VIDEO: जोनल डवलपमेंट प्लान में बदलाव, अब परिधीय गांवों को भी मिलेगा फायदा 

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/03/28 08:49

जयपुर। शहरों के बनाए जा रहे जोनल डवलपमेंट प्लान ना केवल शहर बल्कि परिधि में फैले गांवों के लिए भी वरदान साबित होंगे, यही नहीं भविष्य में जन सुविधाओं की उपलब्धता की गारंटी भी देंगे। आखिर कैसे हो पाएगा ये सब जानने के लिए फर्स्ट इंडिया न्यूज की ये खास रिपोर्ट:

गुलाब कोठारी प्रकरण में हाईकोर्ट आदेश की पालना में शहरों के मास्टरप्लान के तहत जोनल डवलपमेंट बनाने की कवायद शुरू की गई है। राज्य सरकार की ओर से जोनल डवलपमेंट बनाने की गाइडलाइन्स पहले जारी की जा चुकी हैं। लेकिन जोनल डवलपमेंट प्लान का अधिकतम फायदा भविष्य में लोगों को मिल सके। इसके लिए यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल ने गाइडलाइन्स में बदलाव के निर्देश दिए। मुख्य नगर नियोजक आर के विजयवर्गीय के स्तर पर गाइडलाइन्स में बदलाव का प्रारूप तैयार किया जा रहा है। गाइडलाइन्स में दो अहम बदलाव किए जाएंगे। पहला बदलाव यह होगा कि जोनल डवलपमेंट प्लान अब केवल नगरीयकरण योग्य क्षेत्र के ही नहीं बल्कि पूरे मास्टरप्लान के बनाए जाएंगे। आपको बताते हैं कि पूरे मास्टरप्लान एरिया का जोनल डवललपमेंट प्लान के क्या फायदे होंगे।

प्लान के क्या होंगे फायदे:

—नगरीयकरण योग्य क्षेत्र के बाहर परिधीय क्षेत्र भी अब जोनल डवलपमेंट प्लान के दायरे में शामिल होगा
—परिधीय क्षेत्रों में आने वाले गांवों का नियोजित तरीके से विकास हो सकेगा
—गांवों में रोड नेटवर्क के लिए भविष्य की आवश्यकता के अनुसार सेक्टर रोड चिहिन्त हो सकेंगी
—भविष्य की आबादी की जरूरत के अनुसार परिधीय क्षेत्र में जन सुविधाओं के लिए भू उपयोग तय हो सकेंगे
—पार्क, अस्पताल, कम्युनिटी सेंटर, ग्रिड सब स्टेशन व जलप्रदाय केन्द्र आदि सुविधाओं के लिए भूमि चिहिन्त होगी

शहरों के नगरीकरण योग्य क्षेत्र से मतलब उस क्षेत्र से जहां तक का मास्टरप्लान के तहत भू उपयोग तय होता है। इसके बाद परिधीय क्षेत्र रखा जाता है, जिसमें अधिकतर ग्रामीण इलाके आते हैं। इन इलाकों का भी अब जोनल प्लान बन सकेगा। इसके अलावा जोनल डवलपमेंट प्लान की गाइडलाइन्स में दूसरा बड़ा बदलाव यह होगा कि बनने वाले हर जोनल प्लान में माइक्रो लेवल पर ही जन सुविधाओं के लिए स्थान चिहिन्त होंगे। आपको बताते हैं कि इस बदलाव के शहर के लोगों को क्या फायदे मिलेंगे।

बदलाव के बाद होने वाले फायदे:

—मास्टरप्लान में पूरे शहर की आबादी की आवश्यकता के अनुसार जन सुविधाएं निर्धारित होती है
—जबकि जोनल प्लान में उस जोन की जरूरत के अनुसार स्पेसिफिकली जन सुविधाएं तय होंगी
—जोनल प्लान में ही तय होगा कि कौनसी भूमि प्राइमरी स्कूल और कौनसी भूमि सैकेण्डरी स्कूल के लिए चिहिन्त होगी
—केन्द्र सरकार के अरबन एंड रीजनल डवलपमेंट प्लान्स फॉरम्यूलेशन एंड इम्पलीमेंटेशन (URDPFI) की गाइडलाइन्स के तहत जन सुविधाएं चिहिन्त होंगी
—भविष्य में किसी भी जन सुविधा के लिए भूमि की उपलब्धता सुनिश्चित की जा सकेगी

जोनल डवलपमेंट बनाने की गाइडलाइन्स में किए जा रहे ये दो बड़े बदलाव वाकई मौजूदा और भावी शहरी आबादी के लिए बड़े फायदे वाले होंगे। नगर नियोजन विभाग की ओर से बदलाव का प्रारूप नगरीय विकास मंत्री शांति धारीवाल को भिजवा दिया गया है। मंत्री शांति धारीवाल की हरी झंडी मिलते ही ये बदलाव लागू किए जाएंगे।

... संवाददाता अभिषेक श्रीवास्तव की रिपोर्ट 


First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in