पुजारी को जिंदा जलाने का मामला: कपिल मिश्रा पहुंचे बुकना गांव,  परिवारजनों को 25 लाख रुपए आर्थिक सहायता देने की घोषणा की

पुजारी को जिंदा जलाने का मामला: कपिल मिश्रा पहुंचे बुकना गांव,  परिवारजनों को 25 लाख रुपए आर्थिक सहायता देने की घोषणा की

पुजारी को जिंदा जलाने का मामला: कपिल मिश्रा पहुंचे बुकना गांव,  परिवारजनों को 25 लाख रुपए आर्थिक सहायता देने की घोषणा की

करौली: सपोटरा के बुकना में पुजारी बाबूलाल वैष्णव की अंत्येष्टि के बाद भी शोक संतप्त माहौल है और परिजनों में रुदन मचा हुआ है. भाजपा नेता कपिल मिश्रा पीड़ित परिजनों से मुलाकात करने के लिए बुकना पहुंचे. मिश्रा ने परिवारजनों को 25 लाख 10 हजार रुपए आर्थिक सहायता देने की घोषणा की. कपिल मिश्रा ने कहा कि परिजनों के बैंक खाते में यह राशि ट्रांसफर की जाएगी. अभी पीड़ित का बैंक खाता चालू नहीं होने से तकनीकी परेशानी हो रही हैं. कपिल मिश्रा ने मृतक पुजारी बाबूलाल वैष्णव के परिवारजनों को हर संभव सहायता का भरोसा दिलाया. कपिल मिश्रा ने मृतक पुजारी बाबूलाल वैष्णव के परिजनों को ढाढस बंधाया. परिवारजनों और मौजूद लोगों से घटना की जानकारी ली. मिश्रा ने कड़े शब्दों में घटना की निंदा करते हुए दुर्भाग्यपूर्ण बताया. 25,00000 रुपए की आर्थिक सहायता पुजारी के परिवारजनों को सौंपेंगे. विभिन्न संगठनों और दानदाताओं से 25,00000 रुपए की राशि जुटाई गई है.

अरूण चतुर्वेदी ने साधा कांग्रेस पर निशाना:
इससे पहले आज चिकित्सा विभाग की टीम मौके पर पहुंची और परिवार जनों का स्वास्थ्य परीक्षण किया. उधर भाजपा पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अरुण चतुर्वेदी भाजपा करौली जिला अध्यक्ष बृजलाल ढिकोलिया भी पदाधिकारी कार्यकर्ताओं के साथ पीड़ित परिवार जनों के पहुंचे और उन्हें ढांढस बंधाया. अरुण चतुर्वेदी ने कहा कि संकट की घड़ी में भाजपा संगठन उनके साथ है. अरूण चतुर्वेदी ने कांग्रेस सरकार पर भी निशाना साधा और कहा कि कांग्रेस के नुमाइंदे पीड़ित परिवार की सुध लेने नहीं पहुंचे हैं. 

मामले में दो आरोपी गिरफ्तार:
सपोटरा के बूकना में पुजारी को जलाकर मारने के मामले में एक और आरोपी को  गिरफ्तार किया गया है. गिरफ्तार आरोपी टिल्लू बूकना गांव निवासी है.आरोपी पहले से हिरासत में था, अब गिरफ्तारी दिखाई गई हैं. मुख्य आरोपी कैलाश मीणा को पहले ही  गिरफ्तार किया जा चुका है. एसपी मृदुल कच्छावा ने जानकारी दी.आपको बता दें कि शनिवार को मृतक पुजारी बाबूलाल की पत्नी बेटी सहित चार महिलाओं की तबीयत बिगड़ गई थी जिन अस्पताल ले जाया गया था आज उन्हें घर लाया गया. चिकित्सक की एक टीम ने स्वास्थ्य परीक्षण कर उन्हें उपचार प्रदान किया. 

महत्वपूर्ण बिंदुओं पर सहमति के बाद हुआ था धरना खत्म:
गौरतलब है कि मृतक पुजारी बाबूलाल के परिजनों ने मामले में महत्वपूर्ण बिंदुओं पर सहमति बनने के बाद शनिवार को धरना समाप्त किया. वहीं पुजारी बाबूलाल वैष्णव का अंतिम संस्कार किया गया. पीड़ित परिवार को राज्य सरकार की ओर से 10 लाख रुपए की सहायता का आश्वासन दिया गया. परिवार के एक सदस्य को संविदा पर नौकरी पर सहमति बन गई है. दोषी पाए जाने पर थाना अधिकारी के निलंबन की कार्रवाई की. इंदिरा आवास के तहत परिवार को एक लाख की सहायता मिलेगी. सहमति के बाद धरना समाप्ति की घोषणा की गई.

और पढ़ें