Live News »

केंद्रीय हवाईअड्डा प्राधिकरण की टीम कोटा में, ग्रीनफील्ड एयरपोर्ट को लेकर तलाशेगी संभावनाएं

केंद्रीय हवाईअड्डा प्राधिकरण की टीम कोटा में, ग्रीनफील्ड एयरपोर्ट को लेकर तलाशेगी संभावनाएं

कोटा: शिक्षा नगरी कोटा के स्थानीय लोगों की 20 साल पुरानी मांग का पूरा होने का समय आ गया है. लोकसभा स्पीकर ओम बिरला की पहल पर कोटा में नए ग्रीन फील्ड एयरपोर्ट की संभावना तलाशने के लिए एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया की उच्चस्तरीय टीम कोटा दौरे पर है. विजिट में टीम यह देख रही है कि कोटा में नए एयरपोर्ट के लिए नई जमीन उपयुक्त है या नहीं. इस टीम में एएआई के तकनीकी शाखाओं के सीनियर अधिकारी शामिल हैं. यूआईटी ने शंभूपुरा से लेकर जम्मू तक 2770 बीघा 15 बिस्वा जमीन एयरपोर्ट के लिए आरक्षित की है जो इस टीम को दिखाई जा रही है.

रिपोर्ट एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया के चेयरमैन को दी जाएगी: 
तुलसा, रामपुरिया जाखंड और देवरिया गांव की जमीन में से एयरपोर्ट के लिए जमीन यह टीम फाइनल करेगी और रिपोर्ट एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया के चेयरमैन को दी जाएगी. प्रारंभिक सर्वे में टीम सिर्फ यह देखने आई है कि जमीन उपयुक्त है या नहीं. यदि जमीन उपयुक्त मिली तो इसका डिटेल सर्वे और कंट्रोल मैपिंग जैसे काम के बाद एस्टीमेट बनेगा. इसके बाद एएआई की प्लानिंग आर्किटेक्ट की टीमें अपने अपने हिसाब से प्रस्ताव तैयार करेंगे. प्रस्ताव के बाद जमीन अधिग्रहण का काम होगा और सबसे अंत में एएआई की प्रोजेक्ट विंग टीम फील्ड में उतरेगी जो कंस्ट्रक्शन का काम शुरू करेगी. मोटे तौर पर यह माना जा रहा है कि करीब 3 साल में नया एयरपोर्ट कोटा की जनता को मिल सकता है. 

और पढ़ें

Most Related Stories

Rajasthan Lock Down: कोटा रेलवे स्टेशन पर कोचिंग छात्रों का लगा बड़ा जमावड़ा, घर ले जाने के लिए पहुंचे परिजन

Rajasthan Lock Down: कोटा रेलवे स्टेशन पर कोचिंग छात्रों का लगा बड़ा जमावड़ा, घर ले जाने के लिए पहुंचे परिजन

कोटा: जनता कर्फ्यू को कोचिंगसिटी कोटा में रविवार को व्यापक समर्थन मिलता दिख रहा हैं लेकिन कर्फ्यू के हालातों में कोटा रेलवे स्टेशन पर आज हैरतअंगेज अंदाज में कोचिंग छात्रों का बङा जमावङा लग गया.असल में ये वो कोचिंग छात्र-छात्राएं थी,जो लगातार फैल रहे कोरोना के खौफ के बाद भी कोटा में जमे थे लेकिन राजस्थान लॉकडाउन के बाद अब इनके परिजन आनन-फानन में इन्हे लेने पहुंचे.

कोरोना वायरस के खौफ की गूंज:
पङौसी राज्य की कोचिंग छात्रा मेधासिंह के इन शब्दों में कोचिंगसिटी कोटा में पसर रहे कोरोना वायरस के खौफ की गूंज साफ सुनी जा सकती हैं. हालांकि सवा से डेढ लाख मेहमान छात्रों वाले शहर कोचिंगसिटी में हजारों कोचिंग छात्र पहले ही कोटा छोङ चुके थे लेकिन छात्र-छात्राओं का एक बङा समूह कोचिंग बंद होने के बाद भी हॉस्टल्स में टिका था लेकिन अब बिहार-झारखंड समेत आसपास के कई राज्यों के परिजन खुद अपने बच्चों को घर ले जाने के लिए कोटा पहुंचे और जनता कर्फ्यू के बीच से ही आनन-फानन में घर की रवानगी लेते दिखे.

