Live News »

CAA प्रदर्शनकारियों की मौत पर बोले सीएम योगी, मरने वाले सभी लोग दंगाइयों की गोली से मारे गए

CAA प्रदर्शनकारियों की मौत पर बोले सीएम योगी, मरने वाले सभी लोग दंगाइयों की गोली से मारे गए

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के बयान से विवाद खड़ा हो गया है. योगी ने नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के विरोध में हुए प्रदर्शन के दौरान मारे गए लोगों पर कहा कि अगर कोई मरने के लिए आ ही रहा है तो वो जिंदा कहां से हो जाएगा. सीएए के विरोध में दिसंबर में राज्यभर में प्रदर्शन हुए थे. इस दौरान, कुछ जगहों पर हिंसा भी हुई.

संजय हेगड़े ने सुनाया सुप्रीम कोर्ट का फैसला, कहा-किसी को रास्ता रोकने का नहीं है अधिकार 

मरने वाले सभी लोग दंगाइयों की गोली से मारे गए:
उत्तर प्रदेश ने कहा था कि सीएए के विरोध में हुए हिंसक प्रदर्शन में 22 लोगों की मौत हुई थी. सीएम आदित्यनाथ ने राज्य विधानसभा को संबोधित करते हुए कहा कि पुलिस की गोली से कोई नहीं मारा गया. मरने वाले सभी लोग दंगाइयों की गोली से मारे गए हैं. यदि कोई लोगों को निशाना बनाने के इरादे से सड़क पर उतरता है तो या तो वे मरता है या फिर पुलिसकर्मी मरता है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दावा किया कि उनकी सरकार प्रदर्शनकारियों के खिलाफ नहीं है लेकिन हिंसा में लिप्त लोगों पर सख्ती बरती जाएगी.

Budget 2020: गहलोत सरकार के बजट पर टिकी प्रदेशवासियों की निगाहें, सभी वर्गों की उम्मीदें परवान पर

उपद्रव करने वालों के खिलाफ कार्रवाई:

उन्होंने कहा कि मुझे आश्चर्य है... मैंने हमेशा कहा कि हम किसी भी तरह के लोकतांत्रिक प्रदर्शन का समर्थन करेंगे लेकिन यदि कोई लोकतंत्र की आड़ में माहौल खराब करता है. हिंसा करता है... वो जिस भाषा में समझेगा, उसे भाषा में समझाएंगे." गौरतलब है कि नागरिकता कानून को लेकर उत्तर प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में जमकर विरोध प्रदर्शन हुआ. इस दौरान कई जगह सार्वजनिक संपत्तियों को भी नुकसान पहुंचाई गई। योगी सरकार ने उपद्रवियों को चिह्नित कर उनके खिलाफ कार्रवाई की पहल की. कई लोगों को नोटिस भेज गए और नुकसान की भरपाई करने के लिए कहा गया.

और पढ़ें

Most Related Stories

वीडियो कॉफ्रेंसिंग के जरिए यूपी कैबिनेट की बैठक, विधायक निधि और वेतन में कटौती के प्रस्ताव पर हुई चर्चा

 वीडियो कॉफ्रेंसिंग के जरिए यूपी कैबिनेट की बैठक, विधायक निधि और वेतन में कटौती के प्रस्ताव पर हुई चर्चा

लखनऊ: यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को वीडियो कॉफ्रेंसिंग के जरिए कैबिनेट की बैठक की. बैठक में कोरोना वायरस से निपटने के लिए योगी सरकार ने भी एक वर्ष के लिए विधायकों के वेतन में 30 प्रतिशत कटौती और एक साल के लिए विधायक निधि खत्म करने का फैसला किया है. इस दौरान विधायक निधि और वेतन में कटौती के प्रस्ताव पर चर्चा हुई. कटौती के बजट का इस्तेमाल कोरोनावायरस से लड़ने में किया जाएगा. इससे पूर्व हिमाचल प्रदेश सरकार भी विधायकों के वेतन में कटौती का फैसला चुकी है.

योगी सरकार का बड़ा फैसला:
उत्तर प्रदेश में कोरोना पॉजिटिव की बढ़ती संख्या को देखते हुए योगी सरकार ने बड़ा फैसला लिया है. दरअसल, मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए प्रदेश के 15 जिलों को रात 12 बजे से पूरी तरह सील करने का निर्णय लिया है. इन जिलों में कोई भी आवाजाही नहीं होगी. यहां तक की सामानों की होम डिलिवरी होगी. यूपी में अब तक संक्रमितों की संख्या बढ़कर 350 हो गई है. 

