CM अरविंद केजरीवाल ने गृह पृथक-वास में रह रहे कोविड मरीजों के लिए 'ऑक्सीजन सांद्रक बैंक' की घोषणा की

CM अरविंद केजरीवाल ने गृह पृथक-वास में रह रहे कोविड मरीजों के लिए 'ऑक्सीजन सांद्रक बैंक' की घोषणा की

CM अरविंद केजरीवाल ने गृह पृथक-वास में रह रहे कोविड मरीजों के लिए 'ऑक्सीजन सांद्रक बैंक' की घोषणा की

नई दिल्ली: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शनिवार को घर में पृथक-वास में रह रहे मरीजों अथवा अस्पताल से छुट्टी मिलने के बाद स्वास्थ्य लाभ ले रहे ऐसे मरीजों के लिए 'ऑक्सीजन सांद्रक बैंक' शुरू करने की घोषणा की जिन्हें इस जीवन रक्षक गैस की सहायता की आवश्यकता है. उन्होंने कहा कि संक्रमण के रोज आने वाले मामलों में कमी आई है लेकिन दिल्ली सरकार कोई ढिलाई नहीं बरतेगी और कोरोना वायरस महामारी से लड़ती रहेगी. दिल्ली में पिछले 24 घंटे के दौरान संक्रमण के करीब 6500 नए मामले सामने आए हैं और संक्रमण की दर गिरकर 11 फीसदी रह गई.

दिल्ली के 11 जिलों में प्रत्येक को 200 ऑक्सीजन सांद्रक दिए जाएंगेः
मुख्यमंत्री ने ऑनलाइन ब्रीफिंग में कहा कि सरकार ने घर में पृथक-वास में रह रहे और ऑक्सीजन की आवश्यकता वाले मरीजों के लिए ऑक्सीजन सांद्रक बैंक शुरू किया है. उन्होंने कहा कि दिल्ली के 11 जिलों में प्रत्येक को 200 ऑक्सीजन सांद्रक दिए जाएंगे और डॉक्टरों की सलाह पर घर में पृथक-वास में रह रहे मरीजों को दो घंटे के भीतर ये उनके घर पर उपलब्ध कराए जाएंगे. उन्होंने बताया कि कोविड-19 के इलाज के बाद अस्पताल से छुट्टी पाने वाले लोगों को भी डॉक्टरों की सलाह पर ऑक्सीजन सांद्रक उपलब्ध कराए जाएंगे.

ऑक्सीजन सांद्रक सुविधा का लाभ लेने के लिए करें 1031 पर कॉलः
मुख्यमंत्री ने कहा कि ऑक्सीजन सांद्रक की आवश्यकता वाले मरीज 1031 पर कॉल कर सकते हैं और डॉक्टर की सलाह पर ये निशुल्क उपलब्ध कराए जाएंगे. उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार के गृह पृथक-वास नियमों के अंतर्गत पंजीकरण नहीं कराने वाले कोविड मरीज भी 1031 पर कॉल करके ऑक्सीजन सांद्रक सुविधा का लाभ उठा सकते हैं. दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने ट्वीट कर कहा कि डॉक्टर की सलाह पर दिल्ली में गृह पृथक-वास में रहने वाले और अस्पताल से छुट्टी पाने वाले मरीज भी पहले ऑक्सीजन सांद्रक बैंक सुविधा का लाभ उठा सकते हैं. 

दो घंटे के भीतर ऑक्सीजन सांद्रक लेकर पहुंचेगी टीमः
दिल्ली सरकार के शनिवार के स्वास्थ्य बुलेटिन के मुताबिक, शहर में 66,295 उपचाराधीन मरीजों में से 42,482 मरीज घर में ही पृथक-वास में हैं. केजरीवाल ने कहा कि अगर गृह पृथक-वास में रह रहे मरीज को ऑक्सीजन सहायता की आवश्यकता पड़ती है तो हमारी टीम दो घंटे के भीतर ऑक्सीजन सांद्रक पहुंचाना सुनिश्चित करेगी. उपकरण को कैसे संचालित करना है? टीम के साथ मौजूद तकनीशियन इस बारे में परिवार के सदस्यों को जानकारी देगा. उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार के डॉक्टर उन मरीजों के संपर्क में रहेंगे जिन्हें ऑक्सीजन सांद्रक दिए जाएंगे. साथ ही जब मरीज को इस उपकरण की जरूरत नहीं रह जाएगी, तब इसे सेनेटाइज करके दूसरे जरूरतमंद मरीज को उपलब्ध कराया जाएगा.

मरीज के घर तक ऑक्सीजन सांद्रक पहुंचाएंगे ओला फाउंडेशन और गिव इंडियाः
केजरीवाल ने कहा कि 'ओला फाउंडेशन' और 'गिव इंडिया' संगठन मरीज के घर तक ऑक्सीजन सांद्रक पहुंचाने का कार्य करेंगे. उन्होंने इस कार्य के लिए दोनों संगठनों का आभार भी जताया. केजरीवाल ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि मामले और संक्रमण दर कम होंगे तथा इस संक्रमण का प्रसार रुक जाएगा. उन्होंने दिल्ली में पिछले 15 दिनों में आईसीयू के 1,000 बिस्तर तैयार करने के लिए डॉक्टरों तथा इंजीनियरों की भी प्रशंसा की और कहा कि उन्होंने दुनिया के सामने एक मिसाल पेश की है.
सोर्स भाषा

और पढ़ें