GET WELL SOON CM GEHLOT: अस्पताल से डिस्चार्ज होकर घर पहुंचे सीएम गहलोत, पौत्री काश्विनी ने बांधा रक्षासूत्र 

GET WELL SOON CM GEHLOT: अस्पताल से डिस्चार्ज होकर घर पहुंचे सीएम गहलोत, पौत्री काश्विनी ने बांधा रक्षासूत्र 

GET WELL SOON CM GEHLOT: अस्पताल से डिस्चार्ज होकर घर पहुंचे सीएम गहलोत, पौत्री काश्विनी ने बांधा रक्षासूत्र 

जयपुर: मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की सेहत में सुधार है. आज मुख्यमंत्री गहलोत अस्पताल से डिस्चार्ज हो गए हैं.सीएम गहलोत को पौत्री काश्विनी ने डिस्चार्ज होने से पहले रक्षासूत्र बांधा. महंत कैलाश शर्मा ने विशेष रक्षासूत्र और दुपट्टा मुख्यमंत्री गहलोत के लिए भेजा था. इस रक्षासूत्र को पौत्री काश्विनी ने मुख्यमंत्री की दाहिनी कलाई पर बांधा. वहीं पुत्र वैभव गहलोत ने दुपट्टा सीएम गहलोत को ओढ़ाया. रक्षासूत्र बांध और दुपट्टा ओढ़ने के बाद ही सीएम अस्पताल से रवाना हुए थे. इस मौके पर चिकित्सा मंत्री डॉ.रघु शर्मा भी मौजूद रहे. 

आपको बता दें कि मुख्यमंत्री गहलोत अस्पताल से डिस्चार्ज होने के बाद  घर पहुंच गए हैं. घर पहुंचने पर पुत्री सोनिया ने तिलक लगाकर पिता का स्वागत किया. परंपरा के अनुसार पिता की आरती भी बेटी सोनिया ने उतारी. इस दौरान पत्नी सुनीता गहलोत,बेटा वैभव गहलोत,पुत्रवधु हिमांशी मौजूद रहीं. दामाद गौतम अखंड, पौत्री काश्विनी ने भी गहलोत का स्वागत किया. CMO-CMR के अधिकारियों ने भी सीएम का स्वागत किया. मुख्यमंत्री गहलोत ने हाथ हिलाकर सभी का अभिवादन किया. इससे पहले अस्पताल में पौत्री काश्विनी ने मुख्यमंत्री का तिलक किया था. पौत्री से तिलक कराने के बाद ही अस्पताल से गहलोत रवाना हुए थे. 

आपको बता दें कि इससे पहले मेडिकल बोर्ड की सहमति के बाद सीएम को डिस्चार्ज किया गया. फिलहाल SMS के कार्डिक केयर यूनिट में CM गहलोत मौजूद हैं. SMS मेडिकल कॉलेज प्राचार्य डॉ.सुधीर भंडारी देखरेख में इलाज चल रहा हैं. चिकित्सकों के मुताबिक मुख्यमंत्री की सभी मेडिकल रिपोर्ट नॉर्मल हैं. हालांकि कुछ दिन सीएम गहलोत को चिकित्सकों ने आराम की सलाह दी हैं.

गौरतलब है कि शुक्रवार को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की सवाई मानसिंह (SMS) अस्पताल में सफल एंजियोप्लास्टी की गई थी. गहलोत की SMS अस्पताल की कैथ लैब में एंजियोप्लास्टी हुई थी. एंजियोप्लास्टी के बाद गहलोत को CCU में शिफ्ट किया गया था. मुख्यमंत्री गहलोत के एक आर्टरी में 90 फीसदी ब्लॉकेज था. वरिष्ठ चिकित्सकों की निगरानी  एंजियोप्लास्टी हुई. मुख्यमंत्री गहलोत के एक स्टंट लगाया गया है.

और पढ़ें