जयपुर 7 जुलाई को मिथुन राशि में बनेगा बुधादित्य योग, बदलेगा मौसम का मिजाज; जानें क्या है इसका महत्व और किन राशि वालों को होगा महालाभ

7 जुलाई को मिथुन राशि में बनेगा बुधादित्य योग, बदलेगा मौसम का मिजाज; जानें क्या है इसका महत्व और किन राशि वालों को होगा महालाभ

7 जुलाई को मिथुन राशि में बनेगा बुधादित्य योग, बदलेगा मौसम का मिजाज; जानें क्या है इसका महत्व और किन राशि वालों को होगा महालाभ

जयपुर: बुध ग्रह सात जुलाई को मिथुन राशि में प्रातः11:05 बजे प्रवेश करेंगे. मिथुन में बुध का परिवर्तन शुभ एवं अपने कार्यों के प्रति रुचि जाग्रत कराने वाला है. राशि परिवर्तन से एक महीने से चल रहा मौसम का मिजाज भी बदलना शुरू हो जाएगा. मिथुन राशि बुध की अपनी राशि है. इसलिए इस राशि में आकर वह मानव कल्याण के कार्य कराएंगे. ज्योतिषाचार्य अनीष व्यास ने बताया कि वर्षा होना, किसानों में अपनी खेती कार्यों के प्रति उत्साह की अनुभूति, कोरोना से राहत, व्यापारिक संस्थानों में उत्साह वृद्धि अर्थात गत तीन माह की निराशा के बाद मिथुन राशि के बुध जनमानस में उत्साह का संचार लेकर आ रहा है. यह आगामी समय के लिए बहुत शुभ कारक है. 

पर्याप्त वर्षा के कारण मौसम अच्छा रहेगा. लोगों का खोया हुआ आत्मविश्वास पुन: जाग्रत होगा. बुध मिथुन राशि में 25 जुलाई तक रहेंगे. सबसे अच्छी बात यह रहेगी कि अक्सर बुध, सूर्य के आसपास होने से अस्त ही रहते हैं, लेकिन मिथुन राशि के बुध अस्त नहीं होंगे. इस कारण यह ग्रह इस अवधि में प्रजा के लिए बहुत उत्तम रहेगा. मौसम में काफी परिवर्तन आएगा. वर्षा, आंधी एवं तूफान लगातार चलते रहेंगे. श्रावण मास का प्रारंभ में भी 25 जुलाई से ही आरंभ होगा तब तक वह मिथुन राशि में रहेंगे. श्रावण मास में अच्छी वर्षा का संकेत मिल रहा है.

बुधादित्य योग:
ज्योतिषाचार्य अनीष व्यास ने बताया कि बुध के मिथुन राशि में गोचर करने की वजह से शुभ योग बुधादित्य योग बन रहा है. बुधादित्य योग सूर्य और बुध के मिथुन राशि में होने पर बनता है. सूर्य पहले से ही मिथुन राशि में हैं. ज्योतिष शास्त्र में बुधादित्य योग को बहुत ही शुभ माना गया है. इस योग के निर्माण से कई राशि वालों को तरक्की, सुख-समृद्धि और धन लाभ हो सकता है. ज्योतिष शास्त्रों के अनुसार सूर्य और बुध के द्वारा निर्मित बुधादित्य योग बनने अथवा इसके पूर्ण फलीभूत होने के लिए सूर्य और बुध के मध्य की दूरी 10 अंश से अधिक होनी चाहिए. किसी भी जातक की जन्मकुंडली में यदि सूर्य और बुध एक साथ हैं तो यह योग निर्मित होता है जो अति शुभ फलदाई होता है. इस योग में उत्पन्न जातक विद्वान, धनी, मानी और यशस्वी होता है किंतु ज्योतिषी को फलादेश करते समय इनके मध्य की अंशात्मक दूरी का भी गहन अध्ययन करना चाहिए.

