समाजसेवी लक्ष्मण राम बेड़ा की प्रतिमा का अनावरण कर सीएम गहलोत ने साधा केंद्र सरकार पर निशाना

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/11/08 14:11

जोधपुर: राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अपने जोधपुर प्रवास के दूसरे दिन भोपालगढ़ क्षेत्र के गजसिंहपुरा इलाके में बेड़ों की ढाणी में समाजसेवी चौधरी लक्ष्मण राम बेड़ा की प्रतिमा का अनावरण किया. इस दौरान राजस्थान सरकार के राजस्व मंत्री हरीश चौधरी व उप मुख्य सचेतक महेंद्र चौधरी के अलावा राज्य बाल संरक्षण आयोग की अध्यक्ष संगीता बेनीवाल भी मौजूद रही. 

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने लक्ष्मण राम बेड़ा की प्रतिमा का अनावरण किया: 
जोधपुर जिले के भोपालगढ़ विधानसभा क्षेत्र के बेड़ो की ढाणी में पूर्व विधायक नारायण राम बेड़ा के पिता समाजसेवी चौधरी लक्ष्मण राम बेड़ा की प्रथम पुण्यतिथि के अवसर पर प्रदेश के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने विधिवत रूप से लक्ष्मण राम बेड़ा की प्रतिमा का अनावरण किया. इधर अवसर पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बेड़ा की प्रतिमा पर श्रद्धा सुमन भी अर्पित किए. अनावरण के बाद जहां मुख्यमंत्री ने मेडिकल कैंप का अवलोकन भी किया. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का युवा नेता कैलाश बेडा द्वारा राजस्थानी साफे से स्वागत भी किया गया. गहलोत ने संतो से आर्शीवाद भी लिया. इस अवसर पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने संबोधित करते हुए कहा कि आपके बीच आने पर प्रसन्नता हो रही है. 20 साल पहले पानी बचाओं बिजली बचों का संदेश दिया था, उसके बाद पानी बचाओं बिजली बचाओं बेटी बचाओं और सबको पढाओं का नारा मैने दिया.

लक्ष्मण राम बेडा की मूर्ति लगने से लोगों को प्रेरणा मिलेगी: 
गहलोत ने कहा कि लक्ष्मण राम बेडा की मूर्ति लगने से लोगों को प्रेरणा मिलेगी. आपके आर्शीवाद से मैं आगे बढा़. परसराम मदेरणा का जिक्र करते हुए कहा कि वे भी राजस्व मंत्री रहे थे,आज हमारे हरीश चौधरी मेरे साथी है जो सरकार में राजस्व मंत्री है. गहलोत ने का कि मैंने अब तक हर मांग को पूरा किया. अब घर-घर पानी पहुंचाने का काम करेंगे. गहलोत ने कहा कि एमपी चुनाव का वक्त था जब मुझे परसराम मदेरणा मुझे लेकर घूमे थे. 3 बार केन्द्रीय मंत्री, 3 बार पीसीसी अध्यक्ष ,2 बार एआईसीसी में महासचिव और तीसरी बार प्रथम सेवक के रूप में सेवाएं दे रहा हूं. एम्स,आईआईटी,एनएलयू,निफ्ट,बोर्डगेज,इंदिरा गांधी नहर व रेलवे के अलावा पानी-बिजली और स्वास्थ्य,चिकित्सा के क्षेत्र में विकास के काम किए. हम एडीबी या अन्य संस्था से लॉन की तैयारी कर रहे है. पवन ऊर्जा के बाद सूरज की किरणों से बिजली का उत्पादन करने में भूमिका निभाई. गहलोत ने किसानों से खेतो में सौर ऊर्जा पैनल लगाने का आह्वान भी किया. 