CORONA: इंडियन रेलवे का बड़ा फैसला, 31 मार्च तक कोरोना की वजह से नहीं चलेगी कोई ट्रेन

कोचिंग एरीया में पसरा सन्नाटा:
इधर जनता कर्फ्यू के हालातों के बीच कोटा के सभी कोचिंग संस्थानों के केम्पस और राजीवगांधीनगर,लैंडमॉर्क सिटी जैसे बङे कोचिंग एरीया में रविवार को सन्नाटा पसरा हुआ हैं. हालांकि मुख्यमंत्री गहलोत के कल के ऐलान के बाद से आज कोचिंगसिटी में भी रेल-बस समेत पब्लिक ट्रांसपोर्ट कम्पलीटली ठप्प हैं लेकिन जैसे-तैसे घर पहुंच जाने की जद्दोजहद में इन कोचिंग छात्रों और अभिभावकों को कल की तारीख में चली कामाख्या एक्सप्रेस और गर्वा एक्सप्रेस जैसी कुछ रेलगाङियों का सहारा मिल गया हैं. 

कोचिंग को भी कोरोना ग्रहण:
इघर नेशनल टेस्टिंग एजेंसी द्वारा 5 अप्रेल से प्रस्तावित देश की बङी इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा जेईई-मेन्स को फिलहाल स्थगित कर दिया गया हैं,इस परीक्षा में देश-विदेश के 250 परीक्षा केन्द्र करीब 9 लाख परीक्षार्थियों के लिये बनाये गये थे. तो वहीं सीबीएसई और आरबीएसई समेत कोटा के विश्वविद्दालयों ने भी अपनी सभी सैंद्वांतिक और प्रायोगिक परीक्षाएं भी टाल दी हैं. हालांकि गनीमत की बात ये हैं कि कोरोना वायरस के खौफ में दुबकी कोचिंगसिटी कोटा में अभी तक एक भी कोरोना पॉजिटीव केस डिटेक्ट नहीं हुआ हैं और अभी तक लिये गये सभी 30 कोरोना सेम्पल जॉच में नेगेटिव पाये गये हैं, लेकिन कोटा के कारोबार के साथ-साथ यहां की कोचिंग को भी कोरोना ग्रहण तो लग ही गया हैं.

CORONA: देश में अब तक 6 लोगों की मौत, 341 पहुंचा मरीजों का आंकड़ा

...फर्स्ट इंडिया के लिए भंवर एस. चारण की रिपोर्ट 

सौतेली मां ने पैसे लेकर किया नाबालिग बेटी की शादी करवाने का प्रयास

सौतेली मां ने पैसे लेकर किया नाबालिग बेटी की शादी करवाने का प्रयास

कोटा: शिक्षा नगरी कोटा में सौतेली मां द्वारा पैसे लेकर नाबालिग बेटी की शादी करवाने का मामला सामने आया है. अनंतपुरा थाना इलाके में इस बालिका की शादी आज रात को होनी थी. बालिका की नानी और मामा ने इसका विरोध करते हुए अनंतपुरा थाना पुलिस और बाल कल्याण समिति को शिकायत की. समिति सदस्यों ने मामले को गंभीरता से लेते हुए चाइल्ड लाइन और अनंतपुरा थाना पुलिस की मदद से बालिका को रेस्क्यू करवाकर बाल विवाह के बंधन में बंधने से बचाया. 

कोरोना वायरस: देश में बढ़ रहे संक्रमित मरीज, 250 पहुंची संख्या 

50 हजार रुपए में शादी करवाने की बात तय की: 
बाल कल्याण समिति अध्यक्ष कनीज फातिमा और सदस्य विमल चंद जैन ने जब बालिका से बाल विवाह करने के बारे में बालिका से जानकारी जुटाई तो पता चला की उसकी मां ने 50 हजार रुपए में शादी करवाने की बात तय की थी. फिलहाल बाल कल्याण समिति सदस्यो ने बालिका को बालिका गृह में अस्थायी आश्रय दिलवाया है और अनंतपुरा थाना पुलिस को पूरे मामले की जांच करने के साथ बाल विवाह करवा रहे लोगों के खिलाफ कार्रवाई करने के निर्देश दिए है.