सुप्रीम कोर्ट की तर्ज पर राजस्थान हाईकोर्ट में भी अब फाईलिंग, संभवतया सभी प्रकार के केसों की फाईलिंग करने वाला बना पहला हाईकोर्ट

ये जिले हुए सील:
कोरोना वायरस के प्रकोप को देखते हुए यूपी के वाराणसी, लखनऊ, महराजगंज, बस्ती, बुलंदशहर, नोएडा, गाज़ियाबाद, शामली, कानपुर, सीतापुर, मेरठ, सहारनपुर, आगरा, फ़िरोज़ाबाद और बरेली जिले की सीमाएं पूरी तरह सील कर दी गई है. अब ना यहां पर कोई आएगा, ना ही यहां से कोई बाहर जा पाएगा.

कर्फ्यू पास नहीं होंगे जारी:
इस दौरान आवश्यक सेवाओं को छोड़कर किसी को कर्फ्यू पास जारी नहीं होंगे. जरूरी सेवाओं के अलावा किसी को भी घर से निकलने की इजाजत नहीं होगी. इन जिलों के बॉर्डर पूरी तरह सील कर दिए जाएंगे. मीडियाकर्मियों की एंट्री बैन करने पर भी विचार हो रहा है. विशेष परिस्थिति में ही इजाजत दी जाएगी.

Coronavirus Updates: नहीं थम रहा देशभर में कोरोना पॉजिटिव मरीजों का आंकड़ा, संक्रमित लोगों की संख्या हुई 5274

Corona Update: यूपी के 15 जिले आज रात 12 बजे से पूरी तरह से होंगे सील, आवश्यक सामानों की होगी होम डिलिवरी

Corona Update: यूपी के 15 जिले आज रात 12 बजे से पूरी तरह से होंगे सील, आवश्यक सामानों की होगी होम डिलिवरी

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में कोरोना पॉजिटिव की बढ़ती संख्या को देखते हुए योगी सरकार ने बड़ा फैसला लिया है. दरअसल, मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए प्रदेश के 15 जिलों को रात 12 बजे से पूरी तरह सील करने का निर्णय लिया है. इन जिलों में कोई भी आवाजाही नहीं होगी. यहां तक की सामानों की होम डिलिवरी होगी. यूपी में अब तक संक्रमितों की संख्या बढ़कर 350 हो गई है. 

राजस्थान युवा कांग्रेस चुनाव में गहराया विवाद, अब अमरदीन फकीर ने खड़े किये सवाल 

इन जिलों को किया जाएगा सील:
वाराणसी, लखनऊ, महराजगंज, बस्ती, बुलंदशहर, नोएडा, गाज़ियाबाद, शामली, कानपुर, सीतापुर, मेरठ, सहारनपुर, आगरा, फ़िरोज़ाबाद और बरेली. 

VIDEO: मई-जून के लिए ट्रेनों में 60 फीसदी तक बुक हुई सीटें, रेलवे को एक साथ भीड़ होने से संक्रमण फैलने का डर 

आवश्यक सेवाओं को छोड़कर किसी को कर्फ्यू पास जारी नहीं होंगे:
इस दौरान आवश्यक सेवाओं को छोड़कर किसी को कर्फ्यू पास जारी नहीं होंगे. जरूरी सेवाओं के अलावा किसी को भी घर से निकलने की इजाजत नहीं होगी. इन जिलों के बॉर्डर पूरी तरह सील कर दिए जाएंगे. मीडियाकर्मियों की एंट्री बैन करने पर भी विचार हो रहा है. विशेष परिस्थिति में ही इजाजत दी जाएगी.


 

यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ बोले, कोरोना से निपटने के लिए सरकार कर रही है काम, सभी मेडिकल कॉलेज में होगी टेस्टिंग सुविधा मुहैया

यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ बोले, कोरोना से निपटने के लिए सरकार कर रही है काम, सभी मेडिकल कॉलेज में होगी टेस्टिंग सुविधा मुहैया

लखनऊ: देशभर में कोरोना पॉजिटिव मामले लगातार बढ़ रहे है. कोरोना मरीजों का आंकड़ा 4 हजार पार कर गया है. अगर बात करे देश के उत्तर प्रदेश की, तो यहां पर भी लगातार कोरोना के मामले बढ़ रहे है. इसी के तहत यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने जानकारी दी.सीएम योगी ने कहा कि उत्तर प्रदेश में अभी भी कोरोना के 308 मामले हैं.

