जयपुर डॉ. सी.पी.जोशी बोले, जनसंख्‍या नियंत्रण कार्यक्रम में आई बाधाओं को भविष्य में दूर करना होगा 

डॉ. सी.पी.जोशी बोले, जनसंख्‍या नियंत्रण कार्यक्रम में आई बाधाओं को भविष्य में दूर करना होगा 

डॉ. सी.पी.जोशी बोले, जनसंख्‍या नियंत्रण कार्यक्रम में आई बाधाओं को भविष्य में दूर करना होगा 

जयपुर: राजस्थान विधानसभा अध्यक्ष डॉ. सी.पी.जोशी ने मंगलवार को कहा कि कोरोना के कारण जनसंख्या नियंत्रण कार्यक्रम में आई बाधाओं को भविष्य में दूर करना होगा.उन्होंने कहा कि विधायकों की यह जिम्मेदारी है कि वे लोगों को जागरूक करें, कोरोना बचाव टीकाकरण सुनिश्चित करें. मास्‍क और सामाजिक दूरी ने लोगों को बचाया है इन्‍हें हमें आगे भी अपनाना होगा.भारत में कोरोना के दौरान और उसके बाद प्रजनन स्वास्थ्य सेवाओं में सुधार पर विधानसभा में मंगलवार को आयोजित एक दिवसीय कार्यशाला में जोशी ने कहा कि राजस्थान में कोविड के दौरान और उसके बाद स्वास्थ्य सेवाओं पर विशेष ध्‍यान दिया गया.

उन्होंने कहा कि स्‍वास्‍थ्‍य सेवाओं के विस्तार के मामले में राज्‍य सरकार के साथ विधायकों ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई. डॉ. जोशी ने कहा कि स्‍वास्‍थ्‍य सेवाओं में सुधार लाने के लिये राजस्थान के विधायक जागरूक हैं, प्रतिबद्ध हैं, एकजुट हैं. विधायक प्रजनन स्‍वास्‍थ्‍य सेवाओं में भी सुधार लाने के लिये प्रत्‍यनरत हैं.मुख्‍यमंत्री के सलाहकार डॉ. जितेन्‍द्र सिंह ने कहा कि टीकाकरण जरूरी है और इस कार्यक्रम में विधायकों को अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभानी होगी.

प्रति‍पक्ष के सचेतक जोगेश्वर गर्ग ने उप स्‍वास्‍थ्‍य केन्‍द्रों में प्रजनन स्वास्थ्य से संबंधी सुविधाओं को बढ़ाने पर बल दिया. उन्होंने कहा कि विद्यालयों में बालिकाओं की संख्‍या बालकों से अधिक होना स्‍वास्‍थ्‍य सेवाओं की दृष्टि से सुखद संकेत है.विधायक राजेन्‍द्र पारीक ने कहा कि ग्रामीण अंचल में लोग स्वस्थ रहे इसके लिए लोगों ने एक दूसरे की मदद भी की. विधायक मदन दिलावर ने कहा कि संकट के दौर में सभी को मिल-जुल कर कार्य करना चाहिए.

विधायक निर्मल कुमावत ने कहा कि प्रजनन स्वास्थ्य चुनौती और गंभीर विषय है. इसके लिये लोगों को जागरूक करना होगा. विधायक वाजिब अली ने कहा कि कोरोना के दौरान होने वाली कठिनाइयों को ध्‍यान में रखकर स्‍वास्‍थ्‍य सुविधाओं का विस्‍तार करना होगा.  (भाषा)

और पढ़ें