सरहद पर सिलसिलेवार हुए धमाकों का मामला, लोगों में भय का माहौल

सरहद पर सिलसिलेवार हुए धमाकों का मामला, लोगों में भय का माहौल

जैसलमेर: आसमान में छाई काली घटाओं के बीच अचानक तेज धमाकों की आवाज से हर कोई दहल गया. धमाके इस कदर थे कि लोगों का कलेजा तक हिल गया और लोग घरों से निकलकर बाहर आ गए. कोई बिजली गिरने के कयास लगा रहा था, तो कोई पोकरण फिल्ड फायरिंग रेंज में धमाके होने का. हालांकि कल देर शाम तक भी इन धमाकों को लेकर कोई पुष्टि नहीं हुई. गौरतलब है कि मंगलवार शाम आसमान में घनी काली घटाएं छाई हुई थी तथा मौसम बारिश जैसा बना हुआ था. कुछ देर तक हल्की बारिश शांत होने के बाद करीब पौने सात बजे लोग अपने दैनिक कार्यों में व्यस्त थे कि इस बीच अचानक तेज धमाके हुए. जिससे परमाणु नगरी पोकरण सहित आसपास क्षेत्र के करीब 8-10 गांव थर्रा उठे. 

करीब आठ मिनट में हुए आठ धमाकों ने हर किसी को चौंका दिया: 
बारिश के बाद शांत हुए मौसम के बीच मंगलवार शाम करीब 6.45 बजे सिलसिलेवार धमाकों की आवाज शुरू हुई, जो 6.53 बजे तक जारी रही. करीब आठ मिनट में हुए आठ धमाकों ने हर किसी को चौंका दिया. बारिश का मौसम होने के कारण एकबारगी लोग क्षेत्र में कहीं बिजली गिरने की आशंका जताने लगे, लेकिन सिलसिलेवार धमाकों ने इस आशंका को खत्म कर बम के धमाकों की तरफ लोगों का ध्यान आकर्षित किया. इन आठ मिनट में मानो धरती पूरी थर्रा उठी और पोकरण कस्बे सहित आसपास क्षेत्र के रामदेवरा, गोमट, मावा, चाचा, खेतोलाई, लोहारकी, चांदसर, बरड़ाना, सेलवी सहित करीब आठ-दस गांवों के लोग घरों से बाहर निकल आए.

सिलसिलेवार धमाकों ने आमजन व क्षेत्र को थर्रा दिया:  
सूत्रों के अनुसार पोकरण फिल्ड फायरिंग रेंज में मंगलवार शाम फिल्ड ऑर्डिनेंस डीपो एफओडी की ओर से धमाके किए गए थे. गौरतलब है कि एफओडी की ओर से म्याद बार हो चुके बमों व फूटने से रहे बमों का निस्तारण किया जाता है. मंगलवार शाम एफओडी की ओर से पोकरण फिल्ड फायरिंग रेंज में पुराने गैर आबाद काहला गांव के पास सभी बमों का एक साथ निस्तारण किया गया. जिससे हुए सिलसिलेवार धमाकों ने आमजन व क्षेत्र को थर्रा दिया. इन बमों के फटने का एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हुआ. हालांकि इन धमाकों को लेकर सेना, पुलिस व प्रशासन की ओर से कोई पुष्टि नहीं की गई है. 

और पढ़ें