VIDEO: विधानसभा में गहलोत की टीम बल्लेबाजी के लिए तैयार, बीजेपी के सियासी गेंदबाज कर सकते है परेशान

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/06/27 10:19

जयपुर: विधानसभा सत्र का आज आगाज हो रहा है. विधानसभा का सियासी मैदान पूरी तरह तैयार है. विधानसभा में सवाल और जबावों के जरिये एक दूसरे पर प्रहार करने के लिये कांग्रेस और बीजेपी के रणनीतिकार तैयार है. विधानसभा की पिच पर फ्लोर मैनेजमेंट का टेस्ट अगले दो दिनों में ही सदन के अंदर देखने को मिल जायेगा. हंगामे के भी पूरे आसार. कांग्रेस और बीजेपी के विधायकों के अलावा बीएसपी, आर एल पी, सीपीएम और निर्दलीय विधायकों पर नजरें गढ़ी रहेगी. राज्यसभा का 1 चुनाव अब होने को है लिहाजा उससे जुड़ी सियासत का असर भी दिखेगा, मुख्य दल थर्ड फ्रंट को रिझाते दिखेंगे. विश्व कप क्रिकेट का खुमार अभी जारी है ऐसे में उसी अनुसार अगर हम क्रिकेट के अंदाज मे विधानसभा की सियासत को देखेंगे तो सत्ताधारी दल बल्लेबाजी करता नजर आयेगा तो विपक्षी खेमा अपनी तेज गेंदबाजी और गुगली से चुनौती देगा. देखते है क्रिकेट स्टाइल में सियासी रिपोर्ट...

अशोक गहलोत की टीम बल्लेबाजी के तैयार
तैयार है अशोक गहलोत की टीम बल्लेबाजी के लिये. राजस्थान के मुख्यमंत्री नाते सत्ताधारी दल के कप्तान अशोक गहलोत ही है. उनकी अगुवाई में टीम कांग्रेस विधानसभा के सियासी मैदान पर बैटिंग करती हुई नजर आयेगी. टीम कांग्रेस में कुछ ऐसे भी सियासी प्लेयर है जो चुनाव तो अपने दम पर जीते थे लेकिन उन्हें कप्तानी अशोक गहलोत की ही पसंद है, हाथी टीम के साथी भी इस टीम को सपोर्ट करते दिखाई दे सकते है. दूसरी ओर नेता प्रतिपक्ष गुलाब चंद कटारिया है विरोधी टीम बीजेपी के कप्तान. खास बात है इनकी टीम में एक से एक धुरंधर सियासी गेंदबाज है जो कांग्रेस टीम को परेशान कर सकते है. मौजूदा क्रिकेट में थर्ड अंपायर की भूमिका सबसे अहम है राज्य की विधानसभा में इस भूमिका में हमें दिखेंगे स्पीकर डॉ सीपी जोशी. स्पीकर डॉ सीपी जोशी के रवैये से साफ तौर पर जाहिर है कि वे प्रश्नकाल की कार्यवाही को किसी भी हाल में हंगामे की भेंट नहीं चढ़ने देंगे. दोनों प्रमुख टीमें पूरे संयम के साथ अपना रोल प्ले करे यह उनके जिम्मे रहेगा. अनुशासन तोड़ने पर डॉ जोशी कड़े निर्णय भी कर सकते है. सियासी क्रिकेट पर उन्होंने लंबी पारी खेली और व्यापक अनुभव उनके पास है उन्होंने ललित मोदी सरीखी बडी टीम को धूल चटाई थी. उधर कांग्रेस और बीजेपी के फ्लोर मैनेजमेंट के रणनीतिकार विरोधियों पर हमले करने के लिये तरकश में जहर बुझे सियासी तीरों के साथ तैयार है. गहलोत सरकार के अनुभवी और वरिष्ठ हरफनमौला सियासी रणनीतिकारों ने रणनीति बना ली है. चुनाव मैदान में टॉस जीतने के कारण और पिच रिपोर्ट के अनुसार ही बैटिंग का फैसला लिया है. 

-----------टीम कांग्रेस ------------

अशोक गहलोत, मुख्यमंत्री-टीम कांग्रेस के कप्तान

- मंझे हुये सियासत के प्लेयर 
- वे अपनी सियासी बैटिंग से छक्के छुड़ाने में माहिर
- टीम कांग्रेस की रणनीति का भार उनके कंधो पर
- विरोधियों की गेंदो पर कब और किस वक्त प्रहार करना है यह उन्हें बखूबी
- लंबी सियासी पारी खेलना का उनके पास पुराना अनुभव
- उनके सियासी शॉटस ऐसे है कि विरोधी को अंत तक पता नहीं चलता

सचिन पायलट,डिप्टी सीएम
- टीम कांग्रेस के उप कप्तान
- जोश से लबरेज टीम के सर्वाधिक युवा सियासी प्लेयर
- दूसरे नम्बर पर सियासी बल्लेबाजी करने के लिये आते है
- आक्रामक सियासी बैटिंग का उनका है अंदाज

शांति धारीवाल..कैबिनट मंत्री(संसदीय मामलात विभाग)
- टीम कांग्रेस के कुशल स्थापित सियासी बल्लेबाज
- कौनसी सियासी गेंद पर उन्हें कब शॉट खेलना है ये उन्हें भली भांति आता है
- ओपनिंग में आकर सियासी बल्लेबाजी करना उनको पसंद है

महेश जोशी मुख्य सचेतक
- तीसरे नम्बर आकर सियासी बल्लेबाजी में माहिर
- सियासी चौके-छक्के मारने के बजाये कूल बल्लेबाजी में यकीन
- पिच पर टिककर विरोधी गेंदबाजों को परेशान करना इन्हें पसंद