कोरोना की तीसरी स्टेज में राजस्थान! पिछले 12 घंटे में 8 लोगों में कोरोना पॉज़िटिव, तो भीलवाड़ा में बाजार बंद

कोटा में 5 वर्षीय बच्ची की इलाज के दौरान मौत, परिजनों ने लगाया लापरवाही का आरोप

कोटा में 5 वर्षीय बच्ची की इलाज के दौरान मौत, परिजनों ने लगाया लापरवाही का आरोप

कोटा: प्रदेश के कोटा जिले के एमबीएस अस्पताल में रविवार को उस वक्त हंगामा हो गया,  जब अस्पताल में 5 वर्षीय बच्ची की मौत हो गई. परिजनों ने डॉक्टर्स पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए शव को सड़क पर रखकर प्रदर्शन करने लगे, लेकिन मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को उठाकर मोर्चरी में शिफ्ट करवा दिया. इस दौरान परिजन और पुलिस के बीच हल्की झड़प भी हुई.

कोरोना वायरस का असर मतदान केन्द्रों पर, मुंह पर मास्क लगाकर ड्यूटी कर रहे हैं  तैनात सुरक्षाकर्मी 

लगाया लापरवाही का आरोप:
सूचना मिलने पर कांग्रेस और बीजेपी के कार्यकर्ता भी मोर्चरी पर पहुंचे. इस दौरान कार्यकर्ताओं से भी पुलिस तिखी नोकझोंक और धक्कामुक्की हुई. इस दौरान परिजनों ने सीआई मुनींद्र सिंह पर हाथापाई करने आरोप भी लगाया और इलाज में लापरवाही बरतने वाले डॉक्टर्स और थानाधिकारी के खिलाफ कार्रवाई की मांग की.

जनता अवेयर हो गई तो राजस्थान कोरोना को हरा देगा, सीएम गहलोत ने की कलक्टर्स से वीसी

मुआवजे की मांग:
हंगामे को बढ़ता देख प्रशिक्षु आईपीएस अमित बुडानिया, डिप्टी भगवत सिंह समेत कई पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंचे और आरएसी का जाब्ता भी तैनात किया गया. परिजनों ने मुआवजे की भी मांग की है. जानकारी के मुताबिक अनंतपुरा निवासी 5 वर्ष की बच्ची की करीब दो माह पहले श्वान के काटने रैबीज हो गया था. लेकिन फिर से तबीयत बिगड़ने के बाद अस्पताल में लाये तो डॉक्टर परिजनों को इधर-उधर भटकाते रहे. 

कोटा में मामूली कहासुनी के बाद भाभी ने की देवर की पत्थर मारकर हत्या

कोटा में मामूली कहासुनी के बाद भाभी ने की देवर की पत्थर मारकर हत्या

कोटा: जिले के दादाबाड़ी इलाके के बालाकुंड में बीती रात मामूली कहासुनी पर भाभी ने देवर की हत्या कर दी. मृतक दिलीप अपने भतीजे को घर पर खाना खिला रहा था उसी दौरान उसकी भाभी कांति बाई और बड़े भतीजे ने उस पर पत्थर से हमला कर दिया. गंभीर घायल दिलीप को अस्पताल ले जाया गया जहां उसकी मौत हो गई.

VIDEO: राज्यसभा चुनाव 2020: कांग्रेस के दो उम्मीदवारों के नाम फाइनल होने की खबर, किसी भी वक्त हो सकती है नामों की घोषणा 

भतीजे को भूखा देख उसे अपने घर पर खाना खिला रहा था:
बताया जा रहा है कि मृतक का उसकी भाभी का कुछ दूरी पर मकान है. उसकी भाभी अपने छोटे बेटे कुलदीप को घरेलु झगड़े चलते खाना नहीं खिला रही थी. भतीजे कुलदीप को भूखा देख दिलीप उसे अपने घर पर खाना खिला रहा था. जैसे ही भाभी कांति बाई को यह पता लगा तो वह अपने बड़े बेटे छोटूलाल के साथ देवर के घर पर पहुंची और कुलदीप को खाना खाते देख आग बबुला हो गई और उसने देवर की पत्थर मारकर हत्या कर दी. पुलिस ने आरोपी भाभी को गिरफ्तार कर लिया है. 

मध्यप्रदेश के बाद हरियाणा कांग्रेस में भी बढ़ी मुश्किलें, हुड्डा ने किया कुमारी सैलजा का विरोध 

कोटा में कोरोना वायरस के 3 संदिग्ध रोगी मिले, एमबीएस अस्पताल में भर्ती

कोटा में कोरोना वायरस के 3 संदिग्ध रोगी मिले, एमबीएस अस्पताल में भर्ती

कोटा: प्रदेश के कोटा में कोरोना वायरस के 3 संदिग्ध रोगी और सामने आये है.  3 संदिग्धों को एमबीएस अस्पताल के कोरोना वार्ड में चिकित्सकों की विशेष  निगरानी में रखा गया है. इनमें से 2 मरीज नेपाल से लौटकर कोटा आए है, वहीं  2 दुबई से कोटा आये है. तीनों मरीजों के सैंपल जांच के लिए जयपुर भेज गए है.

