सीएस निरंजन आर्य ने दिए निर्देश: डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर के सरकारी प्रकरणों का तत्परता से करे निस्तारण

सीएस निरंजन आर्य ने दिए निर्देश: डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर के सरकारी प्रकरणों का तत्परता से करे निस्तारण

सीएस निरंजन आर्य ने दिए निर्देश: डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर के सरकारी प्रकरणों का तत्परता से करे निस्तारण

जयपुर: CS निरंजन आर्य ने डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर के राज्य सरकार से संबंधित प्रकरणों का तत्परता से निस्तारण करने के निर्देश दिए हैं. सचिवालय में उनकी अध्यक्षता में हुई बैठक में उन्होंने माल परिवहन परियोजना की अहमियत को समझते हुए राज्य सरकार से संबंधित बिन्दुओं पर चर्चा कर अधिकारियों को प्राथमिकता से निस्तारण करने के निर्देश दिए, ताकि समय पर परियोजना का पूरा लाभ मिल सके. 
 
ये दिए निर्देश:
ऊर्जा विभाग को डीएफसी नेटवर्क के लिए बिजली उपलब्ध कराने की कार्यवाही शीघ्र पूरी करने के निर्देश दिए है. UDH को अजमेर एवं आबू रोड में रेलवे ओवर ब्रिज के भूमि संबंधी प्रकरणों का जल्दी निस्तारण करने के निर्देश दिए है. मुख्य सचिव ने PWD को डीएफसी स्टेशन से रोड कनेक्टीविटी मुहैया कराने के लिए जरूरी कार्यवाही करने के निर्देश दिए. 
 
डीएफसीसीआईएल के एमडी  आरके जैन ने बताया कि दिल्ली से मुंबई के मध्य बन रहे 1506 किलोमीटर लंबे वेस्टर्न कॉरिडोर का राजस्थान में 567 किलोमीटर का काम पूरा कर लिया है. उन्होंने कहा कि राजस्थान पहला राज्य है, जहां कॉरिडोर का कार्य पूरा हो चुका है. हरियाणा, गुजरात व महाराष्ट्र में अभी काम चल रहा है. 

राज्य के 7 जिलों से गुजरने वाले इस कॉरिडर में 16 स्टेशन बनाए गए हैं. उन्होंने बताया कि अगस्त माह में पालनपुर,गुजरात से रेवाड़ी,हरियाणा के बीच माल लदे ट्रकों और दूसरे वाहनों की ढुलाई के लिए रोल ऑन-रोल ऑफ-रो-रो सर्विस शुरू करना प्रस्तावित है. 
 

और पढ़ें