UP Board की Inter Exam को लेकर CM योगी ने की High Level बैठक, लिया ये फैसला

UP Board की Inter Exam को लेकर CM योगी ने की High Level बैठक, लिया ये फैसला

UP Board की Inter Exam को लेकर CM योगी ने की High Level बैठक, लिया ये फैसला

लखनऊ: PM नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के निर्देश के बाद CBSE तथा आईएससी (ISC) के कक्षा 12 की परीक्षा के रद करने के बाद उत्तर प्रदेश सरकार ने भी इंटरमीडिएट की परीक्षा को लेकर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा सहित शिक्षा विभाग के शिर्ष अधिकारियों के साथ एक हाई लेवल बैठक (High Level ) की. बैठक में इंटरमीडिएट की परीक्षा (Intermediate Exam) को रद्द करने का फैसला लिया गया.

उपमुख्यमंत्री ने सीएम योगी से की मुलाकात:
डिप्टी सीएम डॉ. दिनेश शर्मा (Deputy CM Dr. Dinesh Sharma) की गुरुवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Chief Minister Yogi Adityanath) के साथ करीब आधा घंटा की बैठक के बाद सरकार ने उत्तर प्रदेश माध्यमिक परिषद (Uttar Pradesh Secondary Council) यानी UP बोर्ड की इंटरमीडिएट की परीक्षा को भी रद्द कर दिया है. इस बैठक में अपर मुख्य सचिव माध्यमिक शिक्षा अराधना शुक्ला (Chief Secretary Secondary Education Aradhana Shukla) भी मौजूद थीं. 

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ट्वीट कर दी जानकारी:
उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद (Uttar Pradesh Board of Secondary Education) के करीब सौ वर्ष के इतिहास में ऐसा पहली बार हो रहा है कि कक्षा 10 तथा कक्षा 12 की परीक्षा को रद किया गया है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ट्वीट कर बताया है कि कोविड महामारी की वर्तमान परिस्थितियों के दृष्टिगत बच्चों की स्वास्थ्य सुरक्षा हमारी शीर्ष प्राथमिकता (Top Priority) है. आदरणीय प्रधानमंत्री जी की प्रेरणा से 
@UPGovt ने निर्णय लिया है कि वर्तमान शैक्षिक सत्र में माध्यमिक शिक्षा परिषद की 10वीं व 12वीं की बोर्ड परीक्षा का आयोजन नहीं किया जाएगा.

डिप्टी सीएम व शिक्षा विभाग के शीर्ष अधिकारियों के साथ की बैठक:
डॉ. दिनेश शर्मा के साथ बैठक के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 12वीं की परीक्षा को रद्द करने के निर्णय को मंजूरी दे दी है. उन्होंने डिप्टी CM व शिक्षा विभाग के शीर्ष अधिकारियों के साथ बैठक के बाद अपना निर्णय लिया. CBSE व ISC के बाद मध्य प्रदेश के बाद गुजरात व उत्तराखंड की सरकार बोर्ड (Government Board of Uttarakhand) की परीक्षा रद्द कर चुकी हैं. इसके बाद अब उत्तर प्रदेश सरकार ने भी यूपी बोर्ड की 12वीं की परीक्षा को रद्द कर दिया है. इससे पहले यूपी सरकार ने हाईस्कूल की परीक्षा रद्द कर चुकी है.

CM योगी के साथ डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा समेत शिक्षा बोर्ड के अधिकारियों के साथ करीब 30 मिनट बैठक चली. 10:30 बजे शुरू हुई बैठक 11:00 बजे समाप्त हुई. शिक्षा बोर्ड के द्वारा तैयार की गई कमेटी ने रिपोर्ट मुख्यमंत्री के सामने पेश की. इसमें परीक्षा रद किए जाने के बाद परीक्षार्थियों के अन्य विकल्प के सुझाव दिए गए.

26 लाख हैं परीक्षार्थी:
UP बोर्ड 12वीं की परीक्षा के लिए 26,09,501 स्टूडेंट्स पंजीकृत हैं. यूपी बोर्ड की हाईस्कूल की परीक्षाएं पहले ही रद कर दी गई हैं. CBSE व CICSE ने भी 12वीं की परीक्षाएं रद्द करने की घोषणा की है. ऐसे में UP में भी 12वीं की परीक्षाएं रद करने के कयास लगाए जा रहे हैं. हाईस्कूल (High School) का रिजल्ट किस आधार पर तैयार किया जाए. इसके विकल्पों पर विचार किया जा रहा है. सरकार ने इसके लिए एक अलग कमेटी भी बना दी गई.

बोर्ड सचिव ने प्री बोर्ड के मांगे थे मार्क्स :
बोर्ड सचिव दिव्यकांत शुक्ला ने 22 मई को ही सभी स्कूलों से क्लास 12 के प्री-बोर्ड और 11वीं के छमाही व वार्षिक परीक्षा के अंक मांगे थे, 28 मई तक अधिकांश स्कूल छात्र-छात्राओं के अंक डाटा भी ऑनलाइन पोर्टल (Online Portal) पर फीड कर दिया.

और पढ़ें