भरतपुर: मंत्री विश्वेंद्र सिंह और सुभाष गर्ग ने लिया फसल नुकसान का जायजा, किसानों को किया आश्वस्त

एमबीएस अस्पताल के कोटेज वार्ड को खाली कराकर उन्हें कोरोना वार्ड बनाया गया है. उधर, कोरोना से जंग लड़ने के लिए जागरूकता भी फैलाई जा रही है. समाज सेविका एकता धारीवाल ने शनिवार को एबीएस अस्पताल पहुंचकर कोरोना से बचाव और उपाय के पत्रक का विमोचन कर बांटे गए. वहीं अस्पताल में भर्ती मरीजों और उनके परिवारजनों के लिए हैंड सेनेटाइजर और तकरीबन 1 हजार मास्क भी अस्पताल को दिए गए. 

12 मार्च से शुरू होगी आठवीं बोर्ड परीक्षा, नकल पर लगाई जाएगी लगाम

12 मार्च से शुरू होगी आठवीं बोर्ड परीक्षा, नकल पर लगाई जाएगी लगाम

कोटा: कोटा जिले में प्रारंभिक शिक्षा पूर्णता प्रमाण पत्र आठवीं बोर्ड परीक्षा 135 परीक्षा केंद्रों पर 12 मार्च से शुरू होगी. 23 मार्च तक चलने वाली इस परीक्षा के सफल आयोजन की जिम्मेदारी निभा रहे जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान कोटा डाइट और प्रारंभिक शिक्षा विभाग की ओर से शुक्रवार को मल्टीपरपज स्कूल से आठवीं बोर्ड परीक्षा के प्रश्न पत्रों का वितरण किया गया.

मंत्री मेघवाल ने कहा-गिरदावरी से पहले प्रभावित किसानों को दी जाएगी तत्काल सहायता

परीक्षा के सभी प्रश्न पत्रों को केंद्र अधीक्षक के नेतृत्व में संबंधित थानों में रखवाए गए है. परीक्षा प्रभारी मंजुला द्विवेदी के मुताबिक कोटा जिले में इस परीक्षा के लिए 28371 परीक्षार्थी नामांकित है. नकल पर लगाम कसने के लिए चार फ्लाइंग स्क्वायर टीमें गठित की गई है. ब्लॉक एक एक टीम का भी गठन किया गया है.

कोरोना वायरस को लेकर उदयपुर जिला प्रशासन अलर्ट मोड पर, कलेक्टर ने ली बैठक

युवती का बनाया अश्लील वीडियो, फिर ब्लैकमेल कर किया दुष्कर्म 

युवती का बनाया अश्लील वीडियो, फिर ब्लैकमेल कर किया दुष्कर्म 

कोटा: प्रदेश के कोटा जिले के स्टेशन इलाके में एक युवती का अश्लील वीडियो बनाकर उसके साथ दुष्कर्म करने का मामला सामने आया है. भीमगंज मंडी थाना पुलिस ने युवती की रिपोर्ट पर मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है. पुलिस के अनुसार स्टेशन इलाके में रहने वाला युवक मोहम्मद आरिफ ने युवती का अश्लील वीडियो बनाया और उसके बाद उसे ब्लैकमेल करने लगा.

कोरोना वायरस को लेकर भारत में अलर्ट, स्वास्थ्य मंत्री बोले- विदेश से आने वाले हर व्यक्ति की जांच की जाएगी

इस दौरान युवक ने कई बार धमका कर दुष्कर्म किया. 2 दिन पहले पीड़िता ने अपने परिजनों को बताया. इसके बाद परिजन पीड़िता को लेकर थाने पहुंचे और आरोपी के खिलाफ दुष्कर्म का मामला दर्ज करवाया. फिलहाल पुलिस ने पीड़िता का मेडिकल करवाकर कोर्ट में बयान दर्ज करवाए हैं और प्रकरण की जांच शुरू कर दी है. 

