21 जून को सूर्य ग्रहण के तहत अंबाजी मंदिर के दर्शन समय में बदलाव 

21 जून को सूर्य ग्रहण के तहत अंबाजी मंदिर के दर्शन समय में बदलाव 

21 जून को सूर्य ग्रहण के तहत अंबाजी मंदिर के दर्शन समय में बदलाव 

आबूरोड: देश के सबसे बड़े शक्तिपीठ अंबाजी मंदिर 51 शक्तिपीठों में आद्या शक्तिपीठ के नाम से जाना जाता है. अंबाजी मंदिर गुजरात और राजस्थान की सीमा पर अरावली पहाड़ पर बसा है. हर साल यहां पर माता रानी के भक्त दर्शन करने आते हैं. 21 जून को सूर्य ग्रहण होने की वजह से मंदिर में दर्शन समय में बदलाव किया गया है. मंदिर की सुबह की मंगला आरती नहीं होगी. आरती दोपहर में 3:30 बजे की जाएगी.

वेब चैक इन के नाम पर कट रही जेब! एयरलाइंस सीट चुनने के नाम पर भर रही जेब, कॉर्नर और बीच वाली सीट के रेट अलग-अलग

अंबाजी मंदिर भक्तों के लिए खोलने के दिए थे आदेश: 
अंबाजी मंदिर पिछले 85 दिनों से भक्तों के लिए बंद किया गया था. अंबाजी मंदिर प्रशासन ने 12 जून से अंबाजी मंदिर भक्तों के लिए खोलने के आदेश दिए थे. फिलहाल, सभी भक्तों मंदिर के शक्ति द्वार से माता रानी के दर्शन करने आते हैं. 

आरती में नहीं होगी भक्तों की एंट्री:
सूर्यग्रहण को लेकर अंबाजी मंदिर के भट्टजी महाराज ने बताया कि 20 जून रात के 8:15 से 21 जून दोपहर के 3:30 बजे तक किसी भी भक्त को मंदिर में जाने नहीं दिया जाएगा. शाम के 4 बजे से 4:30 बजे तक भक्त मंदिर में दर्शन कर पाएंगे. उसके बाद शाम को 7:30 बजे से 8:15 पर भक्त माता रानी के दर्शन कर पाएंगे. आरती में किसी भी भक्तों को अंदर जाने नहीं दिया जाएगा.

Rajasthan Corona Updates: पिछले 24 घंटे में 4 मौत, 381 नए पॉजिटिव केस, सर्वाधिक 71 कोरोना पॉजिटिव मरीज भरतपुर में मिले

और पढ़ें