का आज उनके पैतृक गांव में अंतिम संस्कार किया गया. अजीत सिंह यादव 10 फरवरी को नक्सलियों के साथ हुई मुठभेड़ में घायल हो गए थे. उसके बाद मंगलवार को उन्होंने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया. अजीत सिंह यादव सीआरपीएफ की कोबरा बटालियन में तैनात थे. अजीत सिंह यादव 1994 में सीआरपीएफ की कोबरा बटालियन में भर्ती हुए थे. तब से वे नक्सलियों से लोहा ले रहे थे. लेकिन 10 फरवरी को वो नक्सलियों के खिलाफ ऑपरेशन में गोली लगने की वजह से शहीद हो गए. 

VIDEO: मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बजट को दिया अंतिम रूप, वित्त विभाग अधिकारियों के साथ किया फाइनल

शहीद अजीत सिंह को उनके दोनों बेटों ने दी मखाग्नि: 
शहीद अजीत सिंह को उनके दोनों बेटों ने मखाग्नि दी. 20 वर्षीय आशीष यादव और 16 वर्षीय अभिषेक ने नम आंखों से अपने पिता को अंतिम विदाई दी. इससे पहले बुधवार सुबह जैसे ही शहीद की पार्थिव देह गांव पहुंची, पूरा गांव अजीत के नाम से गूंज उठा. वहीं पूरे सैन्य सम्मान के साथ अजीत को अंतिम विदाई दी गई. युवाओं द्वारा उनके पार्थिव देह के आगे बाइक रैली निकाली गई. 

जम्मू-कश्मीर: पुलवामा में सुरक्षाबलों को मिली बड़ी कामयाबी, 3 आतंकी ढेर

मां कमला देवी सहित परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल:
हैड कांस्टेबल अजीत सिंह की शहादत की खबर के बाद उनके गांव गण्डाला में शोक की लहर दौड़ गई. उनकी मां कमला देवी सहित परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है. वहीं प्रदेश के मुखिया अशोक गहलोत ने भी ट्विट करते हुए लिखा कि हेड कांस्टेबल अजीत सिंह की वीरता को सलाम करता हूं, जो बीजापुर में नक्सलियों से लोहा लेते हुए शहीद हो गए. हम इस मुश्किल समय में शहीद के परिवार के साथ है. ऐसे समय में उन्हें हिम्मत मिले. 


 

और पढ़ें

Most Related Stories

Facebook पर की दोस्ती...फिर शादी का झांसा देकर दोस्तों के साथ मिलकर गैंगरेप, 2 आरोपी गिरफ्तार

Facebook पर की दोस्ती...फिर शादी का झांसा देकर दोस्तों के साथ मिलकर गैंगरेप, 2 आरोपी गिरफ्तार

अलवर: जिला के भिवाड़ी महिला थाने में मंगलवार को एक गैंगरेप का मामला सामने आया था. पीड़िता ने रिपोर्ट दी है कि उसकी सोशल मीडिया पर एक युवक से दोस्ती हुई थी. इसके बाद युवक से शादी का झांसा देकर उसको गुरुग्राम बुलाया. जहां पर युवक ने पीड़िता के साथ संबंध बनाए.

कुछ युवकों के साथ मिलकर पीड़िता के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया:
रिपोर्ट में पीड़िता ने बताया कि उसके बाद युवक उसे लेकर भिवाड़ी पहुंचा और कुछ युवकों के साथ मिलकर पीड़िता के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया. उसके बाद पीड़िता को गुरुग्राम छोड़कर वहां से फरार हो गया. इस पर पीड़िता उस युवक को ढूढ़ने के लिए भिवाड़ी पहुंची, जब युवक नहीं मिला तब पीड़िता ने भिवाड़ी महिला थाने में मामला दर्ज करवाया है.

{related}

दो आरोपी ज्यासुदीन खान और मुख्तार गुर्जर गिरफ्तार:
वहीं गैंगरेप के मामले में तत्परता दिखाते हुए भिवाड़ी पुलिस अधीक्षक राममूर्ती जोशी ने भिवाड़ी डीएसपी हरिराम कुमावत को जांच सौंपी. डीएसपी ने न्यायालय में पीड़िता के 164 के बयान दर्ज करवाए गए और पीड़िता का मेडिकल करवाया गया. वहीं इस मामले में भिवाड़ी डीएसपी हरिराम कुमावत ने तत्परता दिखाते हुए दो आरोपी ज्यासुदीन खान और मुख्तार गुर्जर भिवाड़ी को गिरफ्तार कर 376 का मुकदमा दर्ज कर लिया गया है. 