कोरोना की टेस्टिंग सुविधा नहीं:
योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सरकार निरंतर काम कर रही है. यूपी के अंदर 24 मेडिकल कॉलेज हैं. 14 मेडिकल कॉलेज ऐसे भी हैं जहां कोरोना की टेस्टिंग सुविधा नहीं है. यहां कोविड जांच के लिए सुविधा हो इसका निर्देश दिया गया है. सीएम योगी ने कहा कि प्रदेश की सभी मेडिकल कॉलेज में टेस्टिंग सुविधा मुहैया कराई जाएगी. 

Coronavirus Updates: देश में लगातार बढ़ रहे है कोरोना के मामले, पॉजिटिव मरीजों का आंकड़ा पहुंचा 4 हजार पार, अब तक 114 लोगों की मौत

कोरोना के खिलाफ उपकरणों की आवश्यकता:
यूपी सरकार ने कोरोना वायरस के खिलाफ यूपी कोविड केयर फंड की स्थापना की है. इसके फंड का प्रयोग राज्य में टेस्टिंग सुविधा बढ़ाने में किया जाएगा. सीएम योगी ने कहा कि कोरोना के खिलाफ जिन उपकरणों की आवश्यकता है. जैसे पीपीई, N95 मास्क, थ्री लेयर मास्क, इन सबको बनाने का काम लगातार हो रहा है. यूपी सरकार ने कहा कि हम लोगों ने निर्णय लिया है कि सभी डिस्ट्रिक हॉस्पिटल में कोरोना टेस्टिंग लैब की स्थापना करेंगे. हमने इसके लिए एक समिति का गठन किया है.

कोविड-19 संकट के बीच रेलवे की बड़ी पहल, रेलवे प्रशासन संचालित करेगा स्पेशल ट्रेन

सिंगर कनिका कपूर अस्पताल से हुई डिस्चार्ज, छठी रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद किया डिस्चार्ज

सिंगर कनिका कपूर अस्पताल से हुई डिस्चार्ज, छठी रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद किया डिस्चार्ज

लखनऊ: बॉलीवुड गायिका कनिका कपूर को अस्पताल से छुट्टी मिल गई. गायिका कनिका कपूर की छठवीं रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद उन्‍हें अस्पताल से छुट्टी दे ​दी गई. फिलहाल कनिका कपूर को 14 दिनों तक अपने घर में क्‍वारेंटाइन रहने के निर्देश दिए गए है. इससे पहले बॉलीवुड गायिका कनिका कपूर की पांचवीं रिपोर्ट भी नेगेटिव आई थी. कनिका कपूर का लखनऊ के अस्पताल में इलाज चल रहा था. 

सीएम गहलोत के निर्देश, लॉकडाउन और कर्फ्यू की सख्ती से कराये पालना, अफवाह फैलाने पर हो कार्रवाई

लंदन से 9 मार्च को लौटी थी कनिका:
आपको बता दें कि बॉलीवुड गायिका 9 मार्च को लंदन से मुंबई पहुंची थी. उन्होंने मुंबई आने के बाद खुद के कोरोना पॉजिटिव होने की बात छुपाई थी. लेकिन तबियत खराब होने के बाद उन्होनें 20 मार्च को खुद के कोरोना पॉजिटिव होने की बात सार्वजनिक की. 

हनुमान मंदिर में चोरी की वारदात, अज्ञात चोर ने 2 दानपात्र और 13 चांदी के छत्र चुराए

लापरवाही बरतने के लगे आरोप:
इसके बाद उनपर खुद के कोरोना पॉजिटिव होने की खबर छुपाने और लापरवाही बरतने के आरोप लगने लगे थे. हालांकि, कनिका कपूर का कहना है कि जब वे भारत वापस लौटी. जब देश में सेल्फ आईसोलेशन जैसी कोई व्यवस्था लागू नहीं हुई थी. इसके बाद लगातार 4 कोरोना टेस्ट में वो संक्रमण से पॉजिटिव पाई गई थीं.

UP Corona Update: कोरोना वायरस से वाराणसी में पहली मौत, गौतमबुद्धनगर में 30 अप्रैल तक धारा 144 लागू

UP Corona Update: कोरोना वायरस से वाराणसी में पहली मौत, गौतमबुद्धनगर में 30 अप्रैल तक धारा 144 लागू

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमितों की संख्या में लगातार इजाफा होता जा रहा है. तब्लीगी जमात में शामिल हुए लोगों के कारण प्रदेश में तजी से संक्रमण का आंकड़ा बढ़ता ही जा रहा है. आज सुबह से अब तक  33 नए मरीजों में संक्रमण की पुष्टि हुई है. इसी के साथ कुल संक्रमित मरीजों की संख्या 286 हो गई है. 

