विधायक वेद प्रकाश सोलंकी के फोन टेप के आरोपों का प्रकरण, कांग्रेस नेतृत्व इसे मान रही अनुशासनहीनता !

विधायक वेद प्रकाश सोलंकी के फोन टेप के आरोपों का प्रकरण, कांग्रेस नेतृत्व इसे मान रही अनुशासनहीनता !

जयपुर: विधायक वेद प्रकाश सोलंकी के फोन टेप के आरोपों के प्रकरण में कांग्रेस (Congress) नेतृत्व इसे अनुशासनहीनता मान रहा है. सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पीसीसी प्रभारी अजय माकन (Ajay Maken) ने इस बारे में प्रदेश कांग्रेस कमेटी से विस्तृत रिपोर्ट मांगी है. इसके साथ ही आलाकमान ने विधायक के बयानों को गंभीर मानते हुए अब तक जो बयान दिए है उनकी जानकारी मांगी है. 

वहीं वेदप्रकाश सोलंकी (Vedprakash Solanki) द्वारा पायलट (Sachin Pilot) समर्थक MLA के फोन टैप कराने के आरोप पर परिवहन मंत्री प्रतापसिंह खाचरियावास (Pratapsinh Khachariawas) का बयान सामने आया है. फोन टैपिंग (phone tapping) के आरोपों पर बोलते हुए खाचरियावास ने कहा कि राजस्थान सरकार किसी जनप्रतिनिधि का फोन टेप नहीं करती, जिस विधायक ने फोन टैपिंग के आरोप लगाए हैं उन्होंने खुद के फोन टेप होने की बात नहीं कही. लेकिन उन्हें उन विधायकों के नाम सार्वजनिक करने चाहिए जिनके उन्होंने फोन टेप होने की बात कही है. उन्हें सीएम से मिलकर सारी बात बतानी चाहिए. जांच होगी तो सारा मामला सामने आ जाएगा. 

महेश जोशी ने कहा- एक जनप्रतिनिधि को सोच-विचार कर बोलना चाहिए
वहीं फोन टैपिंग विवाद पर बोलते हुए मुख्य सचेतक डॉ महेश जोशी ने कहा कि इस तरह के आरोप बेबुनियाद है. एक जनप्रतिनिधि को सोच-विचार कर बोलना चाहिए. MLA के पद पर कई जिम्मेदारियां होती है उन जिम्मेदारियों के अनुसार स्टेटमेंट देना चाहिए, बिना तथ्यों के बोलना ठीक नहीं है. 

वेदप्रकाश सोलंकी ने सरकार पर MLA के फोन टैप कराने के आरोप लगाए थे:
आपको बता दें कि इससे पहले शनिवार को कांग्रेस विधायक वेदप्रकाश सोलंकी ने पायलट समर्थक MLA के फोन टैप कराने के आरोप लगाए थे. सोलंकी ने कहा था कि हमारे दो-तीन विधायकों ने मुझसे कहा है कि उनके फोन टैप हो रहे हैं. उनकी जासूसी कराई जा रही है. सीआईडी के लोग हमारे विधायकों के घरों के चक्कर लगा रहे हैं. अफसर आकर हमें कह रहे हैं कि आपको ट्रैप करवा दिया जाएगा. हालांकि सोलंकी ने कहा था कि उनका फोन टैप नहीं हो रहा है. 
 

और पढ़ें