Thanagazi Gang Rape Case: न्यायाधीश बृजेश कुमार शर्मा ने कहा-दोषियों के खिलाफ लगाया अर्थदंड पीड़िता को मिलेगा

Thanagazi Gang Rape Case: न्यायाधीश बृजेश कुमार शर्मा ने कहा-दोषियों के खिलाफ लगाया अर्थदंड पीड़िता को मिलेगा

जयपुर: मोब लिंचिंग, दुष्कर्म, गैंगवार, गौ तस्करी समेत कितने ही ऐसे शब्द हैं जिनको लेकर अलवर चर्चा में रहा , राजस्थान के लिहाज से विकसित माने जाने वाला यह इलाका यूं तो एनसीआर में है और राजस्थान प्रदेश का सिंह द्वार भी है लेकिन बार-बार यहां होने वाली घटनाओं ने सरकार तक को परेशान किया है. पर इस बार यहां के न्यायालय से आई खबर ने एक नजीर पेश की है. देशभर में महिलाओं के खिलाफ हो रहे अपराधों में अलवर का यह फैसला एक उम्मीद है थानागाजी में 5 लोगों द्वारा पति के सामने ही पत्नी से दुष्कर्म करने के मामले में कोर्ट ने आरोपियों को अधिकतम सजा सुनाई है. 29 अप्रैल 2019 का काला दिन, थानागाजी में नारायणपुर रोड पर बाइक पर जा रहे एक पति पत्नी को 5 लोगों ने रोका, पास ही मिट्टी के बीहड़ों में ले गए और बारी-बारी से दुष्कर्म किया, दोनों से मारपीट की गई, धमकी दी गई, अश्लील वीडियो बना लिए गए, एक आरोपी ने तो दो बार दुष्कर्म किया और उसके बाद भी 3 दिन तक पीड़ित को फोन कर धमकाते रहे कि ₹10000 दे दो नहीं तो वीडियो वायरल कर देंगे. जब फर्स्ट इंडिया ने इस पूरे मामले का खुलासा किया तो सभी सकते में थे, खुद लापरवाही करने वाली पुलिस के आला अधिकारी भी हैरान और परेशान थे कि ऐसे मामले में लापरवाही कैसे हुई.

सरकार ने किया था हर संभव मदद का वायदा:
सरकार ने संवेदनशीलता दिखाई आरोपियों को गिरफ्तारी के आदेश हुए, पुलिस ने बेस्ट टीम लगाकर आरोपी पकड़े, थाना अधिकारी को निलंबित किया गया, पुलिस अधीक्षक को एपीओ कर दिया गया और कुछ लोगों के खिलाफ जांच की गई. जिनमें वह पुलिसकर्मी भी शामिल थे जो आरोपियों से लगातार बातचीत करते रहे थे. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और राहुल गांधी थानागाजी आये और पीड़िता को ढांढस बंधाया, हर संभव मदद करने का वायदा किया और पीड़िता को पुलिस में नौकरी दे दी गई. जयपुर में मकान दे दिया गया और आर्थिक सहायता भी सरकार की ओर से की गई. आज फैसला आया तो पीड़िता के ससुर ने कहा कि वह फैसले से संतुष्ट हैं सरकार ने जो हमारे लिए किया है वह भी ठीक है हालांकि हथियार लाइसेंस की मांग पूरी नहीं हुई उसका जिक्र भी किया गया.

