Live News »

Janta Curfew: सीएम योगी आदित्यनाथ बोले, आगे भी तैयार रहें जनता कर्फ्यू के लिए 

Janta Curfew: सीएम योगी आदित्यनाथ बोले, आगे भी तैयार रहें जनता कर्फ्यू के लिए 

लखनऊ: देशभर में कोरोना वायरस का खौफ है, रविवार को पीएम मोदी की अपील के बाद जनता कर्फ्यू लगाया गया है. वहीं जनता कर्फ्यू पर यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि यह जरूरी है कि सोशल डिस्टेंस बना रहे और लोग बार-बार हाथ धोएं. इतना ही नहीं डॉक्टर द्वारा कही जा रही बातों को भी ध्यान में रखें. उन्होंने बताया कि राज्य में कोरोना के 27 मरीज थे जिनमें से 11 स्वस्थ्य हो गए है. उन्होंने बताया कि लोगों को आगे भी जनता कर्फ्यू के लिए तैयार रहने की जरूरत है.

जनता कर्फ्यू में सभी लोगों की भागीदारी:
सीएम योगी ने कहा कि कोरोना वायरस से बचाव के लिए पीएम नरेंद्र मोदी ने जनता कर्फ्यू का आह्वान किया था. इसमें सभी लोगों की भागीदारी जरूरी है और अपने कर्तव्य का निर्वाहन करें. हमने इसके लिए सभी जरूरी ऐतिहातन कदम उठाएं हैं. उन्होंने कहा कि हमें कोशिश करनी है कि इस तरह के मामले ना बढ़ें और हमें जनता कर्फ्यू जैसे कार्यक्रमों के लिए तैयार रहना होगा. वहीं मैं प्रदेशवासियों से अपील करता हूं कि इस तरह के कार्यक्रम से जुड़े और घबराएं नहीं.

Janta Curfew: जनता कर्फ्यू का पूरे देशभर में असर, सड़कों पर पसरा सन्नाटा, इमरजेंसी सेवा को छोडकर सभी बंद

नहीं होने देंगे आवश्यक वस्तु की कमी:
सीएम गहलोत ने कहा कि हम किसी आवश्यक वस्तु की कमी नहीं होने देंगे, जिसके पास काम नहीं होगा उसे भत्ता मिलेगा. इतना ही नहीं कोरोना की जांच और उपचार निशुल्क कर दिया गया है. हमारे पास अभी 2000 से ज्यादा बैड आइसोलेशन के लिए है और हमारा लक्ष्य इसे 10 हजार करने का है. उन्होंने कहा कि अपने पास कोई भी चीज जमा ना करें और मैं दवा कारोबारियों से आग्राह करूंगा वस्तु को जमा ना करें और वस्तु का दाम ज्यादा ना लें. अगर शिकायत मिलेगी तो सरकार कार्रवाई करेगी. 

एक तरफ लॉक डाउन तो दूसरी तरफ शॉट डाउन: जयपुर के प्रताप नगर में हुई फायरिंग, महिला की मौत

यूपी वाले कर रहे जनता कर्फ्यू का पालन:
गोरखपुर, गाजियाबाद, प्रयागराज, अयोध्या, नोएडा, वाराणसी सहित अन्य शहरों में भी जनता कर्फ्यू का असर देखने को मिला. सुबह-सुबह लोगों की भीड़ से गुलजार रहने वाले पार्को में सन्नाटा पसरा है. अयोध्या में सुबह-सुबह श्रद्धालुओं के रेला दर्शन को उमड़ता था लेकिन आज वहां कोई भी नहीं है. आगरा में भी पूरी तरह से सन्नाटा है. लिहाजा कहा जा सकता है कि यूपी वाले जनता कर्फ्यू की अपील का पूरी तरह से पालन करते नजर आ रहे हैं.

और पढ़ें

Most Related Stories

भारत-चीन के बीच सीमा विवाद पर बोले ट्रंप, कहा- अमेरिका मध्यस्थता करने के लिए तैयार

भारत-चीन के बीच सीमा विवाद पर बोले ट्रंप, कहा- अमेरिका मध्यस्थता करने के लिए तैयार

नई दिल्ली: अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भारत-चीन के बीच सीमा विवाद को लेकर मध्यस्थता की पेशकश की है. ट्रंप ने कहा है कि अमेरिका भारत और चीन के बीच सीमा विवाद के मुद्दे पर मध्यस्थता करने के लिए तैयार है. उन्होंने ट्वीट कर कहा कि हमने भारत और चीन को सूचना दी है कि अमेरिका मध्यस्थता के लिए तैयार है. 