नोटबंदी व जीएसटी में केन्द्र सरकार फैल:
इस दौरान सीएम गहलोत ने केंद्र सरकार पर कई तरह के आरोप लगाते हुए कहा कि नोटबंदी व जीएसटी में केन्द्र सरकार फैल हो गई. केन्द्र सरकार की आय कम हुई है. 7 हजार करोड राज्य को आएंगे. किसानों के कर्जे हम माफ कर चुके है. हमारी सरकार पूरी तरह से किसानों को समर्पित फसलों का सही दाम दिलाने का काम कर रहे है. बीमा मामले में शिकायतों का समाधान किया जा राह है. 60 साल में देश में जो विकास हुआ हर विकास में कांग्रेस की देन है. केन्द्र सरकार ने 2 करोड़ लोगों को रोजगार दने का वादा किया था जिसमें वह पूरी तरह से विफल रही है. देश की वित्त मंत्री के पति कह रहे है कि भाजपा को पता नही है कि अर्थव्यवस्था क्या होती है. गहलोत ने कहा कि पीएससी की सुविधा मिलेगी. घूंघट में कब तक महिलाएं कैद रहेंगी. इंदिरा गांधी जब पीएम बन सकती है जिनको वाजपेयी ने दुर्गा का रूप का था. इंदिरा गांधी के योगदान का उल्लेख करने के साथ ही राजीव गांधी के पंचायत राज का भी जिक्र किया. गहलोत ने कहा कि सरपंच पति,प्रधान पति का सिलसिला खत्म हो. पढ़ाई का गांव में अभियान चले. उन्होंने एसपी प्रीति चंद्रा का उदाहरण देते हुए कहा कि घूंघट में रहकर थोड़े ही ड्यूटी करेंगी. अगर गांव में लगी कोई डीएसपी महिला तो वह थोडी घूंघट में रहेगी.

नारायाण राम बेडा ने खूब संघर्ष किया: 
राजस्व मंत्री हरीश चौधरी ने संबोधित करते हुए कहा कि नारायाण राम बेडा ने खूब संघर्ष किया है. अब तक खूब खोया,पाया कुछ भी नहीं,कांग्रेस परिवार में बेडा का स्वागत है. 11 महीनों में सरकार ने किसानों व जनहित के काम किए. चार सालों में केन्द्र से एक पैसा नही मिला,स्वीकृति योजना का भी कोई पैसा नहीं दिया गया. केन्द्र सरकार पर किए वादों को पूरा नही करने का आरोप लगाते हुए कहा कि 90 लाख युवा रोजगार का इंतजार कर रहे है. नोबल पुरस्कार विजेता अभिजीत बेनर्जी का उल्लेख करते हुए कहा कि उनके अनुसार किसान को फसल का सही मूल्य मिलने से ही देश आगे बढ़ सकता है. किसानों को मजबूत करने के लिए राज्य सरकार कई फैसले लेने के साथ किसानों का ऋण माफ करने से लेकर नए ऋण भी दिए.

आर्थिक दृष्टि से किसानों को मजबू करने की सोच मुख्यमंत्री गहलोत की: 
इस अवसर पर पूर्व विधायक नारायण राम बेडा ने संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को किसानों का हितैषी बताया और कहा कि गहलोत के व्यवहार व कार्यप्रणाली से बहुत प्रभावित हुआ हूं. मूंगों की खरीद के सुझाव को मानने पर आभार जताते हुए कहा कि आर्थिक दृष्टि से किसानों को मजबू करने की सोच मुख्यमंत्री गहलोत की है. सीएम बनते ही पेंशन बढ़ाई साथ ही चुनाव में पढ़ाई की बाध्यता को भी खत्म किया. जब एमएलए और एमपी अनपढ़ बन सकते है तो ग्रामीण क्यो नही, बेडा ने इस अवसर पर किसानों को बीमा राशि दिलवाने की मांग भी रखी और किसानों को फसलो का सही दाम दिलाने का आग्रह भी किया. बेडा ने गजसिंह पुरा में घर-घर पानी की व्यवस्था करने व एक करोड के राजस्व वाली सडक के सुधार का भी आग्रह किया. वही पीएससी खोलने की मांग करते हुए मुख्यमंत्री नि:शुल्क दवा व जांच के लिए आभार भी जताया. 

इस दौरान कई लोग रहे मौजूद: 
इस दौरान राजस्थान सरकार के राजस्व मंत्री हरीश चौधरी व उप मुख्य सचेतक महेंद्र चौधरी के अलावा राज्य बाल संरक्षण आयोग की अध्यक्ष संगीता बेनीवाल,पूर्व विधायक नारायणराम बेडा,छात्रनेता चेतन ग्वाला,कांता ग्वाला,शिक्षक नेता गंगाराम जाखड,चेनाराम चौघरी,महिला कांग्रेस नेता हेमलता चौधरी के अलावा बड़ी संख्या में जहां युवाओं की टीम व ग्रामीणजन मौजूद रहे. 

...फर्स्ट इंडिया के लिए राजीव गौड की रिपोर्ट

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in