गहलोत सरकार की बम्पर भर्तियों की सौगात, 1571 पदों के लिए वित्त विभाग ने दी स्वीकृति

गहलोत सरकार की बम्पर भर्तियों की सौगात, 1571 पदों के लिए वित्त विभाग ने दी स्वीकृति

गहलोत सरकार की बम्पर भर्तियों की सौगात, 1571 पदों के लिए वित्त विभाग ने दी स्वीकृति

जयपुर: प्रदेश की बिजली कम्पनियों में नौकरी का इंतजार कर रहे बेरोजगारों के लिए गहलोत सरकार ने भर्तियों का बड़ा पिटारा खोला है. राज्य सरकार ने आधा दर्जन से अधिक विभिन्न पदों पर 1571 भर्तियों के लिए स्वीकृति जारी की है. सरकार की एनओसी मिलने के साथ ही बतौर नोडल एजेंसी राजस्थान विद्युत प्रसारण निगम जल्द भर्ती निकालने की प्रक्रिया में जुट गया है. किन पदों पर होगी भर्ती और अभी कम्पनियों में क्या चल रही है प्रक्रिया. खास रिपोर्ट:

नई भर्तियों की जरूरत:
प्रदेश में सवा करोड़ बिजली उपभोक्ताओं को देखते हुए काफी तादात में नई भर्तियों की जरूरत है. नई भर्तियां नहीं होने से बिजली दफ्तरों में  सेवानिवृत कर्मचारियों से काम चलाया जा रहा है. इसके साथ ही दूसरी बिजली कम्पनियों में भी कर्मचारियों के सेवानिवृत्त होने से कई पद खाली चल रहे है. इन सभी खाली एवं नए पदों के प्रस्ताव कम्पनियों की तरफ से वित्त विभाग को भेजे गए थे. इसमें ने 1571 पदों के लिए हाल ही में एनओसी मिली है, जिसके बाद ऊर्जा विभाग ने नोडल एजेंसी राजस्थान विद्युत प्रसारण निगम को भर्ती करने की स्वीकृति दी है. पांचों कम्पनियों की बात की जाए तो सर्वाधिक 776 पदों पर भर्ती राजस्थान विद्युत उत्पादन निगम में होगी.

किन पोस्ट पर होगी कितनी भर्ती:
पर्सनल ऑफिसर -  10  
अकाउंटस आफिसर - 11
एईएन - 45
जेईएन - 971
जूनियर केमिस्ट - 28
असिस्टेट पर्सनल ऑफिसर - 16
स्टेनोग्राफर - 48
जूनियर अकाउंटेंट - 395
जूनियर लिगल ऑफिसर - 13
इंफोर्मेशन असिस्टेंट - 34

करीब 1600 पदों के प्रस्ताव वित्त विभाग ने फिर से मांगे:
बिजली कम्पनियों में एक तरफ जहां 1571 पदों के लिए भर्ती को एनओसी मिली है, वहीं दूसरी ओर जूनियर असिस्टेंट और तकनीकी हेल्पर के करीब 1600 पदों के प्रस्ताव वित्त विभाग ने फिर से मांगे है. अधिकारियों का कहना है कि इन पदों को लेकर मांगी गई जानकारी जल्द भेजी जाएगी. उम्मीद ये है कि सूचना भेजते ही इन पदों पर भर्ती के लिए भी एनओसी मिलेगी. 

सरकार ने बिजली महकमे में कार्मिकों की जरूरत को समझते हुए प्राथमिकता पर भर्तियों को हरी झण्डी दी है. ऐसे में उम्मीद जताई जा रही है कि बिजली कम्पनियों के कामकाज में बड़ा सुधार होगा, साथ ही बेरोजगारों को नौकरी के रूप में बड़ी सौगात भी मिलेगी. 

... संवाददाता विकास शर्मा की रिपोर्ट


 

और पढ़ें