15 अप्रैल से चलेंगी ट्रेनें! रेलवे प्रशासन ने शुरू की संचालन की तैयारी 

कोरोना से संक्रमित मरीज की मौत के बाद पॉजिटिव आई रिपोर्ट:
वहीं वाराणसी में कोरोना के चलते पहली मौत की खबर सामने आई है. तीन अप्रैल को कोरोना के जिस संक्रमित मरीज की मौत हो गई थी उनकी रिपोर्ट आज पॉजिटिव आई है. इसी के साथ एक महिला पॉजिटिव पाई गई है जिसे देखते हुए 4 इलाकों मदनपुरा, बजरडीहा, लोहता और गंगापुर में कर्फ्यू लगा दिया गया है. 

गौतमबुद्धनगर जिले में धारा 144 की अवधि को 30 अप्रैल तक:
इसके साथ ही कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए गौतमबुद्धनगर जिले में धारा 144 की अवधि को 30 अप्रैल तक के लिए बढ़ा दिया गया है. पहले इसे 5 अप्रैल के तक के लिए लागू किया गया था. लेकिन कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए धारा 144 को 30 अप्रैल तक के लिए बढ़ाया गया है. 

मथुरा में 23 जमातियों की रिपोर्ट निगेटिव:
इन सबके अलावा सुखद खबर यह है कि दिल्ली के तब्लीगी जमात से मथुरा लौटे कुल 30 जमातियों में से 23 की रिपोर्ट निगेटिव आई है. स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि 7 जमातियों की रिपोर्ट आनी बाकी है.

VIDEO: कोरोना को लेकर SMS मेडिकल कॉलेज में बड़ी खलबली! कैंटीन में कार्यरत मिला कोरोना पॉजिटिव 

प्रदेश में दीये जलाने की तैयारियां:
पीएम नरेंद्र मोदी के आह्वान के बाद रात नौ बजे दीये-मोमबत्ती जलाने के लिए प्रदेश के लोगों ने भी तैयारियां शुरू कर दी हैं. कोरोना के खिलाफ जंग में ताजनगरी के मुस्लिम समाज के लोगों ने भी घरों में दीये, मोमबत्ती और टॉर्च जालने की तैयारी कर ली है. 

राहुल गांधी ने अमेठी में भेजे सेनिटाइजर और मास्क, कांग्रेस कार्यकर्ता कर रहे है वितरित

राहुल गांधी ने अमेठी में भेजे सेनिटाइजर और मास्क, कांग्रेस कार्यकर्ता कर रहे है वितरित

अमेठी: उत्तर प्रदेश के अमेठी में सेनिटाइजर, मास्क और साबुन का वितरण शुरू किया गया. कांग्रेस नेता राहुल गांधी के निर्देश के बाद अमेठी में सेनिटाइजर वितरित हुआ. राहुल गांधी ने 12 हजार सेनिटाइजर, 20 हजार मास्क और 10 हजार साबुन का वितरण जिला कांग्रेस कमेटी के माध्यम शुरू करा दिया है. यह जानकारी अमेठी जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष प्रदीप सिंघल ने दी. 

Rajasthan Corona Update: राजस्थान में कुल आंकड़ा पहुंचा 206, कोरोना की चपेट में आने से अब तक 4 लोगों ने गंवाई जान

जरूरतमंदों को कराया अनाज उपलब्ध:
कोरोना वायरस से बचाव के लिए पूरे देशभर में लॉकडाउन है, ऐसे में अमेठी क्षेत्र में कोई भूखा नहीं रहे. इसलिए राहुल गांधी ने पिछले दिनों अमेठी के जरूरतमंद लोगों को भोजन सामग्री पहुंचाई. पिछले दिनों राहुल गांधी ने अमेठी के जरूरतमंद लोगों की मदद के लिए एक ट्रक गेहूँ और एक ट्रक चावल भेजा था.