{related}

आरोपियों को कठोर कारावास:
न्यायधीश बृजेश कुमार शर्मा ने फैसला सुनाते हुए कहा की यह घटना राम काल में हुई सीता हरण और कृष्ण काल में हुई द्रोपती के चीर हरण से भी बड़ी है. दुष्कर्म में जाति धर्म या कोई मजहब नहीं होता ऐसे मामले में सजा इस तरह होनी चाहिए कि दुष्कर्म की अमरबेल को समूल नष्ट करने में सहायता कर सके. इसलिए सभी आरोपियों को भारतीय कानून में दी जाने वाली अधिकतम सजाएं दी गई. आरोपी छोटेलाल, अशोक, इंद्राज  और हंसराज को उनके प्राकृतिक जीवन तक जेल में रहने की सजा हुई है यानी मृत्यु पर्यंत तक जेल में ही रहेंगे. साथ ही हंसराज पर ₹329500, अशोक पर ₹229500, छोटे लाल पर ₹229500, इंद्राज पर ₹229500 जुर्माना किया गया. वही वीडियो को वायरल करने वाले मुकेश पर भी दो अलग-अलग धाराओं में 3 और 5 साल की सजा सुनाई गई. यानी 5 साल तक कठोर कारावास भुगतना होगा. मुकेश पर भी एक लाख से ज्यादा का अर्थदंड लगाया गया है.

पीड़िता को मिलेगा सभी अर्थदंड से मिलने वाला पैसा:
न्यायाधीश शर्मा ने यह भी कहा कि सभी अर्थदंड से मिलने वाला पैसा पीड़िता को दिया जाए. न्यायाधीश की ओर से विधिक सेवा प्राधिकरण को निर्देश देते हुए कहा गया है कि वह आर्थिक सहायता मुहैया कराए. यानी ना केवल आरोपियों के खिलाफ कठोर दंड का ध्यान रखा गया है बल्कि पीड़िता से पूरी तरह सहानुभूति रखते हुए हर संभव मदद की कोशिश की गई. न्यायधीश बृजेश कुमार शर्मा का यह फैसला देश में एक नजीर साबित होगा और वर्तमान में चल रहे महिलाओं के खिलाफ होने वाले अत्याचार और उसके खिलाफ न्याय मांगने वालों को जरूर यह फैसला एक जवाब की तरह लगना चाहिए.साथ ही अबला , पीड़िता या गलत के खिलाफ अपनी आवाज बुलंद नहीं कर पाने वाली महिला के लिए एक उम्मीद है. 

फैसले के बाद जागेगा न्यायपालिका और सिस्टम में विश्वास:
निःसंदेह इस फैसले के बाद न्यायपालिका और सिस्टम में विश्वास जागेगा. राजस्थान सरकार के लिए भी यह फैसला दूसरी सरकारों को एक उदाहरण बताने के लिए होगा, जिसमें दूसरे प्रदेशों में हो रही घटनाओं को लेकर इस तरह का न्याय पीड़िता के साथ हो सके. पुलिस ने भी इस केस में अच्छा काम करने वाले एएसआई अजय कुमार शर्मा समेत अन्य लोगों को रिवार्ड देने की बात कही है साथ ही अलवर में ही कुछ और गंभीर केसों को बिगाड़ने वाले कर्मचारियों के खिलाफ दंड की कार्रवाई भी होगी. जयपुर रेंज आईजी एस सेंगाथिर और पुलिस अधीक्षक तेजस्विनी गौतम ने पत्रकार वार्ता कर कहा कि एक बेहतरीन फैसला है और हमें न्यायालय से इतनी ही उम्मीद थी आईजी ने कहा कि यह फैसला एक एग्जांपल सेट करेगा. 

...फर्स्ट इंडिया के लिए अश्विनी यादव की रिपोर्ट

Thanagazi Gang Rape Case: विशेष कोर्ट ने 4 दोषियों को सुनाई उम्रकैद की सजा, न्यायाधीश बृजेश कुमार शर्मा ने सुनाया फैसला

Thanagazi Gang Rape Case: विशेष कोर्ट ने 4 दोषियों को सुनाई उम्रकैद की सजा, न्यायाधीश बृजेश कुमार शर्मा ने सुनाया फैसला

अलवर: अलवर की एक स्थानीय अदालत ने अलवर के थानागाजी में एक विवाहिता से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में दोषी चार लोगों को मंगलवार को आजीवन कारावास की सजा सुनाई. विशेष कोर्ट के न्यायाधीश बृजेश कुमार शर्मा ने सजा सुनाई. अदालत ने इस घटना की वीडियो क्लिप बनाकर उसे वायरल करने वाले एक आरोपी को सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम के तहत पांच वर्ष के कारावास की सजा सुनाई है.

