क्लैट टेस्ट शुक्रवार को दोपहर दो से चार तक, छात्र ध्यान रखें ये बातें

क्लैट टेस्ट शुक्रवार को दोपहर दो से चार तक, छात्र ध्यान रखें ये बातें

क्लैट टेस्ट शुक्रवार को दोपहर दो से चार तक, छात्र ध्यान रखें ये बातें

पटना: देश के प्रतिष्ठित लॉ विश्वविद्यालयों में प्रवेश के लिए होने वाले कॉमन लॉ एडमिशन टेस्ट (क्लैट) शुक्रवार को दोपहर दो से शाम चार बजे तक होगा. इस परीक्षा के लिए पटना में पांच केंद्र बनाए गए हैं. पटना साइंस कॉलेज, मगध महिला, सेंट जेवियर्स स्कूल गांधी मैदान, पटना लॉ कॉलेज और सीएनएलयू में परीक्षा केंद्र हैं. 

मुजफ्फरपुर में भी बनाया गया है सेंटर: 
इसके अलावा मुजफ्फरपुर में भी सेंटर बनाया गया है. कोरोना को देखते हुए छात्रों को कम से कम एक घंटा पहले बुलाया गया है, ताकि छात्रों को इंट्री के समय दिक्कत नहीं हो. छात्रों को सेनेटाइजर और मास्क साथ लाना होगा. कोरोना की वजह से इस बार परीक्षा केंद्रों की संख्या बढ़ाई गई है. 

22 राष्ट्रीय विधि विश्वविद्यालयों की करीब 23 सौ सीटों पर होगा नामांकन:
इस परीक्षा के माध्यम देश के 22 राष्ट्रीय विधि विश्वविद्यालयों की करीब 23 सौ सीटों पर नामांकन होगा. इस बार परीक्षा प्रणाली में बड़ा बदलाव किया गया है. 23 जुलाई को आयोजित क्लैट इस बार ऑफलाइन मोड में होगा. परीक्षा में बिहार से यूजी और पीजी मिलाकर करीब साढ़े पांच हजार परिक्षार्थियों के शामिल होने की उम्मीद है. 

विशेषज्ञ लॉ प्रेप ट्यूटोरियल के निदेशक अभिषेक गुंजन ने बताया कि क्लैट में अंग्रेजी भाषा, सामान्य ज्ञान, लॉजिकल रीजनिंग और क्वांटिटिव टेक्निक्स, लीगल रीजनिंग के प्रश्न पूछे जायेंगे. पेपर पूरी तरह कॉम्प्रिहेंशन आधारित होगा. सामान्य ज्ञान और लीगल रीजनिंग का हिस्सा 25-25 प्रतिशत रहेगा. लॉजिकल रीजनिंग और अंग्रेजी के प्रश्न 20-20 प्रतिशत होंगे. क्वांटिटेटिव 10 प्रतिशत रहेगा. 0.2 निगेटिव मार्क भी है. उन्होंने बताया कि छात्रों को इस परीक्षा के बाद उनकी मेरिट के अनुसार 22 लॉ यूनिवर्सिटीज़ में से किसी एक में विकल्प व वरीयतानुसार प्रवेश दिया जाता है. 
 

और पढ़ें