कोरोना वायरस: उदयपुर जिला प्रशासन अलर्ट, एक होटल के 13 कमरे सीज, ठहरे थे इटालियन पर्यटक

सुपोषित मां अभियान का आगाज, 9 महीनों तक एक हजार चयनित महिलाओं को मिलेंगे पोषण किट

सुपोषित मां अभियान का आगाज, 9 महीनों तक एक हजार चयनित महिलाओं को मिलेंगे पोषण किट

कोटा: लोकसभा स्पीकर ओमबिरला की पहल पर कोटा-बूंदी संसदीय क्षेत्र में आज से सुपोषित मां अभियान का आगाज हुआ हैं. केन्द्रीय महिला एवं बालविकास मंत्री स्मृति ईरानी ने कोटा की भामाशाह मंडी में आय़ोजित शुभारंभ समारोह की अध्यक्षता करते हुए इस योजना का शुभारंभ किया. बिरला की पहल पर इस अभियान के तहत कई सामाजिक संगठन और संस्थाएं एक साथ आयी हैं जो कोटा-बूंदी में एक डिटेल सर्वे के बाद पहले चरण में कुपोषण की शिकार एक हजार गर्भवती महिलाओं और किशोरियों को चिन्हित करके उन्हे पोषण वितरित किए. 

VIDEO: राजस्थान विधानसभा सेमीनार में सीएम गहलोत ने की राजनीतिक दल बदल को लेकर गम्भीर टिप्पणी 

स्क्रिनिंग के बाद एक हजार कुपोषित मामलों को चयनित किया गया: 
गर्भवती माताओं में कुपोषण के चलते नवजातों में शारीरिक विकृतियां उभरने और मौतें हो जाने के तेजी से बढ़ते मामलों के बीच कोटा-बूंदी लोकसभा क्षेत्र में सांसद ओमबिरला की पहल पर ग्रेन एण्ड सीड्स मर्चेण्ट एसोसिएशन सहित कई संस्थाएं और संगठन एक साथ मिलाकर सुपोषण अभियान चला रहे हैं. फिलहाल पहले चरण में कोटा और आसपास की कच्ची बस्तियों में 5 हजार गर्भवती माताओं और किशोरियों की स्क्रिनिंग के बाद एक हजार कुपोषित मामलों को चयनित किया गया हैं और इन्हे अभियान के तहत गैर सरकारी स्तर पर 9 माह तक खास पोषक फूड पैकेट्स निशुल्क दिये जायेंगे. बिरला ने ऐलान किया हैं कि आने वाले समय में इस अभियान का विस्तार पूरे कोटा-बूंदी संसदीय क्षेत्र में करेंगे.

स्मृति ईरानी ने भी इस अभियान की प्रशंसा की:  
कोटा के भामाशाह कृषि मंडी परिसर में आयोजित अभियान के शुभारंभ समारोह की अध्यक्षता करते हुए केन्द्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने भी इस अभियान की प्रशंसा की और दावा किया कि मोदी सरकार की कोशिशों से न सर्फ महिलाओं के खाते खोलकर उसमें सीधे खातों में जमा करवाकर सरकारी योजनाओं का लाभ सीधे मां-बहनों तक पहुंचाया जा रहा हैं..बल्कि साथ ही केन्द्र सरकार की नीतियों से 11 करोड़ महिलाओं को खुले में शौच से मुक्ति मिली तो वहीं 8 करोड़ को उज्जवला और 15 करोड़ को मुद्रा योजना का लाभ मिला. केन्द्रीय मंत्री ने इस दौरान गर्भवती माताओं-शिशुओं में कुपोषण के खात्मे के लिये मोदी सरकार की 9000 करोड़ की विशेष योजना को भी रेखांकित करने का प्रयास किया और दावा किया कि कुपोषण के खिलाफ इससे बड़ी जंग आज तक नहीं लड़ी गयी.  

Women's T20 World Cup: भारत का विजयी रथ जारी, टूर्नामेंट में दर्ज की लगातार चौथी जीत 

गैरसरकारी स्तर पर शुरू हो रही सुपोषित मां की मुहिम सराहनीय:
बहरहाल कुपोषण के खात्मे के लिये सरकारी स्तर पर हो रहे प्रयासों के नाकाफी साबित हो जाने के बाद गैरसरकारी स्तर पर शुरू हो रही सुपोषित मां नाम की इस मुहिम की सराहना तो की जानी चाहिये लेकिन दावों के मुताबिक आने वाले दिनों में पूरे कोटा-बूंदी संसदीय क्षेत्र की हर कुपोषित गर्भवती मां तक सुपोषण की ये सौगात क्या पहुंच पायेगी..ये देखने वाली बात होगी. 

...कोटा से फर्स्ट इंडिया के लिए भंवर सिंह चारण की रिपोर्ट

Open Covid-19