अदालत ने सामूहिक दुष्कर्म मामले में आरोपी हंसराज गुर्जर, अशोक गुर्जर, छोटेलाल गुर्जर और इंद्रराज गुर्जर को भारतीय दंड संहिता की धारा 376 डी के तहत सामूहिक दुष्कर्म का दोषी मानते हुए कड़े आजीवन कारावास की सजा दी है.पीड़िता के वकील ने अलवर में संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि पीड़िता के साथ बार-बार दुष्कर्म करने वाले आरोपी हंसराज को मृत्यु तक आजीवन कारावास की सजा दी गई है.

11 IAS और 5 IPS के तबादले, कार्मिक विभाग ने जारी किए आदेश, बीएल सोनी बने नये DG ACB

उल्लेखनीय है कि अलवर के थानागाजी बाईपास पर पिछले साल 26 अप्रैल को एक विवाहिता के साथ उसके पति के सामने सामूहिक दुष्कर्म की घटना हुई थी. इस मामले में मुकेश गुर्जर को सूचना एवं औद्योगिक अधिनियम के तहत पांच वर्ष की सजा दी गई है. अदालत ने विभिन्न धाराओं के तहत आर्थिक दंड की सजा दी है जिसकी राशि पीड़िता को दी जाएगी.

हाथरस गैंगरेप केस: पुलिस ने दर्ज किए 19 मामले, कहा-जातिगत संघर्ष भड़काने का किया जा रहा था प्रयास 

थानागाजी गैंगरेप प्रकरण: सभी आरोपियों पर दोष सिद्ध, कुछ ही देर में न्यायाधीश सुनाएंगे सजा

थानागाजी गैंगरेप प्रकरण: सभी आरोपियों पर दोष सिद्ध, कुछ ही देर में न्यायाधीश सुनाएंगे सजा

अलवर: राजस्थान के अलवर जिले के बहुचर्चित थानागाजी सामूहिक बलात्कार मामले में आज न्यायाधीश सजा सुनाएंगे. सभी आरोपियों पर दोष सिद्ध हो गया है. कुछ देर में न्यायाधीश बृजेश कुमार शर्मा सजा सुनाएंगे. मामले में 5 आरोपियों को लेकर सजा सुनाई जाएंगी. गैंगरेप में शामिल एक नाबालिग की अलग से पॉक्सो कोर्ट में सुनवाई चल रही है. विशेष न्यायाधीश (अनुसूचित जाति-जनजाति अत्याचार निवारण कोर्ट) ब्रजेश कुमार की अदालत में मामले में बचाव पक्ष की अंतिम बहस गत माह 11 सितंबर को पूरी हो चुकी है. तब न्यायाधीश ब्रजेश कुमार ने फैसले के लिए 24 सितंबर का दिन मुकर्रर किया था. लेकिन, इस बीच कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए हाईकोर्ट ने 1 अक्टूबर तक कोर्ट में कामकाज पर रोक लगा थी. इसके बाद कोर्ट ने इस मामले में फैसले की तारीख 6 अक्टूबर तय की थी. इस केस में 5 आरोपियों का ट्रायल एससी एसटी स्पेशल कोर्ट में पूरा हो चुकी है.

जानिए पूरा मामला:
आपको बता दें कि अलवर में बीते वर्ष 26 अप्रैल 2019 को थानागाजी के पास स्थित रेत के टीलों में एक बड़ी घटना घटी. जिसमें बाइक से जा रहे एक पति पत्नी को रोककर 5 लोगों ने पहले मारपीट की और फिर दुष्कर्म किया. पति के सामने ही बंधक बनाकर पत्नी से रेप की घटना ने राजस्थान ही नहीं देश को हिला दिया था. इससे भी ज्यादा असंवेदनशील हो गई थी पुलिस, थानागाजी के तत्कालीन थानाधिकारी सरदार सिंह ने मुकदमा ही दर्ज नहीं किया अलवर पुलिस अधीक्षक से गुहार के बाद 2 मई को शाम 5:00 बजे मुकदमा दर्ज हो सका. लेकिन तब तक आरोपियों की ओर से पीड़िता के साथ दुष्कर्म का वीडियो वायरल कर दिया गया.

