प्रदेश में सरकार गिराने का फिर से खेल शुरू होने वाला है - CM गहलोत

जयपुर: सिरोही के शिवगंज में नवनिर्मित कांग्रेस कार्यालय के वर्चुअल उद्घाटन समारोह के दौरान मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा कि प्रदेश में सरकार गिराने का खेल फिर से शुरू होने वाला है. इसके साथ ही सीएम गहलोत ने कहा कि महाराष्ट्र में भी सरकार गिराने की चर्चाएं हैं. 

पांच सरकारे गिराने के बाद छठी भी गिरा देने की बात कही थी:
मख्यमंत्री गहलोत ने कहा कि अजय माकन तो उस घटनाक्रम के गवाह रहे हैं वो 34 दिन होटल में हमारे विधायकों के साथ रहे थे. पांच सरकारे गिराने के बाद छठी भी गिरा देने की बात कही थी. ये तो अजय माकन, रणदीप सुरजेवाला, अविनाश पांडे यहां आकर बैठ गए. इन्होंने नेताओं को बर्खास्त करने का फैसला किया तब जाकर सरकार बची. लेकिन इस दौरान पूरे राजस्थान की जनता चाहती थी कि सरकार नहीं गिरनी चाहिए. प्रदेश के लोग हमारे विधायकों को फोन करके कहते थे कि आप चिंता मत कीजिए चाहे 2 माह लग जाए लेकिन सरकार नहीं गिरनी चाहिए. 

राष्ट्रपति ने 4 मुख्यमंत्रियों को मिलने का समय नहीं दिया:
उद्घाटन कार्यक्रम में किसान आंदोलन को लेकर सीएम गहलोत ने कहा कि राष्ट्रपति ने 4 मुख्यमंत्रियों को मिलने का समय नहीं दिया. मैंने खुद चार पांच बार मिलने के लिए टाइम लिखवाया लेकिन आखिरकार मुझे अपनी बात ट्वीट के माध्यम से कहनी पड़ी. उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार पहले ही किसानों की बात सुन लेती तो यह आंदोलन नहीं होता. 

जनता व कार्यकर्ताओं से चंदा लेकर कार्यालय बनाएंगे:
वहीं कांग्रेस कार्यालय को लेकर गहलोत ने कहा कि 'जनता व कार्यकर्ताओं से चंदा लेकर कार्यालय बनाएंगे. वहीं तंज कसते हुए कहा कि भाजपा की तर्ज पर दिल्ली से कोई पैसा नहीं आएगा. आपको बता दें कि प्रदेश कांग्रेस प्रभारी अजय माकन वर्चुअल उद्घाटन समारोह के मुख्य अतिथि रही. इसके साथ ही अति विशिष्ट अतिथि के रूप में PCC अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा, सिरोही-शिवगंज विधायक संयम लोढा और नगर पालिका अध्यक्ष वर्जीगराम घांची भी वीसी से जुड़े. 


 

और पढ़ें