डॉ बीडी कल्ला..ऊर्जा-जलदाय मंत्री
- मध्यक्रम के उम्दा सियासी बल्लेबाज
- योग के जरिये खुद को सदैव रखते है फिट
- संयम से सियासी पारी खेलना उनका शगल

प्रताप सिंह खाचरियावास...परिवहन मंत्री
- खांटी शैली में बिंदास सियासी बल्लेबाजी में माहिर
- बिना किसी सुरक्षा उपकरण के करते है सियासी बल्लेबाजी
- खाचरियावास को सचिन पायलट से मिलते है सियासी खेल के बारीक टिप्स

गोविन्द सिंह डोटासरा...शिक्षा मंत्री
- डोटासरा को शेखावाटी स्टाइल में सियासी बल्लेबाजी के लिये जाना जाता है
- सत्तापक्ष के भरोसमंद लेकिन आक्रामक सियासी बल्लेबाज के रूप में पहचान
- विरोधी को हावी नहीं होने देना इनका अपना अंदाज
- देवनानी की सियासी गेंदों को खेलना इन्हें पसंद है

रमेश मीना ..खाद्य नागरिक आपूर्ति मंत्री
- आक्रामक शैली के लिये चर्चित
- एक या दो रन भागकर लेने के बजाये इन्हें बाउंड्री लगाने का शौक
- हरफनमौला प्रदर्शन के लिये जाने जाते है 

महेन्द्र चौधरी ...उप मुख्य सचेतक
- कप्तान के भरोसेमंद सियासी प्लेय़र्स में से एक
- टीम को मजबूती मिले यही उनकी रहती है सोच

---------टीम भाजपा------------

वसुंधरा राजे,पूर्व मुख्यमंत्री और टीम की कोच
- टीम भाजपा को कैसे सियासी पारी खेलने है यह इनके जिम्मे
- टीम का सम्बल और जोश इनके फैसलों पर टिका रहता है

गुलाब चंद कटारिया --नेता प्रतिपक्ष व बीजेपी टीम के कप्तान
- कटारिया है आक्रामक सियासी गेंदबाजी के लिये चर्चित
- सधी हुये सियासी खेल के लिये इन्हें जाना जाता है
- कांग्रेस टीम को इनके प्रहारों से कड़ी चुनौती मिलेगी

राजेन्द्र राठौड़--उप नेता प्रतिपक्ष
- राजेन्द्र राठौड़ है टीम के उप कप्तान की भूमिका में
- टीम बीजेपी के सबसे प्रखर सियासी मीडियम पेसर गेंदबाज
- सियासी विकेट टेकर के तौर पर जाने जाते है

कालीचरण सराफ
- इनकी शैली सदैव आक्रामक रहती है

वासुदेव देवनानी
- सियासी गुगली फेंकने में सिद्धहस्त
- टीम के कप्तान के अनुसार नहीं बल्कि खुद के सियासी टिप्स के अनुसार खेलते है
- इन्हें टीम कांग्रेस के बल्लेबाज डोटासरा के सामने सियासी गेंदबाजी भाती है
- सैफ्रॉन बॉल से सियासी गेंद करना इनका स्टाइल

सतीश पूनिया
- आमेर एंड से सियासी गेंद करने में माहिर
- अंतिम ओवरों में इन्हें सियासी गेंद फेंकना पसंद है
- नये सियासी गेंदबाज के तौर पर आये है लिहाजा टीम कांग्रेस के लिये चुनौती

रामलाल शर्मा
- इन्हें टीम बीजेपी में चौमूं एक्सप्रेस के तौर पर जाना जाता है
- 140की रफ्तार से सियासी गेंद यह फेंकते है 
- बल्लेबाजों को परेशान करने के लिये चर्चित

जोगेश्वर गर्ग
- सियासी लेग स्पिन के धुरंधर
- हर बॉल पर सियासी विकेट लेने की सोचते है
- इनके पास अनुभव की कमी नहीं 

कांग्रेस की सियासी टीम में आयातित सियासी प्लेयर के तौर पर संयम लोढ़ा जैसे सिद्धहस्त प्लेयर है. वे सियासी पिच पर आकर विरोधियों को अपने जुबानी प्रहारों से उत्तेजित भी कर देते है जिससे उनकी गेंदबादी राजनीतिक लाइन और लैंथ बिगड़ जाये. हालांकि इस बार दर्शकों को हरफनमौला सियासी प्लेयर हनुमान बेनीवाल की कमी खलेगी. विधानसभा का सियासी मैदान कई मायनों में इस बार अलग दिखने वाला है. यहां नये चेहरों को सियासी क्रिकेट की बिसात पर अवसर मिलते हुये नजर आयेंगे तो वहीं अपकमिंग मैच राज्यसभा चुनाव का असर भी दिखेगा. टीम संतुलित, मजबूत और एकजुट रहे यहीं दोनों टीमों का पहला मूल मंत्र होगा. सबसे चर्चित प्लेयर अशोक गहलोत के लिये पहले ही भविष्यवाणी हो चुकी है कि वे इस बार की अपनी पारी में रनों की बौछार करेंगे. विपक्षी टीम को उनसे कडी चुनौती मिलने वाली है. क्रिकेट की भाषा में प्रदेश की सबसे बड़ी पंचायत को रोचक अंदाज में फर्स्ट इंडिया टीम ने इसलिये ही आपके सामने रखा है क्योंकि इंग्लैंड में चल रहे क्रिकेट विश्व कप का असर भारत में सर्वाधिक है फिर आखिर राजस्थान क्यों अछूता रहे, और विधानसभा का यह सत्र तो विशेष है. 

...फर्स्ट इंडिया के लिये योगेश शर्मा की रिपोर्ट

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in