close ads


सीबीआई ने किया रिश्वतखोर अधिकारियों को कोर्ट में पेश, जमानत आवेदन खारिज

सीबीआई ने किया रिश्वतखोर अधिकारियों को कोर्ट में पेश, जमानत आवेदन खारिज

जोधपुर: सीबीआई जोधपुर की टीम ने नागौर से इनकम टैक्स अधिकारी और सीए को गत सप्ताह गिरफ्तार कर रिमांड पर लिया गया था. जिन्हें मंगलवार को रिमांड अवधि पूर्ण होने पर विशिष्ट न्यायालय सीबीआई केसेस की अदालत मेें फिर से पेश किया गया. जिसमें आरोपियों की ओर से जमानत आवेदन प्रस्तुत कर जमानत की मांग की गई. तो वहीं इस मामले में राज्य सरकार की ओर से विशिष्ट लोक अभियोजक एस. सी. शर्मा द्वारा जमानत का विरोध किया गया. 

जानलेवा कोरोना का कहर, पाकिस्तान में हुई पहली मौत, तो इटली में एक दिन में गई 349 लोगों की जान 

न्यायिक अभिरक्षा में भेजने के आदेश पारित:
न्यायालय के पीठासीन अधिकारी पूरण कुमार शर्मा ने दोनों पक्षों को सुनने के बाद आरोपियों के जमानत आवेदन को खारिज करने के साथ ही 31 मार्च तक न्यायिक अभिरक्षा में भेजने के आदेश पारित किए हैं. मामले के मुताबिक जिले की सीबीआई टीम ने नागौर मे बङी कार्यवाही करते हुए 4 लाख की रिश्वत मामले में IT अधिकारी लक्ष्मण सिंह, आयकर निरीक्षक प्रेम सुख डिडेल और सीए सुरेश पारीक को किया गिरफ्तार किया था. आरोपियों के 10 ठिकानों पर तलाशी अभियान के तहत नागौर, मेड़तासिटी व जयपुर ठिकानों पर की तलाशी ली गई. यह कार्यवाही नागौर में एक व्यापारी के ठिकाने पर की गई सर्वे की कार्यवाही के मामले में आयकर अधिकारी व एक सीए को रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया गया था. 

देश में 126 पहुंची कोरोना वायरस के मरीजों की तादात, 15 राज्यों में फैला प्रकोप

व्यापारी ने खटखटाया था सीबीआई का दरवाजा:
गिरफ्तार सभी आरोपियों ने आयकर विभाग में रहते 5 और 6 मार्च को दो व्यापारियों के यहां सर्वे की कार्यवाही की थी. इस कार्यवाही के तहत दोनों व्यापारियों से 3 करोङ रुपए सरेंडर कराए गए और मामले में आयकर अधिकारी द्वारा एक व्यापारी पर लगातार दबाव भी डाला जा रहा था. इससे परेशान होकर व्यापारी ने सीबीआई का दरवाजा खटखटाया था और इसके बाद जोधपुर सीबीआई की टीम ने कार्यवाही करते हुए सभी आरोपियों को रंगे हाथों गिरफ्तार किया गया. अब सभी आरोपियों को 31 मार्च को फिर से कोर्ट में पेश किया जाएगा.

और पढ़ें