ज्योतिष में बुध ग्रह का महत्व:
बुध ग्रह को वाणी, बुद्धि, तर्क-वितर्क और मित्र का कारक माना जाता है. ज्योतिष के अनुसार सूर्य और शुक्र, बुध के मित्र ग्रह होते हैं जबकि चंद्रमा और मंगल इसके शत्रु ग्रह हैं. जिन जातकों की जन्म कुंडली में बुध ग्रह लग्न भाव के होते हैं वह व्यक्ति आकर्षक और स्वभाव से तर्कसंगत और कुशल वक्ता होते हैं. ज्योतिष शास्त्र में बुध को सूर्य के समान तेजस्वी दिव्य पीतांबरधारी, संपूर्ण आभूषणों से विभूषित, अर्थशास्त्रों के ज्ञाता, उत्कृष्ट बुद्धि संपन्न, मधुर वाणी बोलने वाले महान गणितज्ञ माना गया है. मिथुन एवं कन्या राशि के स्वामी बुध मीन राशि में नीचराशिगत संज्ञक तथा कन्या राशि में उच्चराशिगत संज्ञक माने गए हैं. सूर्यदेव के साथ इनकी युति होने से बुधादित्य योग बनता है.

राशियों पर बुध का प्रभाव:
कुण्डली विश्ल़ेषक अनीष व्यास ने बताया कि बुध 7 जुलाई 2021 को मिथुन राशि में प्रवेश करने जा रहे हैं. सबसे अधिक प्रभाव मिथुन राशि पर ही पड़ेगा. लेन-देन, निवेश और आर्थिक स्थिति को प्रभावित करने वाले इस ग्रह के प्रभाव से 5 राशियों के लिए अच्छा समय रहेगा और अन्य 7 राशि वालों को संभलकर रहना होगा.

शुभ - वृष, सिंह, कन्या, वृश्चिक और मकर

अशुभ - मेष, मिथुन, कर्क, तुला, धनु, कुंभ और मीन

क्या होगा असर:
भविष्यवक्ता अनीष व्यास ने बताया कि बुध के राशि परिवर्तन से मौसम का मिजाज भी बदलना शुरू हो जाएगा. मानव कल्याण कार्य, वर्षा होना, किसानों में अपनी खेती कार्यों के प्रति उत्साह की अनुभूति, कोरोना से राहत, व्यापारिक संस्थानों में उत्साह वृद्धि हो सकती है. लोगों में रचनात्मकता बढ़ेगी. शेयर मार्केट बढ़ने की संभावना है. बिजनेस करने वाले लोगों के लिए समय अच्छा रहेगा. लेन-देन और निवेश में कई लोगों को फायदा मिल सकता है. फिल्मी सितारों के लिए यह समय सही नहीं रहेगा. किसी बड़े सुपरस्टार की तबीयत खराब हो सकती है इसके साथ ही कैरियर भी डाउन होगा. एक बड़े सुपरस्टार का बुरा समय इसी साल 2021 में शुरू होगा.

बुध के उपाय:
कुण्डली विश्ल़ेषक अनीष व्यास ने बताया कि बुध से पीड़ित व्यक्ति को मां दुर्गा की आराधना करनी चाहिए. बुधवार के दिन गाय को हरा चारा खिलाना चाहिए और साबूत हरे मूंग का दान करना चाहिए. बुधवार के दिन गणपति को सिंदुर चढ़ाएं. बुधवार के दिन गणेश जी को दूर्वा चढ़ाएं. दूर्वा की 11 या 21 गांठ चढ़ाने से फल जल्दी मिलता है. पालक का दान करे. बुधवार को कन्या पूजा करके हरी वस्तुओं का दान करे.

आइए कुण्डली विश्ल़ेषक अनीष व्यास से जानते हैं बुध के इस गोचर का सभी 12 राशियों पर शुभ-अशुभ प्रभाव...

