कोविड टेस्टिंग के लिए धन की कोई कमी नहींः CM तीरथ सिंह

कोविड टेस्टिंग के लिए धन की कोई कमी नहींः CM तीरथ सिंह

कोविड टेस्टिंग के लिए धन की कोई कमी नहींः CM तीरथ सिंह

देहरादून: उत्तराखंड सहित देश भर में कोविड मामलों में हो रही वृद्धि के बीच हरिद्वार महाकुम्भ के आयोजन को देखते हुए प्रदेश के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने शुक्रवार को राज्य में जांच बढ़ाने के निर्देश देते हुए कहा कि इसके लिए धन की कोई कमी नहीं है.

महाकुम्भ को देखते हुए विशेष इंतजाम करने के दिए निर्देशः
प्रदेश में कोविड की स्थिति की समीक्षा करते हुए मुख्यमंत्री तीरथ सिंह ने अधिकारियों से महाकुम्भ के दृष्टिगत खासतौर से हरिद्वार, देहरादून, टिहरी और पौड़ी गढ़वाल जिलों में अधिक से अधिक टैस्टिंग करने को कहा. उन्होंने कहा कि टेस्टिंग में खास तौर पर आरटी-पीसीआर टेस्ट की संख्या बढाई जाए. उन्होंने कहा कि इसके लिए धन की कोई कमी नहीं है. उन्होंने कहा कि हरिद्वार को इसके लिए 20 करोड़ रुपए जबकि अन्य जिलों को पांच-पांच करोड़ रुपए उपलब्ध कराए गए हैं.
 
ग्राम स्तर तक टीकाकरण की पूरी व्यवस्था करने के दिए निर्देशः
मुख्यमंत्री तीरथ सिंह ने उत्तराखंड को शत प्रतिशत कोविड टीकाकरण वाला राज्य बनाने के लिए अधिकारियों से एक फूलप्रूफ योजना तैयार करने को भी कहा. मुख्यमंत्री ने गांवों में रह रहे वृद्धजनों की विशेष चिंता करते हुए कहा कि ग्राम स्तर तक टीकाकरण की पूरी व्यवस्था की जाए.

कोविड प्रोटोकोल का पालन करवाने के दिए निर्देशः
कोरोना के बढ़ रहे मामलों पर चिंता जाहिर करते हुए रावत ने कहा कि टेस्टिंग, ट्रैकिंग और ट्रीटमेंट पर विशेष ध्यान दिया जाए तथा कोविड प्रोटोकॉल का पालन सुनिश्चित करवाने के लिए जागरूकता अभियान चलाया जाए. उन्होंने कहा कि दूसरे प्रदेशों से आने वाले लोगों और पर्यटकों को शालीनता से कोविड प्रोटोकोल का पालन करने के लिए समझाया जाए. उन्होंने महामारी से होने वाली मौतों को कम करने के लिए बेस्ट ट्रीटमेंट प्रोटोकोल का पालन करने को भी कहा.

टीकाकरण को लेकर उत्तरकाशी जिला प्रशासन की प्रशंसा कीः
मुख्यमंत्री  तीरथ सिंह ने 60 वर्ष से अधिक उम्र के 88 प्रतिशत लोगों का टीकाकरण करने पर उत्तरकाशी जिला प्रशासन की प्रशंसा की और अन्य जिलों को इससे सीख लेने के लिये कहा. मुख्य सचिव ओमप्रकाश ने कहा कि आगामी यात्रा सीजन को देखते हुए विशेष तैयारी करनी होगी.
सोर्स भाषा

और पढ़ें