नक्शा विवाद पर एक कदम पीछे हटा नेपाल, संविधान संशोधन की कार्यवाही से प्रस्ताव को हटाया 

ट्रंप भारत और पाकिस्तान के बीच भी मध्यस्थता की बात कर चुके:
इससे पहले भी डोनाल्ड ट्रंप कश्मीर मुद्दे को लेकर भारत और पाकिस्तान के बीच मध्यस्थता की बात कर चुके हैं. हालांकि भारत ने उनके इस प्रस्ताव को ठुकरा दिया था. अब ट्रंप ने चीन के साथ मध्यस्थता की बात कही है.

लद्दाख में चीनी सैनिक और भारतीय सैनिक आमने-सामने: 
गौरतलब है कि इस महीने की शुरुआत से ही लद्दाख में चीनी सैनिक और भारतीय सैनिक आमने-सामने हैं, चीन की ओर से लगातार सैनिकों की संख्या बढ़ाने और बेस बनाने की खबरें आ रही हैं. भारत की तैनाती के बाद गैलवान घाटी में चीन के सैनिक कैंप में चले गए हैं. इससे पहले मंगलवार को पीएम मोदी ने लद्दाख मामले पर पूरी रिपोर्ट ली, इसके अलावा तीनों सेना के प्रमुखों से विकल्प सुझाने के लिए कहा गया.

कल कांग्रेस का महा अभियान, 10 हजार रुपये की मदद सीधे नकद के रूप में देने की मांग- पायलट 

सेना प्रमुख की बैठक:
आज सेनाध्यक्ष मनोज मुकुंद नरवणे ने आर्मी कमांडर्स के साथ बैठक की. इस बैठक में चीन को लेकर भी चर्चा हुई है. ये बैठक इसलिए अहम है क्योंकि इसमें सेना की ऑपरेशनल तैयारियों पर बात हो रही है. इससे पहले मंगलवार को पीएम मोदी ने तीनों सेना के प्रमुखों से विकल्प सुझाने के लिए कहा गया. 
 

कल कांग्रेस का महा अभियान, 10 हजार रुपये की मदद सीधे नकद के रूप में देने की मांग- पायलट

कल कांग्रेस का महा अभियान, 10 हजार रुपये की मदद सीधे नकद के रूप में देने की मांग- पायलट

जयपुर: कल कांग्रेस महाअभियान शुरू करने जा रही है. डिप्टी सीएम सचिन पायलट ने कहा कि कल 11 से 2 बजे तक कांग्रेस के सभी नेता सोशल मीडिया पर बात करेंगे. पायलट ने बताया कि सोशल मीडिया पर 3 प्रमुख मुद्दें उठाये जाएंगे. पायलट ने कहा कि गरीब के हाथ में पैसा नहीं पहुंचा है, हम हर व्यक्ति के खाते में 10 हजार रुपए डालने की केंद्र सरकार से मांग करेंगे. 

नागौर: प्यार में जाति बनी दीवार, प्रेमी युगल ने फांसी लगा जान दी 

कांग्रेस कल देशव्यापी सोशल मीडिया अभियान चलायेगी:
अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी कल देशव्यापी सोशल मीडिया अभियान चलायेगी. प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष और डिप्टी सीएम सचिन पायलट ने कहा कि हर उस व्यक्ति के खाते में 10 हजार रुपये डाले जाने की मांग की जाएगी जो इनकम टैक्स के दायरे में नहीं आते. वर्तमान परिस्थिति में संकट के दौर से गुजर रहे लाखों की संख्या में प्रवासी श्रमिकों, किसानों, संगठित क्षेत्रों के कामगारों, एमएसएमई, छोटे कारोबारियों और दैनिक मजदूरों की आवाज को केन्द्र सरकार तक पहुंचाने के लिये कांग्रेस आवाज बुलंद करेगी. 

