सीएम योगी आदित्यनाथ बोले, पीड़ित की संतुष्टि ही पुलिस की सफलता का मानक

सीएम योगी आदित्यनाथ बोले, पीड़ित की संतुष्टि ही पुलिस की सफलता का मानक

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने शनिवार को कहा कि पीड़ित की संतुष्टि ही पुलिस की सफलता का मानक है और सिपाही से लेकर पुलिस महकमे के मुखिया को इसी भावना के साथ काम करना चाहिए. मुख्‍यमंत्री ने एक कार्यक्रम में उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित राज्य-प्रवर अधीनस्थ सेवा परीक्षा-2018 में चयनित पुलिस उपाधीक्षकों को नियुक्ति पत्र वितरित करने के बाद अपने संबोधन में कहा कि इन पुलिस उपाधीक्षकों की भर्ती पूरी पारदर्शिता और ईमानदारी से हुई है और राज्य सरकार द्वारा प्रदेश में की जाने वाली सभी भर्तियों में पूरी पारदर्शिता बरती जा रही है.

पुलिस का काम आम जनता से सीधे जुड़ा:

मुख्यमंत्री ने कहा कि पुलिस का काम आम जनता से सीधे जुड़ा रहता है और उनकी समस्याओं का समाधान करना होता है. यदि आम आदमी की शिकायतों का त्वरित और न्याय संगत समाधान हो जाए, जिससे शिकायतकर्ता को संतुष्टि मिले तो लोगों के मन में पुलिस के प्रति विश्वास जगता है. उन्‍होंने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार ने अपराध एवं अपराधियों के प्रति जीरो टॉलरेंस की नीति प्रभावी ढंग से लागू की है और आज सामान्य नागरिक पुलिस को सम्मान के भाव से देखता है.


 

अधिकारियों के मन में नहीं होनी चाहिए संशय और अनिश्चितता:

योगी ने कहा कि अधिकारियों के मन में संशय और अनिश्चितता नहीं होनी चाहिए, उन्हें निर्णय लेने की क्षमता विकसित करनी होगी. साथ ही, अनुशासित भी रहना होगा. पुलिस उपाधीक्षक के रूप में जिलों में कार्य करने पर इन सफल अभ्यर्थियों को स्वयं को साबित करने का अवसर मिलेगा. उन्होंने चयनित अभ्यर्थियों को शुरुआत में ही अपने लक्ष्य निर्धारित कर ईमानदारी और लगन से काम करने का सुझाव दिया और कहा कि ईमानदार अधिकारी तेजी से उन्नति करते हैं.

महिला सशक्तिकरण में अपना सक्रिय योगदान:

उन्होंने पुलिस उपाधीक्षकों के रूप में चयनित महिला अधिकारियों को सम्बोधित करते हुए कहा कि वे बहुत अच्छा कार्य कर सकती हैं और महिला सशक्तिकरण में अपना सक्रिय योगदान दे सकती हैं. मुख्यमंत्री ने कहा कि पुलिस अधिकारियों को अपनी वर्दी का सम्मान करना चाहिए और अपनी ईमानदारी और सत्यनिष्ठा से कोई समझौता नहीं करना चाहिए तथा अपराधियों के प्रति ‘जीरो टॉलरेंस’ की नीति अपनानी चाहिए. कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने कहा कि पुलिस का कार्य कठिन और दुरूह होता है और अच्छा अधिकारी वही है, जिसमें विनम्रता और दृढ़ता हो. (भाषा)

और पढ़ें