6 करोड़ ग्रामीण छात्रों को डिजिटल दक्ष बनाने के लिए CSC ने इन्फोसिस के साथ किया गठजोड़

6 करोड़ ग्रामीण छात्रों को डिजिटल दक्ष बनाने के लिए CSC ने इन्फोसिस के साथ किया गठजोड़

6 करोड़ ग्रामीण छात्रों को डिजिटल दक्ष बनाने के लिए CSC ने इन्फोसिस के साथ किया गठजोड़

नई दिल्ली: देश के ग्रामीण क्षेत्रों में 10-22 वर्ष की उम्र के करीब छह करोड़ छात्रों को डिजिटल दक्ष बनाने के लिए कॉमन सर्विस सेंटर (CSC) ने इन्फोसिस के साथ गठजोड़ किया है. एक आधिकारिक बयान के मुताबिक इलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के तहत गठित सीएससी ई-गवर्नंस सर्विसेज इंडिया ग्रामीण क्षेत्रों में छात्रों को डिजिटल दक्ष बनाने के लिए अभियान चलाएगी. इसके लिए देश की अग्रणी सूचना प्रौद्योगिकी कंपनी इन्फोसिस के साथ करार किया गया है.

सीएससी और इन्फोसिस गांवों एवं कस्बों के किशोरों एवं युवाओं को डिजिटल प्रौद्योगिकी से दक्ष करने के लिए मिलकर काम करेंगे. इन्फोसिस के कौशल प्रशिक्षण एवं रोजगारपरकता बढ़ाने वाले डिजिटल मंच इन्फोसिस स्प्रिंगबोर्ड के जरिये इस पहल को अंजाम दिया जाएगा. इससे ग्रामीण युवाओं के भीतर रोजगारपरक एवं पेशेवर कौशल के विकास में मदद मिलेगी. सीएससी ई-गवर्नेंस सर्विसेज इंडिया के प्रबंध निदेशक दिनेश के त्यागी ने कहा कि यह पहल प्रधानमंत्री ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान का हिस्सा है. उन्होंने कहा, "इन्फोसिस स्प्रिंगबोर्ड से युवा आबादी के बीच डिजिटस खाई को पाटने में मदद मिलेगी और सीएससी के जरिये समावेशी शिक्षा का लक्ष्य भी पूरा होगा.

इस मौके पर इ्न्फोसिस के वरिष्ठ उपाध्यक्ष और शिक्षा एवं प्रशिक्षण प्रमुख तिरुमला आरोही ने कहा कि आज की युवा पीढ़ी को डिजिटल साक्षर बनाकर ही सही मायने में डिजिटल इंडिया बनाया जा सकता है. उन्होंने कहा, "सीएससी के साथ साझेदारी से वंचित इलाकों के करोड़ों छात्रों को सार्थक अवसर मुहैया कराने में मदद मिलेगी. सोर्स- भाषा
 

और पढ़ें