शिलांग CM कोनराड ने कहा- मेघालय विधानसभा भवन में गुंबद गिरने की घटना की जांच IIT-Guwahati करेगा

CM कोनराड ने कहा- मेघालय विधानसभा भवन में गुंबद गिरने की घटना की जांच IIT-Guwahati करेगा

CM कोनराड ने कहा- मेघालय विधानसभा भवन में गुंबद गिरने की घटना की जांच IIT-Guwahati करेगा

शिलांग: मेघालय के मुख्यमंत्री कोनराड के संगमा ने कहा कि भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, गुवाहाटी (आईआईटीजी) निर्माणाधीन विधानसभा भवन के ऊपर लगे एक स्टील के गुंबद के गिरने की घटना की जांच करेगा.

विधानसभा की उच्चाधिकार प्राप्त समिति ने एक तीसरे पक्ष के संस्थान को घटना की जांच करने का जिम्मा सौंपने का फैसला किया है. निर्माणाधीन विधानसभा भवन का गुंबद रविवार को ढह गया था. मुख्यमंत्री ने शुक्रवार को कहा कि हम उम्मीद करते हैं कि अगले कुछ दिनों में उनकी(आईआईटी-गुवाहाटी) टीम आएगी और निरीक्षण करेगी. एक संपूर्ण विश्लेषण किया जाएगा.

विधानसभा भवन एक उच्च तकनीकी परियोजना है, क्योंकि इस तरह की परियोजना पूरे पूर्वोत्तर में कभी नहीं चलाई गई: 

उन्होंने कहा कि जांच पूरी तरह से स्वतंत्र होगी और इसमें दोनों हितधारकों यानी डिजाइनर व ठेकेदार के अलावा राज्य सरकार का भी कोई दखल नहीं होगा. मुख्यमंत्री ने कहा कि विधानसभा भवन एक उच्च तकनीकी परियोजना है, क्योंकि इस तरह की परियोजना पूरे पूर्वोत्तर में कभी नहीं चलाई गई है. उन्होंने संबंधित पक्षों से पूरी घटना की वास्तविक तस्वीर पेश करने के लिए जांच रिपोर्ट का इंतजार करने का आग्रह किया. संगमा ने कहा कि किसी निष्कर्ष पर पहुंचना और किसी को दोषी ठहराना जल्दबाजी होगा. जांच रिपोर्ट आने दीजिए. हम इसके बाद फैसला करेंगे.

शिलांग के रिलबोंग क्षेत्र में कला और संस्कृति विभाग के एक सभागार में आयोजित किए जाते हैं: 

न्यू शिलांग टाउनशिप में निर्माणाधीन इस परियोजना का ठेका उत्तर प्रदेश की कंपनी यूपीएनआरआरएन लिमिटेड को दिया गया है. नए विधानसभा भवन के निर्माण का काम 2019 में शुरू हुआ था और इस साल जुलाई में समाप्त होने वाला था. पुराना विधानसभा भवन 2001 में आग में नष्ट हो गया था, इसलिए नए मेघालय विधानसभा भवन का निर्माण किया जा रहा है. विधानसभा सत्र अब शिलांग के रिलबोंग क्षेत्र में कला और संस्कृति विभाग के एक सभागार में आयोजित किए जाते हैं. सोर्स-भाषा 

और पढ़ें