{related}

6 मई को लोकसभा चुनाव थे उसी दिन पूरी घटना की जानकारी और वायरल वीडियो फर्स्ट इंडिया को मिली. तथ्यों को देखकर और वायरल वीडियो को देखकर फर्स्ट इंडिया की टीम खुद हैरान थी और जब पुलिस से जानकारी की तो पाया कि अभी तक किसी भी आरोपी की ना तो गिरफ्तारी हुई है , ना ही पुलिस ने मामले को गंभीरता से लिया है. इतना ही नहीं आरोपी घटना के बाद भी पीड़िता के पति को फोन कर बार-बार पैसे की डिमांड कर रहे थे, पीड़िता को एक बार फिर से लाने की मांग कर रहे थे.

फर्स्ट इंडिया द्वारा पूरे मामले का खुलासा करने के बाद प्रदेश ही नहीं देश की मीडिया ने भी सरकार से सवाल पूछे कि आखिर क्यों पुलिस ने पूरे मामले में ढिलाई बरती. मुख्यमंत्री ने संवेदनशीलता दिखाते हुए तत्कालीन थानाधिकारी को तुरंत निलंबित कर दिया. पुलिस अधीक्षक को भी एपीओ किया गया और तत्कालीन सीओ जगमोहन शर्मा कि अभी भी जांच चल रही है. फर्स्ट इंडिया के खुलासे के बाद सरकार ने निर्देश दिए और पुलिस ने तत्परता दिखाई, केवल 16 दिन में ही 18 मई 2019 को न्यायालय में चार्जशीट पेश कर दी गई. न्यायालय में अभियोजन पक्ष की ओर से 32 गवाह पेश किए गए ,  176 दस्तावेज प्रदर्शित किए गए, 43 आर्टिकल भी दिए गए और आरोपियों को कड़ी सजा दिलाने की मांग की. पुलिस ने आरोपियों की गिरफ्तारी की. अब आप दुष्कर्म करने वाले उन आरोपियों के नाम सुन लीजिए - 
1. छोटे लाल उर्फ छोट्या गुर्जर जो बानसूर थाना क्षेत्र के नवलपुरा का निवासी है.
2. हंसराज उर्फ हंसा जो थानागाजी के काला खोहरा का निवासी है. 
3. अशोक कुमार जो नारायणपुर थाना क्षेत्र के भड़ाना की वाल का निवासी है
4. इंद्राज सिंह गुर्जर जो कोटपूतली के पाथरेडी का निवासी है,  इन्हीं के साथ एक नाबालिक युवक भी घटना में शामिल था जिसका ट्रायल अलवर के डीजे कोर्ट में चल रहा है, कोर्ट ने उसकी बौद्धिक क्षमता वयस्क जैसी मानी है.

5. इसी मामले में एक और आरोपी मुकेश गुर्जर थानागाजी के काला खोहरा निवासी है जिसने हम सब साथ हैं नाम के वाट्सअप ग्रुप में पीड़िता का अश्लील वीडियो को डाला था और उसको आईटी एक्ट के तहत सजा होनी है.

...फर्स्ट इंडिया के लिए अश्विनी यादव की रिपोर्ट

अलवर में विवाहिता के साथ किया दुष्कर्म, पुलिस ने 2 आरोपियों को किया गिरफ्तार 

अलवर: प्रदेश के अलवर जिले से एक बार फिर शर्मसार करने वाली खबर सामने आई है. अलवर में विवाहिता के साथ बलात्कार किया गया है. ​महिला भांजे के साथ रिश्तेदारी से लौट रही थी. तभी आरोपियों ने महिला के साथ बलात्कार किया है. महिला ने तिजारा थाने में मुकदमा दर्ज करवाया है. 

{related}

5-6 युवकों ने भांजे को बनाया था बंधक:
इस मामले में पुलिस ने 2 आरोपियों को गिरफ्तार किया है. 5-6 युवकों ने भांजे को बंधक बनाया था.आरोपियों ने महिला का अश्लील वीडियो भी बनाया है. दुष्कर्म का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. हालांकि फर्स्ट इंडिया वायरल वीडियो की पुष्टि  नहीं करता है. 
 