मेष राशि:-
मेष राशि वालों के लिए बुध अपने पारिवारिक सदस्यों की सहायता से शुभ फलदायक है. धन वृद्धि का संदेश लेकर आ रहा है. घर के महिला सदस्यों का सम्मान करने से घर में बरकत बढ़ेगी.

वृषभ राशि:-
वृषभ राशि के लिए धन भाव का बुध बहुत ही अच्छा है. मिथुन राशि में बुध का प्रभाव वाणी पर भी होगा. आपकी वाणी में विशेष मधुरता आएगी. इससे लोगों और धन को आकृष्ट करने का उत्तम योग बनेगा.

मिथुन राशि:- 
मिथुन राशि वालों के लिए अपनी ही राशि के बुध कृपा बनाए रखेंगे. चारों तरफ से प्रसन्नता के समाचार मिलेंगे किंतु संयम बनाकर रखें. 

कर्क राशि:- 
कर्क राशि वालों के लिए मिथुन के बुध कुछ अशुभ समाचार लेकर आएंगे. धन का अपव्यय होगा. वाणी में कठोरता का भाव आएगा. 

सिंह राशि:- 
सिंह राशि वालों के लिए लाभ भाव में बुध आ रहे हैं और 11 वें स्थान अर्थात लाभ भाव में जब बुध आते हैं तो ज्ञात और अज्ञात स्रोतों से लाभ होता है.

कन्या राशि:-
कन्या राशि बुध की अपनी राशि है. बुध कर्म भाव में आ रहे हैं. राज्य की ओर से विशेष लाभ दिलवाएंगे. धन, सम्मान और पद वृद्धि के योग हैं. धैर्य अवश्य रखें.

तुला राशि:- 
तुला राशि वालों के लिए मिथुन भाग्यवर्धक हैं. भाग्य में वृद्धि होगी. नवीन भूमि भवन संबंधी कार्य बनेंगे. पैसे का निवेश कर सकते हैं. घर में मंगल कार्य होने की संभावना हैं.

वृश्चिक राशि:- 
वृश्चिक राशि वालों के लिए अष्टम भाव के बुध कुछ कष्ट देने वाले हैं. शारीरिक रूप से अस्वस्थता महसूस करेंगे. शत्रु पक्ष से बलवान होगा. विरोधियों से सावधान रहें. बुधवार को गाय को चारा अवश्य खिलाए़ं.

धनु राशि:- 
धनु राशि वालों के लिए मिथुन राशि के बुध बहुत शुभ फल देंगे. परिवार में मंगल उत्सव होने की संभावना है. किसी मित्र के माध्यम से धन लाभ होने की संभावना है. गृह लक्ष्मी का सम्मान करने से लाभ दुगना हो जाएगा.

मकर राशि:- 
मिथुन राशि का बुध आपके लिए शुभ तो हैं लेकिन आपका खर्च बहुत बढा-चढ़कर होगा. घूमने-फिरने से परहेज़ रखें. व्यय की प्रवृत्ति पर रोक लगानी पड़ेगी. अधिक मित्रता अच्छी नहीं रहेगी.

कुंभ राशि:-
कुंभ राशि वालों के लिए बुध कुछ विशेष लेकर आ रहा है. धन के लगातार योग बनेंगे. लोग और समाज में प्रभाव बढ़ेगा. पंचम भाव में जब बुध आता है तो लोगों का सम्मान और प्रतिष्ठा बढ़ती है. धन के नए-नए स्रोत बनेंगे.

मीन राशि:-
मीन राशि वालों के लिए आय और व्यय का संतुलन बराबर रहेगा. इसलिए अपव्यय की प्रवृति पर लगाम लगाएं. अनावश्यक विवाद और से दूर रहें. साबुत मूंग किसी महिला को दान करें. गणेश जी की आराधना करें.

सोर्स- सौजन्य से अनीष व्यास विश्वविख्यात भविष्यवक्ता और कुण्डली विश्ल़ेषक पाल बालाजी ज्योतिष संस्थान, जयपुर

और पढ़ें