नक्शा विवाद पर एक कदम पीछे हटा नेपाल, संविधान संशोधन की कार्यवाही से प्रस्ताव को हटाया 

देशव्यापी ऑनलाईन कैम्पेन में कांग्रेस नेता और कार्यकर्ता शामिल होंगे:
डिप्टी सीएम सचिन पायलट ने न्याय योजना राजस्थान में लागू करने के सवाल पर कहा कि राजस्थान में पेंशन और अनुग्रह राशि लॉक डाउन 1 के समय से ही लोगों के खातों में डाल दी थी. फेसबुक, ट्वीटर, इंस्टाग्राम, यू-ट्यूब तथा अन्य सोश्यल मीडिया माध्यमों से इस देशव्यापी ऑनलाईन कैम्पेन में कांग्रेस नेता और कार्यकर्ता शामिल होंगे.

...फर्स्ट इंडिया के लिए योगेश शर्मा की रिपोर्ट राजस्थान

नागौर: प्यार में जाति बनी दीवार, प्रेमी युगल ने फांसी लगा जान दी

नागौर: प्यार में जाति बनी दीवार, प्रेमी युगल ने फांसी लगा जान दी

नागौर: जिले के सदर थाना इलाके के खरनाल गांव के बाहर प्रेमी युगल ने एक साथ फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. सुबह गांव के बाहर पेड़ पर दोनों के शव लटके देख सनसनी फैल गई. दोनों के अलग-अलग जाति के होने से परिजन शादी के लिए तैयार नहीं थे. दो दिन पूर्व भाकरोद गांव के शक्स ने खींवसर थाने मे अपनी पुत्री की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करवाई गई थी. लेकिन आज प्रेमी यूगल ने पेड़ पर फंदा लगाकर खुदकुशी कर ली.

नक्शा विवाद पर एक कदम पीछे हटा नेपाल, संविधान संशोधन की कार्यवाही से प्रस्ताव को हटाया 

सामाजिक मनमुटाव के चलतें दोनों ने जीवन लीला समाप्त की: 
सदर थाना क्षेत्र के खरनाल गांव में रहने वाले जगदीश जाट और भाकरोद गांव की सुमन कंवर एक दूसरे लम्बे समय से प्यार करते हैं. इससे दोनों के परिवारों में मेल-मिलाप नहीं होने के चलते और सामाजिक मनमुटाव के चलतें दोनों ने जीवन लीला को समाप्त कर लिया. करीब दो साल पहले दोनों में प्रेम-प्रसंग शुरू हुआ था दोनों शादी करना चाहते थे. अलग-अलग जाति के होने से परिजन तैयार नहीं थे. लॉकडाउन में करीब डेढ़ माह पहले मेल मिलाप करने से मना किया. इसके बाद भी दोनों शादी की जिद पर अड़े रहे. उसके बाद पेड़ की एक डाल पर जगदीश जाट और सुमन कंवर ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. सुबह ग्रामीणों ने दोनों के शव पेड़ पर लटके देखें. इससे सनसनी फैल गई. फोरेंसिक टीम के साथ पहुंचे सदर थाना प्रभारी नंद किशोर वर्मा ने जांच शुरू कर दी है.

लॉकडाउन 5 को लेकर दावों और कयासों को गृहमंत्रालय ने किया खारिज, अभी कोई फैसला नहीं 

प्रेम-प्रसंग के चलते फांसी लगाकर आत्महत्या की बात सामने आई:
नागौर के अति पुलिस अधीक्षक रामकुमार कंस्वा ने बताया सदर थाना पुलिस ने शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. प्राथमिक जांच में प्रेम-प्रसंग के चलते फांसी लगाकर आत्महत्या की बात सामने आई है. पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई की जाएगी. वहीं रोल थाना इलाके के सोमना गांव मे सुमन रेगर नाम की विवाहिता ने घरेलू कलह के कारण संदिग्ध परिस्थितियों के चलते सुसाइड कर लिया. दोनों मामलों की जांच जारी है. वहीं सड़क हादसे मे सीकर के व्यापारी की कार अनियंत्रित होकर पलट जाने से मौत हो गई. नागौर जिले के चार जनों का पोस्टमार्टम जवाहरलाल नेहरू अस्पताल में हुआ है. 

