सीएम गहलोत बोले, सेवा और सुशासन ही सरकार का केंद्र बिंदु, जन घोषणा पत्र के 64 प्रतिशत वादे पूरे

सीएम गहलोत बोले, सेवा और सुशासन ही सरकार का केंद्र बिंदु, जन घोषणा पत्र के 64 प्रतिशत वादे पूरे

सीएम गहलोत बोले, सेवा और सुशासन ही सरकार का केंद्र बिंदु, जन घोषणा पत्र के 64 प्रतिशत वादे पूरे

जयपुर: राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने शनिवार को कहा कि राज्य सरकार ने सेवा और सुशासन को केंद्र बिंदु माना है और उसने अपने चुनावी जन घोषणा पत्र के 64 प्रतिशत वादे पूरे कर दिए हैं. गहलोत ने कहा कि राज्य सरकार ने सेवा और सुशासन को केंद्र बिंदु माना है और इसे ध्यान में रखकर सरकार ने न केवल जन घोषणा-पत्र में किए गए वादों को मूर्त रूप दिया है. बल्कि इससे आगे बढ़कर जनता को राहत देने के अनेक महत्वपूर्ण फैसले किए हैं. कोरोना की पहली व दूसरी लहर के बावजूद वादों को धरातल पर उतारने में सरकार खरी उतरी है.

उन्होंने कहा कि बीते ढाई वर्ष में राज्य के समग्र विकास के साथ-साथ जरूरतमंद लोगों की पीड़ा दूर करने के लिए हर संभव प्रयास किए हैं. गहलोत शनिवार को मुख्यमंत्री निवास पर राज्य मंत्रिपरिषद के सदस्यों तथा छत्तीसगढ़ के गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू और पंजाब के सांसद डॉ अमर सिंह के साथ जन घोषणा-पत्र की समीक्षा बैठक में यह बात कही. गहलोत ने कहा कि जन घोषणा पत्र के 501 वादों में से 321 अर्थात् 64 प्रतिशत को क्रियान्वित कर दिया गया है और इसके साथ ही 138 वादे प्रगतिरत हैं. उन्होंने कहा कि कैबिनेट उपसमिति जन घोषणा पत्र के क्रियान्वयन की सतत निगरानी कर रही है.

मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी सरकार आमजन को संवेदनशील, पारदर्शी और जवाबदेह सुशासन देने के लिए पूरी प्रतिबद्धता से काम कर रही है. जन घोषणा पत्र के वादों को शीघ्रता के साथ पूरा करने की दिशा में आगे बढ़ रहे हैं। जिन वादों में प्रगति प्रारंभिक स्तर पर है उनमें तेजी लाई जा रही है. एक बयान के अनुसार गहलोत ने समीक्षा के दौरान कहा कि जन घोषणा पत्र राज्य सरकार का नीतिगत दस्तावेज होने के साथ ही राज्य के विकास को गति देने का विजन डॉक्यूमेंट है और इसके प्रत्येक बिंदु का समयबद्ध क्रियान्वयन हम सबकी वचनबद्धता है.

उन्होंने कहा कि इसके माध्यम से हम गांव-गरीब और किसान के दुख-दर्द और तकलीफों को दूर करने के साथ ही नए राजस्थान की परिकल्पना को साकार किया जा रहा है. बैठक में राज्य मंत्रिपरिषद के सदस्यों ने अपने-अपने विभागों से संबंधित उपलब्धियों व जन घोषणा पत्र की क्रियान्विति से अवगत कराया. उन्होंने कहा कि राज्य सरकार की मंशा के अनुरूप सभी विभाग आपसी समन्वय के साथ जन घोषणा पत्र के वादों को सर्वोच्च प्राथमिकता के साथ पूरा करने की दिशा में कार्य कर रहे हैं. छत्तीसगढ़ के गृहमंत्री व कांग्रेस की घोषणापत्र समिति के अध्यक्ष ताम्रध्वज साहू ने मुख्यमंत्री गहलोत के नेतृत्व में राज्य सरकार द्वारा किए जा रहे विकास कार्यों एवं जन घोषणा पत्र के वादों की प्रगति पर संतोष व्यक्त किया.

उन्होंने कहा कि जिस गति से घोषणा पत्र के वादों को पूरा करने का प्रयास किया जा रहा है, वह सराहनीय है और इससे न केवल समाज के सभी वर्गों को राहत मिलेगी, बल्कि राजस्थान का समग्र विकास भी संभव हो सकेगा. उन्होंने कोरोना महामारी के दौरान लोगों की जीवन रक्षा के लिए मुख्यमंत्री द्वारा सभी के सहयोग से उठाए गए कदमों और सफलतापूर्वक किए गए कोरोना प्रबंधन को भी सराहा. पंजाब के सांसद डॉ अमर सिंह ने कहा कि गांव, गरीब, किसान, युवा, महिलाओं एवं अन्य जरूरतमंद वर्गों के लिए राजस्थान सरकार द्वारा चलाए गए कार्यक्रम एवं योजनाएं दूसरे राज्यों के लिए भी अनुकरणीय हैं.

और पढ़ें