कोटा VIDEO: कोटा ACB के हत्थे चढ़ा घूसखोर माइनिंग इंजीनियर गोपाल वत्स और दलाल लक्ष्मण धाकड़

VIDEO: कोटा ACB के हत्थे चढ़ा घूसखोर माइनिंग इंजीनियर गोपाल वत्स और दलाल लक्ष्मण धाकड़

VIDEO: कोटा ACB के हत्थे चढ़ा घूसखोर माइनिंग इंजीनियर गोपाल वत्स और दलाल लक्ष्मण धाकड़

कोटा: कोटा एसीबी ने भीलवाड़ा में बड़ी कार्रवाई को अंजाम दिया. एसीबी टीम ने आज माइनिंग इंजीनियर को 4 लाख रूपए की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया. रिश्वत की यह रकम दलाल के माध्यम से मांगी जा रही थी. एसीबी ने आरोपी दलाल को भी गिरफ्तार किया है. एसीबी ने खान विभाग में यह तीसरी बड़ी कार्रवाई की है.

ग्रेनाइट खान की लीज बदलने की एवज में मांगी रिश्वत:
दरअसल एक परिवादी श्रवणलाल गुर्जर ने एसीबी में शिकायत दर्ज करवाई थी. परिवादी के अनुसार उसने वर्ष 2017 में राजेंद्र यादव से आर.के. ग्रेनाईट एण्ड मिनरल माईन्स राजसमन्द के गांव नराणा में खरीदी थी, जो एक साल पहले उसके बेटे चन्द्रप्रकाश के नाम टांसफर हो गई है. माईन्स में नीचे ग्रेनाईट आने की संभावना है, इसलिए उसने माईन्स ग्रेनाईट खनन की स्वीकृति हेतु प्रार्थना पत्र एमई कार्यालय आमेट में लगाया. जिस पर अभी तक केवल सर्वे रिर्पोट ही आई है. परिवादी ने बताया कि वह आरोपी माइनिंग इंजीनियर गोपाल बच्छ से ग्रेनाईट खनन की स्वीकृति का प्रस्ताव पूर्ण कर उदयपुर विभाग मे स्वीकृति के लिए भिजवाने के लिए मिला तो बार-बार टालमटोल करते रहे और कहा कि इस काम मे बीस-पच्चीस लाख का खर्चा आएगा, तुम मुझसे भीलवाडा मेरे घर पर आकर मिलना. 

25 सितम्बर नहीं लिए 4 लाख:
23 सितम्बर को रिश्वत मांग का गोपनीय सत्यापन करवाया गया, जिसमें आरोपी गोपाल बच्छ ने भीलवाडा अपने आवास पर परिवादी से 25 लाख की रिश्वत की मांग करने की पुष्टि हुई. तथा आरोपी ने 10 लाख रूपये पूर्व में दिए जाने के लिए कहा. इस पर दिनांक 25 सितम्बर को ट्रेप कार्रवाई के अंतर्गत आरोपी के कहेनुसार पूर्व में दिए जाने वाले 10 लाख रूपयों में से 4 लाख रूपये देने हेतु परिवादी को आरोपी के आवास पर भीलवाडा भेजा, लेकिन आरोपी ने पूरे 10 लाख रूपये नहीं होने के कारण रिश्वत राशि ग्रहण नहीं की. तथा बाद में एक साथ 10 लाख रूपये देने के लिए कहा. 24 अक्टूबर को आरोपी गोपाल बच्छ से वार्ता हेतु परिवादी को पुनः एमई कार्यालय आमेट भिजवाया गया, तो आरोपी ने राशि लक्ष्मण लाल धाकड़ को देने के लिए कहा. इसी के चलते आज फिर ट्रैप कार्रवाई की गई.

आवास की तलाशी जारी:
एसीबी डीजी आलोक त्रिपाठी के निर्देश पर आरोपी लक्ष्मण लाल धाकड़ को आरोपी गोपाल बच्छ के कहेनुसार 4 लाख रूपये की रिश्वत राशि प्राप्त करते हुए  गोपाल मोटर्स, अशोक लिलेण्ड वर्कशॉप बिजौलिया में रंगे हाथों पकड़ा गया है. अभी मौके पर कार्रवाई जारी है. आरोपी  गोपाल बच्छ को उसके आवास भीलवाडा पर डिटेन किया गया है और आरोपी के आवास बेगू व भीलवाडा स्थित आवास की तलाशी जारी है. 

और पढ़ें