नक्शा विवाद पर एक कदम पीछे हटा नेपाल, संविधान संशोधन की कार्यवाही से प्रस्ताव को हटाया

नक्शा विवाद पर एक कदम पीछे हटा नेपाल, संविधान संशोधन की कार्यवाही से प्रस्ताव को हटाया

नई दिल्ली: बीते कुछ दिनों से पड़ोसी देश नेपाल से भारत के रिश्ते अच्छे नहीं चल रहे हैं. कालापनी और लिपुलेख जैसे सीमा विवाद ने दोनो दोनों देशों के रिश्तों में खटास पैदा की है. इसी बीच भारत से  संबंधों में आए दरार के बीच नेपाल ने एक कदम पीछे हटाया है.

लॉकडाउन 5 को लेकर दावों और कयासों को गृहमंत्रालय ने किया खारिज, अभी कोई फैसला नहीं 

ऐन वक्त पर संसद की कार्यसूची हटाया: 
दरअसल, नेपाल की संसद में आज नए नक्शे को देश के संविधान में जोड़ने के लिए संविधान संशोधन का प्रस्ताव रखा जाना था. लेकिन नेपाल सरकार ने ऐन वक्त पर संसद की कार्यसूची से आज संविधान संशोधन की कार्यवाही को हटा दिया. यह नेपाल के सत्तापक्ष‌ और प्रतिपक्षी दल दोनों की आपसी सहमति से हुआ है. 

नेपाल के प्रधानमंत्री ने बुलाई थी सर्वदलीय बैठक:
इससे पहले मंगलवार को नेपाल के प्रधानमंत्री पी शर्मा ओली ने नए नक्शे वाले मुद्दे पर राष्ट्रीय सहमति बनाने के लिए सर्वदलीय बैठक बुलाई थी. इस दौरान सभी दल के नेताओंने भारत के साथ बातचीत कर मुद्दे को सुलझाने का सुझाव दिया था. भारतीय विदेश मंत्रालय ने नेपाल से बातचीत के लिए माहौल बनाने की मांग की थी. ऐसे मं नेपाल ने नए नक्शे को संसद में पेश नहीं करके कूटनीतिक रूप से परिपक्वता का उदाहरण दिया है. 

Coronavirus: राहुल गांधी ने हेल्थ एक्सपर्ट से पूछा भईया बताइए कि वैक्सीन कब तक आएगी? मिला ये जवाब  

यह है मामला:
बता दें कि 8 मई को भारत ने उत्तराखंड के लिपुलेख से कैलाश मानसरोवर के लिए सड़क का उद्घाटन किया था. इसको लेकर नेपाल ने कड़ी आपत्ति जताई थी. इसके बाद नेपाल ने नया राजनीतिक नक्शा जारी करने का फैसला किया था और इसमें भारत के कालापानी, लिपुलेख और लिम्पियाधुरा क्षेत्रों को भी अपना बताकर दिखाया है.
 

लॉकडाउन 5 को लेकर दावों और कयासों को गृहमंत्रालय ने किया खारिज, अभी कोई फैसला नहीं

लॉकडाउन 5 को लेकर दावों और कयासों को गृहमंत्रालय ने किया खारिज, अभी कोई फैसला नहीं

नई दिल्ली: 31 मई के बाद भी कोरोना वायरस संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए लॉकडाउन जारी रहने को लेकर तरह-तरह की अटकलें लगाई जा रही है. इसी बीच लॉकडाउन 5 को लेकर दावों और कयासों को केंद्र सरकार ने खारिज कर दिया है. लॉकडाउन 5 की खबर को गृहमंत्रालय ने गलत ठहराते हुए कहा है कि इसमें किए गए सभी दावे केवल कयास हैं. 

Rajasthan Corona Updates: दोपहर 2 बजे तक दर्ज हुए 144 नए पॉजिटिव केस, जिलेवार जाने आंकड़े 

पहले सामने आई थी ये जानकारी:
इससे पहले मीडिया में यह जानकारी सामने आई थी कि पीएम मोदी 'मन की बात' में लॉकडाउन 5.0 पर चर्चा कर सकते हैं. इस बार देश के ज्यादातर हिस्सों में पाबंदियों में छूट मिलने की संभावना है. लॉकडाउन 5.0 में 11 शहरों पर ज्यादा जोर रहेगा. इनमें दिल्ली, मुंबई, ठाणे, बेंगलुरु, पुणे, इंदौर, चेन्नई, जयपुर, सूरत, कोलकाता और अहमदाबाद शामिल है. वहीं लॉकडाउन 5.0 में धार्मिक स्थल खोलने पर भी विचार किया जा रहा है. इसके साथ कंटेनमेंट जोन को छोड़कर जिम खोलने की मंजूरी भी मिल सकती है. लेकिन गृहमंत्रालय के जारी बयान के बाद अब इन कयासों पर विराम लग गया है. 

