निजी कंपनी का लाइजनिंग ऑफिसर ट्रैप प्रकरण:  एसीबी ने आरोपी को कोर्ट में किया पेश, कोर्ट ने भेजा जेल 

निजी कंपनी का लाइजनिंग ऑफिसर ट्रैप प्रकरण:  एसीबी ने आरोपी को कोर्ट में किया पेश, कोर्ट ने भेजा जेल 

अजमेर: अधिकृत मकान के मुआवजा राशि दिलाने की एवज में 1 लाख रुपए की राशि मांगने वाला रिश्वतखोर बुधवार को एसीबी के हत्थे चढ गया. जिसे गुरुवार को न्यायालय में  पेश किया गया. न्यायालय ने रिश्वतखोर को 13 अगस्त तक के लिए न्यायिक अभिरक्षा में भेज दिया. एसीबी डिप्टी एसपी महिपाल ने जानकारी देते हुए बताया कि निजी कंपनी के लाइजनिंग अधिकारी राहुल राघव ने परिवादी पहलाद से यह राशि बतौर रिश्वत के तौर पर मांगी थी और पीड़ित ने इसकी शिकायत 16 जुलाई को एसीबी में दर्ज करवाई थी.

सीएम गहलोत ने दी दुर्घटना प्रकरणों में सहायता के लिए आवेदन में 3 माह की छूट

एसीबी ने की रिश्वत की राशि बरामद:
शिकायत के अनुसार एसीबी ने पहले मामले का सत्यापन करवाया और फिर अधिकारी के खिलाफ जाल बिछाया और वह उनके जाल में फंस गया आरोपी को ₹50000 के रिश्वत के साथ किशनगढ़ से गिरफ्तार किया है और उसके पास से एसीबी को रिश्वत की राशि भी बरामद हो गई है. 

ACB कर रही मामले की पड़ताल:
डिप्टी ने जानकारी देते हुए बताया कि रिश्वतखोर से पुछताछ में पता लगा कि एसडीएम कार्यालय का एक बाबू आबिद अली भी उसके साथ शामिल थी जिसके खिलाफ मुकदमा दर्ज करने की परिक्रिया जारी है वही जल्द ही मामले में ओर भी खुलासे हो सकते है और मामले की पड़ताल जारी है.

बॉलीवुड में डेब्यू करेगी श्वेता तिवारी की बेटी पलक तिवारी, मूवी का फर्स्ट लुक जारी

और पढ़ें