उप्र में नहरों पर निर्मित 25 हज़ार से अधिक पुल-पुलियों का होगा जीर्णोद्धारः सीएम योगी आदित्यनाथ

उप्र में नहरों पर निर्मित 25 हज़ार से अधिक पुल-पुलियों का होगा जीर्णोद्धारः सीएम योगी आदित्यनाथ

उप्र में नहरों पर निर्मित 25 हज़ार से अधिक पुल-पुलियों का होगा जीर्णोद्धारः सीएम योगी आदित्यनाथ

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को यहां अपने सरकारी आवास पर जल शक्ति विभाग के अन्तर्गत सिंचाई एवं जल संसाधन विभाग की नहरों पर निर्मित 25 हज़ार से अधिक पुल/पुलियों के जीर्णोद्धार एवं पुनर्निर्माण महाअभियान का शुभारम्भ किया.

सीएम ने पुल-पुलियों के जीर्णोद्धार एवं पुनर्निर्माण कार्य गुणवत्तापूर्ण पूरा करने के दिए निर्देशः 
इस अवसर पर अपने संबोधन में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि आम जनमानस के जीवन को सरल और सहज बनाने के लिए सिंचाई विभाग द्वारा मिशन मोड में कार्य करते हुए 100 दिन के अन्दर सभी 25 हज़ार से अधिक पुल/पुलियों के जीर्णोद्धार एवं पुनर्निर्माण कार्य को मानक गुणवत्ता के अनुरूप पूर्ण किया जाए.

सीएम ने सिंचाई विभाग द्वारा आवश्यकता व उपयोगिता को ध्यान में रखने के दिए निर्देशः
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि अगले चरण में सिंचाई विभाग द्वारा आवश्यकता व उपयोगिता को ध्यान में रखते हुए नहर की पटरियों को चिन्हित कर आवागमन के लिए तैयार किया जाए. नहर की पटरियों के आवागमन से जुड़ जाने पर वह सुरक्षित हो जाती हैं. साथ ही, उनका रख-रखाव भी सहजता से सम्भव हो पाता है.

मुख्यमंत्री ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से विभिन्न जिलों के जनप्रतिनिधियों से किया संवादः
इस मौके पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से प्रयागराज, प्रतापगढ़, अयोध्या, आगरा, जालौन, रामपुर, मथुरा, बलिया आदि ज़िलों के जनप्रतिनिधियों से संवाद किया. उन्होंने कहा कि पुल एवं पुलिया ग्रामीण अर्थव्यवस्था की रीढ़ है और इनसे किसानों सहित जनसामान्य को आवागमन में बड़ी सुविधा होती है. कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए जल शक्ति मंत्री डॉक्टर महेन्द्र सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री के नेतृत्व में प्रदेश तेजी से बदल रहा और आगे बढ़ रहा है और इससे सभी प्रदेशवासियों को लाभ होगा. जनपद रामपुर से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जल शक्ति राज्य मंत्री बलदेव ओलख ने कार्यक्रम के समापन अवसर पर धन्यवाद ज्ञापित किया.
सोर्स भाषा

और पढ़ें