लाठी गांव में उपद्रव का मामला , दहशत और भय के साए में निकले 24 घण्टे

FirstIndia Correspondent Published Date 2018/12/09 09:58

जैसलमेर। क्षेत्र की ग्राम पंचायत लाठी में मतदान दिवस के दौरान कुछ असामाजिक तत्वों द्वारा मचाए गए उपद्रव से ग्रामीण रातभर दहशत में बैठे रहे। लाठी मतदान क्षेत्र में मचे उपद्रव के बाद पूरा गांव पुलिस छावनी में तब्दील हो गया। पुलिस के साथ-साथ सशस्त्र जवान तैनात होने से पूरे गांव में कर्फ्यू सा लग गया। जहां लोग घरों से बाहर आने में घबराते दिखे, वहीं लोगों के चेहरों पर दहशत स्पष्ट दिखाई देने लगी।

लाठी के स्थानीय पत्रकार विक्रम दर्जी के साथ मारपीट को लेकर जैसलमेर पत्रकार संघ ने इसकी निदा की है दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है। 

बीते शुक्रवार की शाम नेशनल हाईवे पर मतदान केंद्र के बाहर लगभग दो सौ लोगों ने दो घंटों तक खुलकर आतंक मचाया, वहीं मतदान के पास बैठे लोगों के साथ-साथ गांव में दुकानों तथा अन्य लोगों को निशाना बनाकर पत्थर और लाठियों से वार कर घायल कर दिया गया। एकाएक हुए पथराव में कई छोटे बच्चों समेत कई लोग भी घायल हो गए। घटना के बाद जहां लोगों में दहशत का माहौल छा गया, वहीं गांव की गलियां और सड़कों पर भी वीरानी छा गई। ग्रामीण अपने घरों में दुबके रहे। मतदान के दौरान हुई पथराव की घटना के चलते मची दहशत के कारण लोगों ने पुलिस को सूचित किया, वहीं देखते ही देखते एसपी जगदीशचंद्र शर्मा ने लाठी गांव को छावनी में तब्दील कर दिया। पुलिस ने रातभर गांव की गलियों और सड़कों पर गश्त कर आरोपियों की तलाश शुरू की। इसके साथ ही लोगों में दहशत नहीं फैले इसके चलते चप्पे-चप्पे पर पुलिस बल तैनात कर दिया। रात्रि में पुलिस के साथ-साथ आरएसी व आरएएफ के सशस्त्र जवानों को तैनात किया, वहीं घटना के 24 घंटे बीतने के बाद भी पुलिस बल गांव में तैनात रहा। 

मतदान के आखिरी 10 मिनट में बीते शुक्रवार को पथराव और गाड़ियों में तोड़फोड़ करने के मामले में शनिवार को पुलिस ने आरोपियों की सघनतलाशी शुरू की गई जांच के दौरान शाम को छह युवकों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया इनसे पूछताछ की जा रही है और मामले की जांच ओमप्रकाश विश्नोई को दी गई है। लाठी में हुई घटना के चलते लोगों में दहशत नहीं फैले इसके चलते प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा पूरे जैसलमेर जिले की इंटरनेट सेवा को बंद कर दिया गया था कि अफवाहों पर रोक और लाठी में हुई घटना का अधिक से अधिक प्रसारण ना हो और ना ही लोगों में किसी प्रकार की सांप्रदायिकता माहौल खराब न हो। ग्रमीणो ने 10 रिपोर्ट पेश की गई है। पुलिस जांच कर रही है।  

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in