close ads


Career Guidance: Graduation के बाद क्या करना है सोचकर हैं परेशान, तो जरूर जान लीजिए ये बातें...

Career Guidance:  Graduation के बाद क्या करना है सोचकर हैं परेशान, तो जरूर जान लीजिए ये बातें...

जयपुरः अपने करियर को लेकर जहां कुछ स्टूडेंट्स सचेत रहते हैं कि उन्हें क्या करना है वहीं कुछ बच्चे बीच मझदार में ही फंसे रह जाते हैं. अगर आपने हाल ही में अपना ग्रेजुएशन खत्म किया है या इसी ओर अग्रसर हैं औऱ ये सोचकर कन्फ्यूज है कि आगे क्या करना है? क्योंकि इस दौरान आपके सामने काफी मुश्किलें आती है जैसेः

- कोई जॉब पकड़ा जाए या नहीं

- अगर जॉब करें तो पार्ट टाइम या फुल टाइम

- मास्टर्स करें या नहीं

- चुने गए फील्ड में आत्मविश्वास की कमी

- फैमिली प्रेशर 

- खुद का इंटरेस्ट

ऐसे में हम आपको बताएंगे की आपको किस कोर्स के लिए बेहतर है. किस कोर्स में आपको एनरोल होने के बाद करियर सेट करने में मदद मिलेगी. आप चाहे जिस भी स्ट्रीम के क्यों ना हो आर्ट्स, साइंस या कॉमर्स आपको अपनी पसंद का सबजेक्ट पढ़ने में परेशानी नहीं आएगी.

आर्टस् स्टूडेंट्स के लिएः

- अगर आप आर्ट्स के स्टूडेंट है तो आपको एकेडमिक्स में करियर बनाने के अच्छे ऑप्शन्स मिलते है. आप मास्टर्स के बाद पीएचडी और पोस्ट डॉक के लिए जा सकते है. इससे आपको रिसर्चर की जॉब आसानी से मिल जाएगी. 

- इसके लिए आपको मास्टर्स के बाद नेट का पेपर क्लीयर करना होगा. इसके साथ ही आपको जेआरएफ की सुविधा भी मिलती है, जिससे आपको पैसे की कमी नहीं आएगी. आपकी पीएचडी सरकारी यूनिवर्सिटी से चलती है तो वैल्यू भी बढ़ती है औऱ कॉलेज में प्रोफेसर पद के लिए एलिजेबल हो जाते है.

-  अगर आप चाहे तो बीएड करके सरकारी टीचर के पद पर लग सकते है. इसके लिए आपको टेट का पेपर क्लीयर करना होगा. जिसकी कोचिंग आसानी से मिल जाएगी. 

- इसके साथी ही आप यूपीएससी, एसएससी, बैकिंग, एग्रीकल्चर, रेल्वे दफ्तर, सरकारी दफ्तर आदि में भी लग सकते है. इसके लिए आपको तीखी नजर बनाके रखनी होगी की कब,कहां औऱ कितनी वेकेन्सी निकल रही है. 

कॉमर्स स्टूडे्स के लिएः

- आप के लिए सबसे पहला ऑप्शन आता है सीए, सीएस, अकाउंटेंट आदि के लिए क्योंकि हर एक कंपनी को अपनी को अपने फाइनल बैलेंस शीट के लिए लेखाकार यानि की अकाउंटेंट की ही जरुरत होती है. इसके लिए आपको टैली आदि का कोर्स करने की जरुरत होगी. इसके साथ ही मैनेजमेंट के स्टूडेंस एमबीए के लिए जा सकते है. जिससे एमएनसी में आपके लिए लाखो-करोड़ों के पैकेज वाली जॉब रहती है.

- आप बैंक, फर्म एनालिस्ट,पीआर के तौर पर भी काम कर सकती है.  

साइंस स्टूडेट्स के लिएः 

- अगर आप साइंस बैकग्राउंड से हैं तो एमएससी के लिए जा सकते है. पीसीएम के अलावा आप जूलॉजी, बॉटनी आदि में मास्टर्स करके पीएचडी के बाद रिसर्चर की नौकरी कर सकते है. इन्ही में आप पोस्ट डॉक करके साइंटिस्ट भी लग सकते है. स्पेस साइंटिस्ट, आईटी मैनेजमेंट, लैबोरेटरी मैनेजमेंट आदि कोर्स कर सकते है. विदेशों में इनकी काफी अच्छी मांग रहती है.

- बायो के स्टूडेंस एमबीबीएस के लिए जा सकते हैं, इसके लिए आपको पीएमटी का पेपर क्लीयर करना होगा. इसके बाद एमडी के लिए जा सकते है, जिससे आप सर्जन, मेडिसीन हैड आदि बन सकते है.

वैसे तो आज कल जमाना इतना आगे निकल आया है कि कोई भी बच्चा जो एक अलग स्ट्रीम का है मगर किसी और स्ट्रीम में जाना चाहते है, वो जा सकते है. उदाहरण के तौर पर साइंस का स्टूडेंट अगर लैग्वेज पढ़ना चाहता है तो वो इसके लिए डिप्लोमा या कोई कोर्स कर सकता है. इसके साथ ही कुछ अन्य कोर्सेज है जो आज कल काफी चलन में है. 

- टूरिज्म, साइकॉलोजी, पत्रकारिता, सीटी, लैग्वेज प्रोग्रेम्स,डिजाइनिंग कोर्सेज, एक्टिंग, एनिमेशन, फोटोग्राफी,सोशलमीडिया हैंडलिंग (यूट्यूब आदि). 

 

और पढ़ें