Heavy Rains In Rajasthan: सीएम गहलोत ने हेलीकॉप्टर से लिया बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का जायज़ा, बीजेपी पर साधा निशाना

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/09/16 01:01

कोटा: प्रदेश में भारी बारिश की वजह से कई इलाकों में बाढ़ के हालात बने हुए हैं. गांधी सागर में लगातार पानी की आवक के चलते चंबन नदी खतरे के निशान पर बह रही है. कोटा के बाद धौलपुर भी बाढ़ की चपेट में आ गया है. इसी के चलते मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने आज सुबह हाड़ौती के बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का हेलिकॉफ्टर से हवाई सर्वेक्षण कर जायज़ा लिया. इस दौरान उनके साथ स्वायत्त शासन मंत्री शांति धारीवाल और आपदा राहत प्रबंधन मंत्री मास्टर भंवरलाल शर्मा भी साथ रहे. 

सरकार बाढ़ प्रभावितों को नियमानुसार मुआवजा देगी: 
इस दौरान मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कोटा एयरपोर्ट पर प्रेस कॉन्फ्रेंस की. प्रेस कॉन्फ्रेंस में सीएम गहलोत ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि राजस्थान में अब तक मानसूनी आपदा से 54 मौतें हुई है. सरकार बाढ़ प्रभावितों को नियमानुसार मुआवजा देगी. इस बार राजस्थान में औसत से 40 फीसदी ज्यादा बारिश हुई है. मुख्यमंत्री ने कहा कि उम्मीद है बहुत जल्द पानी उतरेगा. 

पिछली सरकार ने उड़ाया विकास का पैसा: 
प्रेसवार्ता में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि पिछली सरकार ने चुनाव जीतने के लिए अफरा-तफरी में पानी-बिजली-सड़कों और संचार साधनों का पैसा उड़ाया दिया, पिछली सरकार ने उड़ाया जो हम आज तक चुकाते आ रहे हैं. हमने पिछली सरकार का 25 करोड़ रुपए बकाया चुकाया है. हम आगे की सोचते हैं , जो बजट पेश किया है उसे पूरा करेंगे. अब आगे जो बजट आएगा उसे पूरा करने की तैयारी करेंगे. रीवर फ्रंट पर धारीवाल के योगदान पर सीएम ने कहा कि धारीवाल साबह ने पहले भी कोटा का नक्शा बदल दिया लेकिन आप लोगों ने धारीवाल साहब को घर भेज दिया. इसके बाद उन्होंने कहा कि कोटा बैराज के बाद यहां बांध बनाने की संभावनाएं देखेंगे. 

हमारे विभिन्न फंडों के 1950 करोड़ केंद्र ने रोक रखे हैं: 
वहीं मुख्यमंत्री गहलोत ने प्रेस वार्ता में केंद्र सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि केंद्र हमारे हक का पैसा भी रोक कर बैठी हैं. साथ ही कहा कि ओम बिरलाजी  लोकसभा अध्यक्ष बन गए हैं उन्हे भी इस पर गौर करना चाहिए. हमारे विभिन्न फंडों के 1950 करोड़ केंद्र ने रोक रखे हैं. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कोटा में मीडिया से कहा कि आज देश की स्थिति ठीक नहीं है, लोकतंत्र खतरे में है. आज सबकी नौकरी जा रही है. काम-धंधे बंद हैं तो सब परेशान हो रहे हैं. पूरे देशवादी में राष्ट्रवादी लोग हैं, कोई व्यक्ति ऐसा नहीं जो राष्ट्रवादी न हो, मोजी ने पूरे देश में एक अलग ही माहौल बना दिया है. 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in