VIDEO: जयपुर RTO में बदला कार्यतंत्र! 18 कार्मिकों के कार्यक्षेत्र में किया गया बदलाव

जयपुर: प्रादेशिक परिवहन कार्यालय जयपुर में कार्मिकों के कार्य क्षेत्र में बदलाव किया गया है. 18 कार्मिकों को नए कार्य आवंटित किए गए हैं. परिवहन विभाग में पिछले माह तबादले होने के बाद जिन नए कार्मिकों ने कामकाज संभाला है, उन्हें भी नए कार्य आवंटित किए गए हैं. हालांकि कार्य आंवटन में बदलावों को लेकर कुछ सवाल भी उठ रहे हैं.

आरटीओ राकेश शर्मा ने किए महत्वपूर्ण फेरबदल:
जयपुर आरटीओ कार्यालय के कामकाज में आरटीओ राकेश शर्मा ने महत्वपूर्ण फेरबदल किए हैं. लम्बे समय से एक ही सीट पर जमे कर्मचारियों के कार्यक्षेत्र में बदलाव किया गया है. कुल 18 कर्मचारियों को नए कार्य आवंटित किए गए हैं. हालांकि एक सप्ताह पूर्व 11 जनवरी को भी कुछ कार्मिकों को कार्य आवंटित किए गए थे. अब आरटीओ के झालाना, जगतपुरा और विद्याधर नगर कार्यालयों की लगभग सभी सीटों पर कार्य आवंटित कर दिए गए हैं. आरटीओ राकेश शर्मा ने नए कार्य आवंटन में इस बात पर फोकस किया है कि कोई कर्मचारी लम्बे समय तक एक ही सीट पर जमा नहीं रहे. दरअसल परिवहन विभाग में रोस्टर प्रणाली इसी वजह से अपनाई जाती है, ताकि परिवहन कार्यालय में भ्रष्टाचार नहीं पनपे. इससे पहले आरटीओ रहे राजेन्द्र कुमार वर्मा के समय कार्यप्रणाली सवालों के घेरे में थी. इसी वजह से पिछले वर्ष 16 फरवरी को एसीबी ने बड़ी कार्रवाई की थी और विभाग के जयपुर कार्यालय में कार्यरत कई लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया था. अब नए आरटीओ राकेश शर्मा ने कार्यालय के कामकाज को विभाजित कर दिया है.

जयपुर RTO में 18 कार्मिकों को कार्य आवंटन: 
- राज सिंह चौधरी को टी सीरीज के पंजयीन, टैक्स, ट्रेवल एजेंट, कोर्ट सम्बंधित कार्य
- संजय सैन को जगतपुरा यात्री वाहन पंजीयन, ई-रिक्शा कार्य
- अनिल कूलवाल को विधानसभा, चार पहिया के ट्रेड सर्टिफिकेट, RTI व लोकायुक्त कार्य
- कपिल भाटिया को ऑटो रिक्शा परमिट, जगतपुरा स्टोर कार्य
- विनोद शर्मा को भार वाहन पंजीयन जगतपुरा कार्यालय
- मनीष पारीक को भार वाहन कर गणना, भार वाहन फिटनेस, RTI जगतपुरा कार्य
- गौतम उपाध्याय को स्टेज कैरिज परमिट, बाल वाहिनी परमिट
- जहांगीर खान को 9 सी तक चौपहिया, अन्य राज्यों के वाहनों के हस्तांतरण कार्य
- आशीष शर्मा को स्थाई लाइसेंस, कंडक्टर व व्यावसायिक लाइसेंस
- रोहिताश गुर्जर को कैशियर सी-ब्लॉक का कार्य
- आशीष शर्मा द्वितीय को कैश काउंटर जगतपुरा कार्यालय
- भागचंद मीणा को चालान शाखा, झालाना कार्यालय
- संदीप शर्मा को बिल शाखा झालाना कार्यालय

क्या तीनों परिवहन कार्यालयों में कामकाज में पारदर्शिता लाने में होंगे सफल ?: 
आरटीओ के कार्य क्षेत्र आवंटन में यूं तो काफी संतुलन रखा गया है, लेकिन कुछ कार्मिकों के मात्र 7 दिन बाद ही कार्य क्षेत्र बदलने से सवाल खड़े हो रहे हैं. लिपिक अयूब खान को फिर से वाहन हस्तांतरण कार्य में लगाया गया है, जबकि करीब 6 माह पूर्व ही अयूब खान को यहां से हटाया गया था. अयूब को दुपहिया एवं ई व आर सीरीज के हस्तांतरण और सामान्य शाखा का कार्य दिया गया है. दिनेश शर्मा के कार्य क्षेत्र में 7 दिन बाद बदलाव किया गया है. 11 जनवरी के आदेश के बाद दिनेश शर्मा को रजिस्ट्रेशन व असाइनमेंट के साथ लोक सेवा गारंटी अधिनियम का कार्य दिया गया है. सरला मीणा को 11 जनवरी को आवक-जावक मॉनीटरिंग में लगाया गया था. अब डी-ब्लॉक में कैशियर लगाया गया है. अमित तनवानी को लाइसेंस नवीनीकरण, अंतरराष्ट्रीय लाइसेंस, मोटर ड्राइविंग स्कूल का कार्य दिया गया है. वहीं सुरेश यादव के कार्य में भी 7 दिन बाद बदलाव किया गया है. सुरेश यादव को चीफ कैशियर, आरसीआर और टीपी का कार्य झालाना में लगाया गया है. अब देखना होगा कि इन बदलावों के बाद नए आरटीओ राकेश शर्मा क्या राजधानी के तीनों परिवहन कार्यालयों में कामकाज में पारदर्शिता लाने में सफल होंगे ?

...काशीराम चौधरी, फर्स्ट इंडिया न्यूज, जयपुर

और पढ़ें