Live News »

विधानसभा में गूंजा मालवीय नगर लाठीचार्ज और महिला IAS अधिकारियों को की गई गलत टिप्पणी का मामला

विधानसभा में गूंजा मालवीय नगर लाठीचार्ज और महिला IAS अधिकारियों को की गई गलत टिप्पणी का मामला

जयपुर: राजधानी मालवीय नगर में भाजपा कार्यकर्ताओं पर हुए लाठीचार्ज और अजमेर में महिला आईएएस अधिकारियों के खिलाफ सोशल मीडिया पर की गई टिप्पणियों का मामला आज विधानसभा में गूंजा. पूर्व मंत्री किरण माहेश्वरी और अनिता भदेल ने शून्यकाल में ये मामले उठाये. 

पुलवामा आतंकी हमले में शहीद हुए सपूत जीतराम के परिजनों को एक साल बाद भी सम्मान का इंतजार 

दोषी पुलिस अधिकारियों के निलंबन की मांग: 
पूर्व मंत्री किरण माहेश्वरी ने शून्यकाल में पॉइंट ऑफ इन्फॉर्मेशन के माध्यम से यह मामला उठाया. उन्होंने कहा कि मालवीय नगर में थडियों में आग लगाये जाने पर महिला आयोग की पूर्व अध्यक्ष सुमन शर्मा ने पीड़ितों के हक में धरना दिया तो पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया. महिलाओं के कपड़े फट गए और एक व्यक्ति के सिर में 10 टांके आये. किरण माहेश्वरी ने इस पूरे मामले में दोषी पुलिस अधिकारियों के खिलाफ निलंबन की कार्रवाई करने की मांग की. 

राज्य के सभी किसानों की गैर खातेदारी भूमि को खातेदारी में बदला जाएगा 

महिला IAS अधिकारियों को की गई गलत टिप्पणी का मामला भी उठा:
वहीं पूर्व मंन्त्री अनिता भदेल ने ध्यानाकर्षण के माध्यम से अजमेर में महिला IAS अधिकारियों को लेकर सोशल मीडिया पर की गई गलत टिप्पणी का मामला उठाया. उन्होंने कहा कि IAS की सेवाएं गरिमापूर्ण होती है ऐसे में ब्यूरोक्रेसी में तैनात महिलाओं को अगर ब्लैकमेल किया जाएगा यह कहां तक उचित है. अनिता भदेल ने आरोप लगाया कि अजमेर में 4 महिला IaS ने इस बारे में मुकदमा भी दर्ज कराया है, लेकिन सरकार ने गिरफ्तारी के बजाये टिप्पणी करने वाले को कोर्ट से स्टे लेने का समय तक दे दिया. भदेल ने मांग की है कि कोर्ट में सरकार को स्टे के खिलाफ जाना चाहिये. यह महिलाओं के आत्म सम्मान और सुरक्षा का विषय है, ऐसे में सरकार आधी आबादी का ध्यान रखे. 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें
और पढ़ें

Stories You May be Interested in