Weather Update: राजस्थान में भीषण गर्मी से आंशिक राहत मिलने की संभावना, इन 15 जिलों में होगी हल्की बारिश! 

देश में बीते 25 मार्च से लॉकडाउन जारी: 
बता दें कि कोरोना के प्रकोप को फैलने से रोकने के लिए देश में बीते 25 मार्च से लॉकडाउन (Lockdown) जारी है. लॉकडाउन का चौथा फेज 31 मई को पूरा हो रहा है. देश में कोरोना वायरस संक्रमितों की संख्या इस समय देश में 151767 है. इनमें से 64425 लोग ठीक होकर घर लौट चुके हैं और 4337 लोगों की मौत हुई है.

राजधानी में बढ़ा कोरोना की जांच का दायरा, JNU इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस एंड रिसर्च सेंटर में कोरोना जांच शुरू

राजधानी में बढ़ा कोरोना की जांच का दायरा, JNU इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस एंड रिसर्च सेंटर में कोरोना जांच शुरू

जयपुर: प्रदेश में कोरोना की जांच का दायरा बढ़ता जा रहा है. सरकारी क्षेत्र ही नहीं, निजी चिकित्सा संस्थान भी इसमें बढ़चढ़कर भागीदारी निभा रहे हैं. राजधानी जयपुर की बात की जाए तो यहां आज से JNU इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस एंड रिसर्च सेंटर में कोरोना की जांच प्रक्रिया शुरू हो गई. सूबे के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने वीडियो कांफ्रेस के जरिए मॉड्यूर लैब की शुरूआत की. इस मौके पर चिकित्सा मंत्री डॉ रघु शर्मा, चिकित्सा राज्य मंत्री डॉ सुभाष गर्ग, एसीएस मेडिकल रोहित कुमार सिंह, चिकित्सा शिक्षा सचिव वैभव गालरिया समेत अन्य अधिकारी भी वीसी के जरिए कार्यक्रम से जुडें.

Lockdown: 2 और हफ्तों के लिए बढ़ाया जा सकता है लॉकडाउन, इन 11 शहरों पर रहेगा जोर 

सरकार के द्वारा भेजे गए सैम्पल की निशुल्क जांच की जाएगी: 
कार्यक्रम में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने जेएनयू के चांसलर संदीप बख्शी को कोरोना काल के इस कठिन समय में सरकार का साथ देने के लिए शुक्रिया कहा. बख्शी ने बताया कि आईसीएमआर की गाइडलाइन के हिसाब से ही जांच की दर तय की गई है. हालांकि, सरकार के द्वारा भेजे गए सैम्पल की निशुल्क जांच की जाएगी. यहां बता दें कि इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च ने जेएनयू को कोरोना जांच की हाल ही में अनुमति दी है. निजी क्षेत्र में अब महात्मा गांधी, बी.लाल, दुर्लभजी के बाद JNU चौथा संस्थान है, जहां कोरोना की जांच को अनुमति दी गई है. 

Rajasthan Corona Updates: दोपहर 2 बजे तक दर्ज हुए 144 नए पॉजिटिव केस, जिलेवार जाने आंकड़े 

Rajasthan Corona Updates: दोपहर 2 बजे तक दर्ज हुए 144 नए पॉजिटिव केस, जिलेवार जाने आंकड़े

Rajasthan Corona Updates: दोपहर 2 बजे तक दर्ज हुए 144 नए पॉजिटिव केस, जिलेवार जाने आंकड़े

जयपुर: राजस्थान में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में लगातार इजाफा होता जा रहा है. प्रदेश में आज स्वास्थ्य विभाग की दोपहर 2 बजे तक की रिपोर्ट में 144 नए पॉजिटिव मामले सामने आए हैं. इसमें सर्वाधिक 64 पॉजिटिव केस अकेले झालावाड़ में सामने आए हैं. इसके अलावा भरतपुर 8, भीलवाड़ा 1, बीकानेर 1, दौसा 1, डूंगरपुर 1, जयपुर 15, झुंझुनूं 2, जोधपुर 13, करौली 1, कोटा में 18, नागौर में 12 और सीकर में 7 पॉजिटिव केस सामने आए. ऐसे में अब प्रदेश में पॉजिटिव मरीजों की संख्या बढ़कर 7680 पहुंच गई है. वहीं प्रदेश में आज जयपुर में दो लोगों की मौत होने से मृतकों की संख्या भी बढ़कर 172 हो गई है. 

