कैप्टन अमरिंदर सिंह ने लिया कांग्रेस छोड़ने का फैसला, कहा- अब अपमान बर्दाश्त नहीं

कैप्टन अमरिंदर सिंह ने लिया कांग्रेस छोड़ने का फैसला, कहा- अब अपमान बर्दाश्त नहीं

कैप्टन अमरिंदर सिंह ने लिया कांग्रेस छोड़ने का फैसला, कहा- अब अपमान बर्दाश्त नहीं

चंडीगढ़: पंजाब में जारी राजनीतिक दंगल में अब एक बार फिर नया मोड़ आ गया है. गुरुवार को पूर्व मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने बड़ा बयान देते हुए कहा कि अपना रूख स्पष्ट किया है. कैप्टन अमरिंदर सिंह ने साफ कर दिया है कि वह अब कांग्रेस पार्टी में नहीं रहेंगे. उन्होंने कहा कि वह इस तरह का अपमान नहीं सह सकेंगे, जिस तरह से मेरे साथ बर्ताव किया गया है वह ठीक नहीं है. हालांकि, उन्होंने कहा कि वह वह भारतीय जनता पार्टी में शामिल नहीं होने जा रहे हैं. 

एक नीजी न्यूज चैनल से साक्षात्कार के दौरान उन्होंने कहा कि मैं भाजपा में शामिल नहीं हो रहा हूं लेकिन कांग्रेस जल्द ही छोड़ूंगा. साक्षात्कार के दौरान कैप्टन ने बेहिचक यह भी कहा कि पंजाब में कांग्रेस का पतन हो रहा है और नवजोत सिंह सिद्धू बचकाना हरकत कर रहा है. जिसे पार्टी ने सदस्यता दी थी. इसके साथ ही चुनाव में कांग्रेस के खिलाफ प्रचार करने की भी बात कही. 

पंजाब में कांग्रेस की लोकप्रियता घट रही:
कैप्टन ने कहा कि जिस तरह से विधायक दल की बैठक बुलाकर ऐन मौके पर मुझे जानकारी दी गई, मैंने तभी साफ कर दिया था कि मैं पद छोड़ रहा हूं. अमरिंदर सिंह ने कहा कि अगर किसी को मेरे ऊपर विश्वास नहीं है, तो मेरे रहने का क्या फायदा है. अमरिंदर सिंह ने इस बात को स्वीकारा कि पंजाब में कांग्रेस की लोकप्रियता घट रही है और आम आदमी पार्टी का ग्राफ ऊपर जा रहा है. 

पंजाब का चुनाव इस बार काफी अलग होगा:
इसके साथ ही उन्होंने कहा कि पंजाब का चुनाव इस बार काफी अलग होगा. उन्होंने कहा कि वह भले ही पंजाब के मुख्यमंत्री नहीं हैं, लेकिन पंजाब अभी भी उनका है. इसलिए ही गृह मंत्री अमित शाह, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल से मुलाकात की है.  

और पढ़ें