Lockdown: भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनियां ने शुरू की सहयोग किचन, जरूरतमंदों के घर पहुंच रहा है भोजन

नर्सों के साथ अभद्रता करने वाले जमातियों पर NSA लगाने का आदेश, CM योगी बोले- ये मानवता के दुश्मन, छोड़ेंगे नहीं

नर्सों के साथ अभद्रता करने वाले जमातियों पर NSA लगाने का आदेश, CM योगी बोले- ये मानवता के दुश्मन, छोड़ेंगे नहीं

लखनऊ: सीएम योगी आदित्यनाथ ने नर्सों की अभद्रता के बाद बड़ा फैसला लिया है. गाजियाबाद के जिला एमएमजी अस्पताल में हुई घटना के बाद आरोपियों पर रासुका (NSA) लगाने का आदेश दिया है. ग़ाज़ियाबाद की घटना पर यूपी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि ये ना क़ानून को मानेंगे, ना व्यवस्था को मानेंगे, ये मानवता के दुश्मन हैं, इसके साथ ही उन्होंने कहा कि महिला स्वास्थ्यकर्मियों के साथ जो किया है, वह जघन्य अपराध है और इन पर रासुका (एनएसए) लगाया जा रहा है. हम इन्हें छोड़ेंगे नहीं. 

Rajasthan Corona Update: राजस्थान में कोरोना पॉजिटिव का आंकड़ा पहुंचा 161, उदयपुर में तीन नए मरीज आए सामने 

तबलीगी जमात के लोगों के लिए अब केवल पुरूष कर्मचारी ही तैनात रहेंगे:
इसके साथ तबलीगी जमात के लोगों की चिकित्सा और सुरक्षा में महिला स्वास्थ्यकर्मी और महिला पुलिसकर्मियों को नहीं लगाने का फैसला किया गया है. अब केवल पुरूष कर्मचारी ही तैनात रहेंगे. बता दें कि इससे पहले स्वास्थ्य कर्मियों पर हमला करने वालों पर मध्य प्रदेश सरकार ने भी बड़ी कार्रवाई की. उन सभी आरोपियों पर रासुका लगाई गई है. 

देश के 1500 शहरों के काजी देंगे कोरोना से बचाव का संदेश, चीफ काजी खालिद उस्मानी ने की पहल 

क्या है मामला: 
दरअसल, गाजियाबाद के एमएमजी अस्पताल की नर्सों ने अस्पताल में भर्ती कराए गए जमाती मरीजों पर गंभीर आरोप लगाए गए हैं. उन पर अस्पताल परिसर में बिना पैंट नग्न घूमने, नर्सों के साथ छेड़छाड़ और अश्लील इशारे करने, अस्पताल स्टाफ से बीड़ी सिगरेट मांगने के भी आरोप हैं. मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने डीएम, एसएसपी और स्थानीय पुलिस को इसकी लिखित शिकायत दी, जिसके बाद यूपी सरकार ने यह बड़ा फैसला लिया.

रामनवमी पर भक्तों की भीड़ से गुलजार रहने वाली अयोध्या रही सूनी, घर-घर मनी रामनवमी

रामनवमी पर भक्तों की भीड़ से गुलजार रहने वाली अयोध्या रही सूनी, घर-घर मनी रामनवमी

नई दिल्ली: कोरोना वायरस और लॉकडाउन की वजह से गुरुवार को रामनवमी का पर्व बिना दर्शनार्थियों के मंदिरों में मनाया गया. भगवान राम की मंदिरों में पूजा आराधना की गई. भगवान राम की जन्मस्थली उत्तर प्रदेश के अयोध्या में भी घर-घर ही भगवान राम की पूजा आराधना की गई. कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए किए गए लॉकडाउन से हर साल रामनवमी के मौके पर भक्तों की भीड़ से गुलजार रहने वाली रामनगरी इस बार बिल्कुल सूनी है. 

भाजपा ने उठाई मांग, आम आदमी की स्थिति ठीक नहीं, 3 महिने के बिजली और पानी के बिल हो माफ

नहीं हुए मंदिरों में धार्मिक अनुष्ठान
जिले की सीमाएं सील कर दी गई हैं और पूरे जिले में लॉकडाउन है. 21 दिन के लॉकडाउन की घोषणा के बाद धाम की सीमा को भी सील कर दिया गया है. मंदिरों में ना धार्मिक अनुष्ठानों हुए. ना ही विशेष पूजा आराधना. रामनवमी मेले में यह पहली बार है जब सरयू घाट से लेकर मठ-मंदिरों में सन्नाटा पसरा रहा. इसलिए गुरुवार को राम जन्मोत्सव का पर्व सीमित अनुष्ठानों के बीच मठ-मंदिरों में ही मनाया गया. इसके पहले प्रदेश सरकार ने भी लोगों से रामनवमी पर्व घर पर ही मनाने की अपील की थी.

प्रतापगढ़ पुलिस ने गिरफ्तार किए 3 इनामी शूटर, हत्या के आरोप में चल रहे थे फरार

Open Covid-19