Lockdown: 2 और हफ्तों के लिए बढ़ाया जा सकता है लॉकडाउन, इन 11 शहरों पर रहेगा जोर 

मंगलवार को प्रदेश में 236 नए पॉजिटिव केस सामने आए:
इससे पहले मंगलवार को प्रदेश में 236 नए पॉजिटिव केस सामने आए. इसमें सर्वाधिक 32 केस अकेले जयपुर में सामने आये है. इसके अलावा अजमेर में 2, बाड़मेर में 4, भरतपुर में 2, भीलवाड़ा में 9, बीकानेर में 7, चित्तौड़गढ़ में 4, दौसा में 1, धौलपुर में 2, डूंगरपुर में 12, गंगानगर 1, झालावाड़ 12, झुंझुनूं 5, जोधपुर 7, कोटा 10, नागौर 13, पाली 23, प्रतापगढ़ 1, राजसमंद 11, सवाई माधोपुर 1, सीकर 25, सिरोही 27, उदयपुर 25 केस सामने आये है. 

Coronavirus: राहुल गांधी ने हेल्थ एक्सपर्ट से पूछा भईया बताइए कि वैक्सीन कब तक आएगी? मिला ये जवाब  

Lockdown: 2 और हफ्तों के लिए बढ़ाया जा सकता है लॉकडाउन, इन 11 शहरों पर रहेगा जोर

Lockdown: 2 और हफ्तों के लिए बढ़ाया जा सकता है लॉकडाउन, इन 11 शहरों पर रहेगा जोर

नई दिल्ली: दुनियाभर के साथ भारत में इस समय कोरोना वायरस महामारी कहर बढ़ता ही जा रहा है. कोरोना के प्रकोप को फैलने से रोकने के लिए देश में बीते 25 मार्च से लॉकडाउन (Lockdown) जारी है. लॉकडाउन का चौथा फेज 31 मई को पूरा हो रहा है. ऐसे में रोजोना बढ़ते मामलों के चलते देश में 2 और हफ्तों के लिए लॉकडाउन बढ़ाया जा सकता है. 

Coronavirus: राहुल गांधी ने हेल्थ एक्सपर्ट से पूछा भईया बताइए कि वैक्सीन कब तक आएगी? मिला ये जवाब  

'मन की बात' में लॉकडाउन 5.0 पर चर्चा कर सकते PM मोदी:
सूत्रों से मिल रही जानकारी के अनुसार पीएम मोदी 'मन की बात' में लॉकडाउन 5.0 पर चर्चा कर सकते हैं. लेकिन इस बार देश के ज्यादातर हिस्सों में पाबंदियों में छूट मिलने की संभावना है. लॉकडाउन 5.0 में 11 शहरों पर ज्यादा जोर रहेगा. इनमें दिल्ली, मुंबई, ठाणे, बेंगलुरु, पुणे, इंदौर, चेन्नई, जयपुर, सूरत, कोलकाता और अहमदाबाद शामिल है. वहीं लॉकडाउन 5.0 में धार्मिक स्थल खोलने पर भी विचार किया जा रहा है. इसके साथ कंटेनमेंट जोन को छोड़कर जिम खोलने की मंजूरी भी मिल सकती है. 

2022 तक T20 वर्ल्ड कप का टलना तय, कल ICC की बैठक में औपचारिक घौषणा संभव 

लॉकडाउन की समीक्षा हर 14 दिन में की जाएगी:
सूत्रों के हवाले से इकोनॉमिक टाइम्स ने एक रिपोर्ट में बताया है कि लॉकडाउन की समीक्षा हर 14 दिन में की जाएगी, जब तक कि सभी प्रतिबंधों को नहीं हटा लिया जाता. ऐसी चर्चा है कि सरकार 31 मई के बाद लॉकडाउन आगे बढ़ने की स्थिति में राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को छूट और प्रतिबंध तय करने का अधिकार दे सकती है.  हालांकि, राष्ट्रीय स्तर के निर्देश पहले की तरह गृह मंत्रालय ही जारी करेगा. 
 

Open Covid-19