आर्मी में नौकरी के नाम पर ठगी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश, तीन गिरफ्तार

आर्मी में नौकरी के नाम पर ठगी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश, तीन गिरफ्तार

बसेड़ी(धौलपुर): बसेड़ी की नादनपुर थाना पुलिस ने एक बड़ी कार्रवाई को अंजाम देकर आर्मी में नौकरी के नाम पर ठगी करने वाले तीन लोगों को धर-दबोचा. मामला कुछ यूं है कि नादनपुर थाना पुलिस गश्त कर रही थी इसी दौरान कुछ लोगों द्वारा आर्मी में नौकरी दिलाने के नाम पर क्षेत्र में ठगी करने की सूचना किसी मुखबिर द्वारा मिली. मुखबिर ने बताया था कि ठगी करने वाला गिरोह बसेड़ी की ओर जा रहे है. इस पर थाना प्रभारी लाखन सिंह के नेतृत्व में पुलिस टीम ने बसेड़ी की ओर जा रही एक कार को जोरिया तिराहे के पास रोका, लेकिन कार में बैठे आरोपियों ने कार नहीं रोकी तो पुलिस ने पीछा कर बाबरीपुरा गांव के पास धर-दबोचा. 

कार में सवार एक व्यक्ति ने कर्नल की वर्दी भी पहन रखी थी: 
कार में सवार एक व्यक्ति ने कर्नल की वर्दी भी पहन रखी थी, जिसकी पहचान संतोष शर्मा पुत्र रमाशंकर निवासी जाजपुर थाना फतेहाबाद आगरा के रूप में हुई तो वहीं दूसरा व्यक्ति संजय पुत्र टीकम शर्मा निवासी घडीपाल थाना फतेहाबाद, तीसरा कल्याण उर्फ कालीचरण पुत्र मेघसिंह निवासी विलयपुरा मजरा चरमोली थाना निगोर आगरा था. गाड़ी के अंदर ड्राइविंग लाइसेंस, आरोपियों के आर्मी के पहचान पत्र, सिम कार्ड, न्यू आर्मी अकेडमी के पम्फलेट, सेना के फोटोग्राफ्स, बुकलेट सहित बिना नम्बर की कार मौके से जब्त की गई. आरोपियों से पूछताछ करने पर तीनों आरोपियों का फर्जी होना पाया गया, पुलिस मामले की तह तक जांच में जुट गई है. 

ठगी करने का यह है आरोपियों का तरीका:
सेना की उच्चाधिकारियों की वर्दी पहनकर सुदूर ग्रामीण क्षेत्रों में भोले भाले लोगों से मोटी रकम लेकर एकेडमी में ट्रेनिग देने के लिए ले जाते है. भर्ती कराने के एवज में तीन-तीन लाख रुपए लेकर एडमिशन कार्ड व जोइनिंग लेटर देते है तो वहीं लोगों पर प्रभाव जमाने के लिए सेना के उच्चाधिकारियों की वर्दी में फोटोग्राफ, आईकार्ड फर्जी व अन्य सामान अपने साथ रखते है. 

...बसेड़ी से फर्स्ट इंडिया के लिए अंकित गर्ग की रिपोर्ट

और पढ़ें