जयपुर सावन का महीना पूरा होते-होते भर गए राजस्‍थान के 101 बांधों के जलाशय

सावन का महीना पूरा होते-होते भर गए राजस्‍थान के 101 बांधों के जलाशय

सावन का महीना पूरा होते-होते भर गए राजस्‍थान के 101 बांधों के जलाशय

जयपुर: मानसून के दौरान इस साल राजस्थान में हुई अच्‍छी बारिश से सावन का महीना पूरा होते-होते राज्य के 101 बांधों के जलाशयों में पानी पूरा भर गया है. हालांकि राज्‍य में मानसून की बारिश का दौर अभी जारी रहने की उम्मीद है. जल संसाधन विभाग के आंकड़ों के अनुसार, जल संग्रहण के लिहाज से, 11 अगस्त तक राजस्थान के कुल 716 बांधों में 767.564 करोड़ घन मीटर पानी है, जो कि 2021 में इसी अवधि में 711.392 करोड़ घन मीटर था. इस मौसम में राज्‍य के बांधों की कुल क्षमता का 60.88 प्रतिशत जल संग्रहण हो चुका है. उल्लेखनीय है कि हिंदू कैलेंडर के हिसाब से सावन का महीना शुक्रवार को समाप्‍त हो रहा है.

इसके अनुसार, राजस्थान में छोटे-बड़े कुल 716 बांध हैं, जिनमें से 101 बांध पूरी तरह भर चुके हैं जबकि 373 आंशिक रूप से भरे हुए हैं और 231 खाली हैं. हालांकि, राजधानी जयपुर व इसके आसपास के इलाके के लिए जीवन रेखा माने जाने वाले बीसलपुर बांध में अभी तक इसकी कुल भराव क्षमता का केवल 35.80 प्रतिशत ही पानी आया है. बांध में वर्तमान जल संग्रहण 39.229 करोड़ घन मीटर है, जबकि इसकी कुल क्षमता 109.584 करोड़ घन मीटर है. पिछले साल यानी 2021 में इसी अवधि के दौरान बीसलपुर बांध में 37.571 करोड़ घन मीटर जल संग्रहण था.

इस बीच, राजस्थान के कुछ हिस्सों में बारिश का दौर जारी है जहां पिछले 24 घंटों में हल्की से मध्यम दर्जे की बारिश दर्ज की गई है. मौसम विभाग के अनुसार, शुक्रवार सुबह साढ़े आठ बजे तक के 24 घंटे में सबसे अधिक 131 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई. विभाग के अनुसार, कोटा के मंडाना में 120 मिलीमीटर और चित्तौड़गढ़ के भैंसरोडगढ़ में 110 मिमी, भीलवाड़ा के बिजोलिया में 100 मिमी और झालावाड़ के मनोहर थाना और कोटा के सांगोद में 80-80 मिमी बारिश हुई. मौसम विभाग ने आगामी चार पांच दिन के दौरान राजस्थान के अधिकतर हिस्सों में तेज बारिश की चेतावनी जारी की है. कई जिलों में मेघ गर्जन के साथ तेज बारिश का 'यलो अलर्ट ' जारी किया गया है.

प्रवक्ता के अनुसार, बंगाल की खाड़ी में 13 अगस्त से बनने वाले एक और नए कम दबाव के प्रभाव से राज्य में 15 अगस्त से बारिश की गतिविधियों में पुन: बढ़ोतरी होने की प्रबल संभावना है. इससे आगामी दिनों में पूर्वी राजस्थान के अधिकांश स्थानों पर हल्के से मध्यम दर्जे की बारिश जबकि कहीं-कहीं भारी बारिश वहीं पश्चिमी राजस्थान के कुछ स्थानों पर हल्की से मध्यम दर्जे की बारिश और 12-13 और 15 अगस्त के दौरान कहीं कहीं भारी बारिश होने की संभावना है.
 

और पढ़ें