जयपुर सीएम गहलोत ने दी मनरेगा योजना के 237 संविदा कार्मिकों के स्थानांतरण को मंजूरी

सीएम गहलोत ने दी मनरेगा योजना के 237 संविदा कार्मिकों के स्थानांतरण को मंजूरी

सीएम गहलोत ने दी मनरेगा योजना के 237 संविदा कार्मिकों के स्थानांतरण को मंजूरी

जयपुर: मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने महात्मा गांधी नरेगा योजना को लेकर मंगलवार को दो अहम फैसले किए. सीएम ने योजना के तहत विभिन्न जिलों में कार्य कर रहे 237 संविदा कार्मिकों के वन टाइम रिलोकेशन को मंजूरी दी है. इस निर्णय से लंबे समय से दूरस्थ जिलों में कार्यरत इन संविदाकर्मियों का पारिवारिक, स्वास्थ्य सहित अन्य समस्याओं के दृष्टिगत उनके गृह अथवा इच्छित जिले में रिलोकेशन संभव हो सकेगा.

सरकार ने ऑनलाइन आवेदन आमंत्रित किए थे, जिनमें कुल 700 आवेदन प्राप्त हुए. इन आवेदनों की छंटनी कर महिला आवेदकों को प्राथमिकता देते हुए रिलोकेशन के योग्य 237 आवेदकों की प्रथम सूची तैयार की गई. एक अन्य फैसले में सीएम ने MNIT द्वारा किए गए एक वैज्ञानिक अध्ययन में सुझाए गए टास्क को आगामी 1 अप्रैल से प्रदेश में महात्मा गांधी नरेगा योजना की विभिन्न गतिविधियों एवं कार्यों में नियोजित अकुशल श्रमिकों के लिए लागू करने के प्रस्ताव को मंजूरी दी है.

स्टडी में साइंटिफिक तरीके से प्रदेश के सभी जिलों में इस योजना के तहत महिला एवं पुरूष अकुशल श्रमिकों द्वारा अलग-अलग मौसम में किए जा रहे कार्यों का अध्ययन एवं विश्लेषण किया गया. इस रिपोर्ट में महानरेगा की सबसे ज्यादा की जाने वाली गतिविधियों जैसे-तालाब खुदाई एवं अन्य मिटटी के कार्यों पर वर्तमान में प्रचलित टास्क से कम टास्क प्रस्तावित किया गया. 

और पढ़ें