निजी मॉल के बाहर खड़ी फॉर्च्यूनर कार को लेकर अज्ञात बदमाश हुआ रफूचक्कर

निजी मॉल के बाहर खड़ी फॉर्च्यूनर कार को लेकर अज्ञात बदमाश हुआ रफूचक्कर

भिवाड़ी(अलवर): भिवाड़ी के फूलबाग थाना क्षेत्र अलवर बायपास पर एक निजी मॉल के बाहर खड़ी हुई फॉर्च्यूनर कार को एक अज्ञात बदमाश लेकर रफूचक्कर हो गया. पीड़ित की सूचना पर फूलबाग थाना पुलिस मौके पर पहुंची और जांच शुरू की. मॉल के अंदर लगे सीसीटीवी कैमरे खंगाले गए तो सामने आया कि एक युवक पहले टहलते हुए दिखाई देता है और सामने रखी फॉर्च्यूनर कार की चाबी को लेकर निकल जाता है जो कि संदिग्ध रूप से फॉर्च्यूनर को ले जाने का मुख्य आरोपी माना जा रहा है.

{related}

फुलबाग थाना पुलिस भरकस प्रयास में जुटी: 
बहरहाल फूलबाग थाना पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है व सरगर्मी उसे तलाश की जा रही है. प्रथम जानकारी में यह भी निकल कर आया है कि फॉर्च्यूनर कार की लोकेशन एनसीआर क्षेत्र से होते हुए उत्तर प्रदेश की ओर मिल रही है. फुलबाग थाना पुलिस भरकस प्रयास में जुटी है. जिसका जल्द ही पटाक्षेप किया जा सकता है. घटना उस समय हुई जब पीड़ित कमल दायमा अपनी फॉर्च्यूनर कार से निजी मॉल स्थित जिम में प्रैक्टिस करने पहुंचा बरहाल पुलिस मामले की जांच में जुटी है. 

अलवर: फर्जी तलाक देकर बेटी की उम्र की लड़की से शादी करने के आरोप में एक फौजी गिरफ्तार

अलवर: फर्जी तलाक देकर बेटी की उम्र की लड़की से शादी करने के आरोप में एक फौजी गिरफ्तार

अलवर: जिले के खैरथल थाना पुलिस ने फर्जी तलाक देकर बेटी की उम्र की लड़की से शादी करने के आरोप में एक फौजी को गिरफ्तार किया है. पुलिस ने बताया कि बल्लभग्राम निवासी सुरेश चंद यादव पुत्र गुरदयाल यादव ने वर्ष 1998 में अपने तीन भाइयों के साथ-साथ सुमन यादव निवासी रामपुरा जिला सीकरी से शादी की. कुछ वर्ष बाद सुमन यादव बेटी सहित अपने पीहर में जाकर रहने लगी. 

{related}

इसके बाद सेना के कमांडर से जाकर मिली और आपबीती बताई, जिसपर लंबे समय के बाद सुमन के खाते में सुरेश की आधी तनख्वाह सेना के कमांडर ने चालू करवा दी. सुरेश ने किशनगढ़बास न्यायालय में किसी महिला को ले जाकर तलाक ले लिया. इसके बाद खुद 43 साल उम्र होने पर झारखंड निवासी 18 साल की लड़की से शादी कर अपने घर ले आया. खैरथल थाना पुलिस ने सुरेश चंद को गिरफ्तार किया है. 

अलवर: मंदिर में बदमाशों ने साधु की आंखों में डाली मिर्ची, सेवक को उतारा मौत के घाट

अलवर: मंदिर में बदमाशों ने साधु की आंखों में डाली मिर्ची, सेवक को उतारा मौत के घाट

अलवर: जिले में जयपुर रोड पर अयोध्या मंदिर में आज रात अज्ञात लोगों ने एक साधु के हेल्पर की हत्या कर दी जबकि साधु की आंखों में मिर्ची डाल दी. उम्र दराज साधु अपने शिष्य के साथ इस मंदिर में रह रहा था. साधु का कहना है कि देर रात 2 लोग आए थे और उसके आंखों में मिर्ची डाल दी और हेल्पर पर हमला कर दिया.

{related}

पुलिस कर रही पूरे मामले की जांच: 
पुलिस का मानना है कि मंदिर पर इस तरह की घटना लूट के लिए नहीं हो सकती है कोई दूसरे कारण हो सकते हैं जिसकी पुलिस जांच कर रही है. अलवर एसपी तेजस्विनी गौतम ने भी मौका मुआयना किया और एक विशेष टीम मामले में जांच के लिए लगाई है. मृतक का शव सामान्य अस्पताल की मोर्चरी में रखवा दिया गया है. जबकि बाबा का अस्पताल में उपचार जारी है.