सीएम योगी आदित्यनाथ बोले, पूरे विश्व में फैल रही है काला नमक चावल की महक 

सीएम योगी आदित्यनाथ बोले, पूरे विश्व में फैल रही है काला नमक चावल की महक 

सीएम योगी आदित्यनाथ बोले, पूरे विश्व में फैल रही है काला नमक चावल की महक 

सिद्धार्थनगर/लखनऊ: उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने शनिवार को कहा कि एक जिला-एक उत्‍पाद योजना (ओडीओपी) में आने के बाद काला नमक धान की बुवाई काफी बढ़ गई और इस धान की खेती का क्षेत्रफल बढ़कर लगभग पांच हजार हेक्टेयर हो गया है. उन्होंने कहा कि ओडीओपी योजना के तहत चुने गये काला नमक चावल की महक आज पूरे विश्व में फैल रही है.

शनिवार को मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने अपने पांच कालिदास मार्ग स्थित सरकारी आवास से वर्चुअल माध्‍यम से सिद्धार्थनगर में आयोजित काला नमक चावल महोत्सव का दीप प्रज्ज्वलन कर शुभारम्भ करने के बाद कहा कि आजादी के पहले सिद्धार्थनगर और आसपास के क्षेत्रों में 22 हजार हेक्टेयर क्षेत्र में काला नमक धान की फसल होती थी किंतु समय के साथ इसका उत्पादन काफी कम हो गया था और अब ओडीओपी योजना के तहत आने के बाद इसकी बुआई बढ़ गयी है.

उन्‍होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा लागू की गई एक जिला एक उत्पाद योजना के तहत वर्ष 2018 में काला नमक चावल को सिद्धार्थनगर जिले के उत्पाद के रूप में शामिल किया गया. इस योजना के तहत इसकी मार्केटिंग और ब्रांडिंग के लिए मंच उपलब्ध हो सका और आज यह चावल देश और दुनिया में विख्यात हुआ है. मुख्यमंत्री ने कहा कि काला नमक चावल के उत्पादन को बढ़ावा देने के उद्देश्य से हमें स्थानीय मार्केट और मंडी पर ध्यान देना होगा. 

काला नमक चावल महोत्सव सिद्धार्थनगर के साथ-साथ नेपाल से जुड़े प्रदेश के तराई क्षेत्रों के लिए भी लाभदायक होगा. उन्‍होंने कहा कि इस क्षेत्र में काला नमक चावल को और अधिक प्रोत्साहन देने के दृष्टिगत सिद्धार्थनगर में एक जिला-एक उत्पाद योजना के अन्तर्गत 6.39 करोड़ रुपये की लागत से साझा सुविधा केंद्र (सीएफसी) का निर्माण कराया जा रहा है.

सिद्धार्थनगर से मिली खबर के अनुसार कपिलवस्तु की धरोहर काला नमक को कपिलवस्तु महोत्सव का सूत्रधार बनाया गया. सिद्धार्थनगर जिले के बीएसए ग्राउंड में शनिवार दोपहर कपिलवस्तु महोत्सव व काला नमक महोत्सव का शुभारंभ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने वर्चुअल माध्‍यम से किया. इस अवसर पर स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह ने बताया कि इस चावल की खुशबू देश-विदेश तक पहुंचाने के लिए इसे ओडीओपी के तहत चुना गया है जिससे इसके उत्पादकों को बेहतर लाभ मिल सके. इस कार्यक्रम को सांसद जगदंबिका पाल ने भी संबोधित किया.

और पढ़ें