ब्रिटिश प्रधानमंत्री जॉनसन ने चेताया, कोविड-19 के मामले बेहद स्पष्ट तौर पर बढ़ रहे हैं

ब्रिटिश प्रधानमंत्री जॉनसन ने चेताया, कोविड-19 के मामले बेहद स्पष्ट तौर पर बढ़ रहे हैं

लंदन: ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने बृहस्पतिवार को चेतावनी दी कि देश में कोविड-19 के मामले और अस्पताल में भर्ती होने वालों की संख्या बिल्कुल स्पष्ट रूप से बढ़ रही है और वह यह तय करने के लिये लगातार टीकाकरण के आंकड़ों का आकलन कर रहे हैं कि 21 जून को लॉकडाउन की सभी प्रक्रियाओं को खत्म किया जाए या नहीं. कॉर्नवाल में जी7 नेताओं के शिखर सम्मेलन से पहले जॉनसन ने संवाददाताओं को बताया कि तय योजना के मुताबिक सभी पाबंदियों को हटाया जा सकता है या नहीं इसे लेकर दोनों तरफ से दलीलें दी जा रही हैं. सरकार को सोमवार को प्रस्तावित अनलॉक को लेकर घोषणा करनी है.

जॉनसन ने कहा कि सभी लोग जो बिल्कुल स्पष्ट रूप से देख सकते हैं वह यह कि मामले बढ़ रहे हैं, कुछ स्थानों पर अस्पताल में भर्ती होने वालों की संख्या भी बढ़ रही है. उन्होंने कहा कि हमें यह आकलन करने की जरूरत है कि किस हद तक टीकाकरण हो चुका है, जो असाधारण है, क्या इससे आबादी को पर्याप्त सुरक्षा मिल गई है जिससे हम अगले चरण के लिये आगे बढ़ सकते हैं.

वैज्ञानिक व्यापक रूप से इस बात को लेकर सहमत हैं कि ब्रिटेन तीसरी लहर की शुरुआत के मुहाने पर हो सकता है जो बेहद संक्रामक बी1.617.2 स्वरूप (डेल्टा) के कारण है जिसकी पहचान पहली बार भारत में हुई थी. यह लहर कितनी बड़ी होगी यह इस पर निर्भर करेगा कि लोगों की सुरक्षा में टीके कितने प्रभावी हैं. चिंता के कारण वायरस डेल्टा के खिलाफ कोविड-19 रोधी टीके की दोनों खुराकों को एक खुराक के मुकाबले ज्यादा प्रभावी पाया गया है. ब्रिटेन में बुधवार को कोविड-19 के 7540 नए मामले सामे आए हैं जो फरवरी के बाद से सबसे ज्यादा हैं. वहीं कल महामारी से छह और लोगों की मौत भी हुई. फिलहाल अस्पतालों में 1024 मरीजों का इस बीमारी के लिये उपचार चल रहा है.

और पढ़ें