जोधपुर प्रवास के दौरान सीएम गहलोत ने राजमाता कृष्णा कुमारी मार्ग का किया लोकार्पण

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/10/07 21:10

जोधपुर: प्रदेश के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अपने जोधपुर प्रवास के दौरान आज सुबह से विभिन्न कार्यक्रमों में भाग लिया, तो वहीं इस दौरान मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राजमाता कृष्णा कुमारी मार्ग का लोकार्पण करने के साथ ही पूर्व महाराजा मानसिंह पुस्तक प्रकाश शोध केन्द्र द्वारा आयोजित स्वर्गीय पूर्व महाराजा हनवंतसिंह व्याख्यानमाला कार्यक्रम में भी भाग लिया. राईकाबाग पैलेस में आयोजित हुए इस कार्यक्रम में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राजमाता कृष्णा कुमारी के मार्ग अनावरण के निर्णय पर नगर निगम के चेयरमैन का आभार भी जताया और कहा कि राजमाता कृष्णा कुमारी का मुझ पर हमेशा आर्शीवाद रहा है. 

राजमाता कृष्णा कुमारी मार्ग का लोकार्पण:
जोधपुर के सर्किट हाउस से मिलिट्री चौराहा तक मार्ग का नाम आज राजमाता कृष्णा कुमारी मार्ग के रूप में नामकरण किया गया. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और पूर्व महाराजा गजसिंह द्वारा नाम पट्टिका का अनावरण किया. नाम पट्टिका का अनावरण के बाद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और पूर्व महाराजा गसिंह राईकाबाग पैलेस में पहुंचे, जहां पर पूर्व महाराजा मानसिंह पुस्तक प्रकाश शोध केन्द्र द्वारा आयोजित स्वर्गीय पूर्व महाराजा हनवंतसिंह व्याख्यानमाला कार्यक्रम में शिरकत की. कार्यक्रम में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत मुख्य अतिथि के रूप में मौजूद रहे, तो वहीं पूर्व महाराजा गजसिंह ने समारोह की अध्यक्षता की. पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त नवीन चावला मुख्य वक्ता के रूप में मौजूद रहे. कार्यक्रम में चिकित्सा स्वास्थ्य मंत्री सुभाष गर्ग, विधायक सूर्यकांता व्यास व महापौर घनश्याम ओझा विशिष्ट अतिथि के रूप में मौजूद रहे. 

पीएम मोदी पर हमला:
समारोह को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राजमाता कृष्णा कुमारी मार्ग के लोकापर्ण पर खुशी जाहिर की और कहा कि राजमाता कृष्णा कुमारी का मुझपर हमेशा से ही आर्शीवाद रहा. उनका हमेशा से यही भाव था कि मैं जोधपुर के लिए कुछ ना कुछ करना चाहता हूं. गहलोत ने कहा कि राजमाता कृष्णा कुमारी का मेरे प्रति हमेशा मातृत्व भाव रहा. गहलोत ने मोदी पर हमला बोलते हुए कहा कि भारत और पाकिस्तान साथ-साथ आजाद हुए थे. पीएम भुट्टो को फांसी पर चढा दिया गया था. 70 साल में लोकतंत्र मजबूत हुआ है. मजबूत लोकतंत्र नही होता तो नरेन्द्र मोदी पीएम कैसे बनते. इसलिए यह कहना गलत है कि आजादी के बाद कुछ भी नहीं हुआ है. हमारी किसी से कोई लडाई नहीं है, विचारधारा की बात अलग होती है. वहीं गहलोत ने महाराजा हनवंत सिंह का जिक्र करते हुए कहा कि महाराजा हनवंत सिंह और मेरे पिता जी साथ में जादू किया करते थे. उन्होंने गजसिंह के पत्र का उल्लेख करते हुए कहा कि महाराजा गजसिंह ने अपने भेजे पत्र में मेरे व राजमाता कृष्णा कुमारी के रिश्तो का उल्लेख किया, तो उसको पढकर मैं अभीभूत हो हुआ था. इसलिए मैने इस कार्यक्रम में आने का उसी वक्त तय कर लिया था. 

महाराजा हनवंत सिंह की विचारधाराओं का भी जिक्र:
गहलोत ने विधायक सूर्यकांता व्यास के पिता का उल्लेख करते हुए कहा कि विधायक सूर्यकांता व्यास के पिता जी लोगो को पत्र लिखकर मुझे जिताने की अपील करते थे और यही कहते थे कि चुनाव का वक्त आ गया है, अशोक गहलोत को समर्थन करे और जीजी का कहना कोई नहीं माने. पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त नवीन चावला ने अपने संबोधन में राजमाता कृष्णा कुमारी की सेवाओं को याद करने के साथ ही महाराजा हनवंत सिंह की विचारधाराओं का भी जिक्र किया. 

कई नेता रहे मौजूद:
राजमाता कृष्णा कुमारी मार्ग नामकरण और पूर्व महाराजा हनवंतसिंह व्याख्यानमाला कार्यक्रम में चिकित्सा स्वास्थ्य मंत्री सुभाष गर्ग, विधायक किशनाराम विश्नोई, मनीषा पंवार, महेन्द्र सिंह विश्नोई, कांग्रेस नेता उम्मेद सिंह राठौड, राजेन्द्र सोलंकी, पंकज प्रताप, उपमुख्य सचेतक महेन्द्र चौधरी, सैनाचार्य अचलानंद गिरी महाराज, रास्नेही संत रामप्रसाद महाराज, उपमहापौर देवेन्द्र सालेचा, पूर्व महाराजा हेमलता राजे व राना के मीडिया चैयरमैन प्रेम भंडारी, समाजसेवी सुनिल परिहार, जसवंत सिंह कच्छवाहा व अतीक मोहम्मद भी मौजूद रहे. कार्यक्रम में राजमाता कृष्णा कुमारी के जीवन पर आधारित प्रदर्शनी का भी उद्घाटन किया गया. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राजमाता कृष्णा कुमारी को पुष्पांजलि भी अर्पित की. 

... जोधपुर से राजीव गौड़ की रिपोर्ट 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in