CISCE एकेडमिक रिकॉर्ड के आधार पर तय करेगा ISC 12वीं का रिजल्ट, सुप्रीम कोर्ट में पेश की Report

CISCE एकेडमिक रिकॉर्ड के आधार पर तय करेगा ISC 12वीं का रिजल्ट, सुप्रीम कोर्ट में पेश की Report

CISCE एकेडमिक रिकॉर्ड के आधार पर तय करेगा ISC 12वीं का रिजल्ट, सुप्रीम कोर्ट में पेश की Report

नई दिल्ली: काउंसिल फॉर द इंडियन स्कूल सर्टिफिकेट एग्जामिनेशन (CISCE) ने गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में बताया है कि ISC (12वीं) का रिजल्ट स्टूडेंट्स के छह साल के एकेडमिक रिकॉर्ड (Academic Record) के आधार पर तय किया जाएगा. बोर्ड ने जस्टिस ए एम खानविलकर और जस्टिस दिनेश माहेश्वरी की बेंच को बताया कि 12वीं का रिजल्ट 10वीं के परिणाम और 11वीं - 12वीं के प्रोजेक्ट और प्रैक्टिकल (Practical) में प्रदर्शन के आधार पर जारी किया जाएगा.

30 जुलाई को जारी होगा रिजल्ट:
बोर्ड ने यह भी जानकारी दी कि 30 जुलाई तक 12वीं के परीक्षा परिणाम जारी कर दिए जाएंगे. साथ ही अगर कोई स्टूडेंट मूल्यांकन नीति (Evaluation Policy) द्वारा तय किए गए रिजल्ट से असंतुष्ट हैं, तो उसे हालात सामान्य होने पर फिर से परीक्षा का मौका दिया जाएगा. CBSE जहां स्टूडेंट के तीन साल का परफॉर्मेंस देखेगा. वहीं, CISCE छह सालों (2015-2021) के दौरान स्टूडेंट के बेस्ट प्रदर्शन का आकलन करेगा.

ये फॉर्मूला होगा CBSE 12वीं के रिजल्ट का:
CBSE की गठित समिति ने 12वीं के छात्रों के मूल्यांकन के लिए 30:30:40 का फॉर्मूला तय किया है. इसके तहत 10वीं के 3 विषयों और 11वीं के फाइनल रिजल्ट को 30 प्रतिशत वेटेज दिया जाएगा और 12वीं के प्री- बोर्ड एग्जाम को 40 प्रतिशत वेटेज दिया जाएगा.

 

और पढ़ें