close ads


भरतपुर जहरीली शराब मामलाः मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने संबंधित अधिकारियों, कर्मचारियों को निलंबित करने के दिए निर्देश

भरतपुर जहरीली शराब मामलाः मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने संबंधित अधिकारियों, कर्मचारियों को निलंबित करने के दिए निर्देश

जयपुरः भरतपुर के जहरीली शराब मामले को लेकर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बड़ा फैसला लेते हुए मामले में संबधित अधिकारियों पर कार्रवाई करते हुए उन्हे निलंबित करने की कार्रवाई की है. जानकारी के अनुसार मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने हादसे पर गहरा दुख व्यक्त करते हुए मृतकों के शोक संतप्त परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त की है और  उपचाररत पीड़ितों के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना करते हुए उनके समुचित उपचार के लिए प्रशासन को निर्देश दिए हैं. 

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भरतपुर संभागीय आयुक्त से मामले की जांच करवाने के दिए निर्देशः
जानकारी के अनुसार मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने इस दुखांतिका के कारणों एवं सम्पूर्ण परिस्थितियों की जांच संभागीय आयुक्त, भरतपुर से करवाने के निर्देश दिए हैं. मुख्यमंत्री ने आबकारी, प्रवर्तन (आबकारी), प्रशासन एवं पुलिस के संबंधित अधिकारियों के खिलाफ भी कार्रवाई का निर्णय लिया है. भरतपुर के जिला आबकारी अधिकारी, सहायक आबकारी अधिकारी एवं एन्फोर्समेंट ऑफिसर राकेश शर्मा, बयाना आबकारी थाने के पेट्रोलिंग ऑफिसर रेवत सिंह राठौड़, बयाना आबकारी निरीक्षक योगेन्द्र सिंह को निलम्बित करने का फैसला मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने लिया है. 

आबकारी एन्फोर्समेंट थाने का सम्पूर्ण स्टाफ को निलम्बितः
वहीं रूपवास में आबकारी एन्फोर्समेंट थाने के सम्पूर्ण स्टाफ को निलम्बित करने, पुलिस स्टेशन रूपवास के सहायक उप निरीक्षक मोहन सिंह व दो अन्य पुलिसकर्मी जिनमें बीट इंचार्ज एवं बीट कांस्टेबल शामिल हैं को भी निलम्बित करने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने के निर्देश दिए हैं. उन्होंने एसडीएम रूपवास ललित मीणा को एपीओ करने के भी निर्देश दिए हैं.  

जहरीली शराब पीने से सात लोगों की हुई मौतः 
उल्लेखनीय है कि भरतपुर जिले के रूपवास इलाके में जहरीली शराब पीने से सात लोगों की मौत हो गई है. वहीं इस शराब का सेवन करने वाले अन्य लोगों की हालत भी गंभीर बताई जा रही है.

और पढ़ें