नई दिल्ली दिल्ली की खेल नीति तब सफल होगी जब खिलाड़ी भारत के लिए पदक जीतना शुरू करेंगे: मुख्यमंत्री केजरीवाल

दिल्ली की खेल नीति तब सफल होगी जब खिलाड़ी भारत के लिए पदक जीतना शुरू करेंगे: मुख्यमंत्री केजरीवाल

दिल्ली की खेल नीति तब सफल होगी जब खिलाड़ी भारत के लिए पदक जीतना शुरू करेंगे:  मुख्यमंत्री केजरीवाल

नई दिल्ली: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को कहा कि उनकी सरकार की खेल नीति तभी सफल होगी जब खिलाड़ी अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में देश के लिए काफी पदक जीतना शुरू करेंगे. केजरीवाल तोक्यो ओलंपिक में पदक जीतने वालों को सम्मानित करने के लिए आयोजित कार्यक्रम में बोल रहे थे. केजरीवाल ने कहा कि आपने पूरे देश को सम्मानित किया है. आपको जो सम्मान राशि दी गई है वह हमारी ओर से यह बताने का छोटा सा तरीका है कि हमें आप पर बेहद गर्व है. हम भगवान से प्रार्थना करेंगे कि आप देश को गौरवांवित करते रहें.

मुख्यमंत्री ने कहा कि लाखों बच्चे जब आपको देखते हैं तो महसूस करते है कि वे भी देश को गौरवांवित कर सकते हैं. आप में से प्रत्येक लाखों और करोड़ों बच्चों को प्रेरित करता है. अपनी सरकार की खेल नीति पर केजरीवाल ने कहा कि अन्य देशों की नीतियों का अध्ययन करने के बाद इसे तैयार किया गया है. उन्होंने कहा कि हमारी नीति के तीन स्तंभ हैं. नीति का एक लक्ष्य दिल्ली में खेल संस्कृति तैयार करना और खेलों से जुड़ने के लिए प्रोत्साहित करना है.

केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली की नीति की काफी लोगों ने तारीफ की है लेकिन इसे तभी सफल माना जाएगा तब देश पदक जीतेगा. उन्होंने कहा कि हमारे देश में 130 करोड़ लोग हैं और फिर भी हम कम पदक जीतते हैं. यह नीति तब सफल होगी जब हम काफी पदक जीतना शुरू करेंगे और जब हम खेल मानचित्र पर चीन और अमेरिका को पीछे छोड़ देंगे.

केजरीवाल ने कहा कि खेल को अगले स्तर पर ले जाने के लक्ष्य के साथ दिल्ली खेल विश्वविद्यालय का गठन किया गया है.केजरीवाल ने ओलंपिक पदक विजेताओं से अपील की कि वे खेल विश्वविद्यालय से जुड़कर सुविधाओं का फायदा उठाएं और योगदान दें. उन्होंने कहा कि हम मिलकर काम करेंगे. देश में प्रतिभा की कोई कमी नहीं है. हमें इसकी पहचान करनी होगी.(भाषा) 

और पढ़ें