close ads


जयपुर एयरपोर्ट पर बढ़ रहा चार्टर विमानों का आवागमन, डेढ माह में हुआ 78 चार्टर विमानों का मूवमेंट

 जयपुर एयरपोर्ट पर बढ़ रहा चार्टर विमानों का आवागमन, डेढ माह में हुआ 78 चार्टर विमानों का मूवमेंट

जयपुर: कोरोना काल में 2 माह तक फ्लाइट्स का संचालन बंद रहा. 25 मई से फिर से फ्लाइट संचालन चल रहा है, लेकिन अभी भी फ्लाइट्स में यात्रियों की संख्या बहुत ज्यादा नहीं देखी जा रही है. इसके अलावा फ्लाइट्स की संख्या में भी बहुत ज्यादा बढ़ोतरी नहीं हो रही है. दरअसल 25 मई से फ्लाइट्स का संचालन शुरू हाेने पर एयर इंडिया, इंडिगो, एयर एशिया और स्पाइसजेट ने 20 फ्लाइट शुरू करने का शेड्यूल दिया था. डेढ माह से ज्यादा समय बीतने पर भी अभी शेड्यूल में 24 फ्लाइट दर्शाई जा रही हैं. लेकिन इनमें से रोजाना औसतन 15 से 16 फ्लाइट ही संचालित हो रही हैं.

एक शातिर वाहन चोर चढ़ा पुलिस के हत्थे, चोरी की दो बाइकें बरामद, पूछताछ में अन्य खुलासा होने की संभावना

डेढ माह की अवधि में 78 चार्टर विमानों का मूवमेंट:
रोजाना 8 से 9 फ्लाइट रद्द चल रही हैं. इस बीच जयपुर एयरपोर्ट पर चार्टर फ्लाइट का प्रचलन बढ़ा है. मंत्री, सांसद या फिर उद्योगपति समूहों से जुड़े लोग सामान्य फ्लाइट से यात्रा करने के बजाय अलग विमान में यानी चार्टर फ्लाइट में सफर करने को तरजीह दे रहे हैं. 25 मई से 10 जुलाई तक की डेढ माह की अवधि में 78 चार्टर विमानों का मूवमेंट हुआ है. दरअसल कोरोना के डर से अधिकांश वीआईपी लोग या तो सड़क मार्ग से यात्रा कर रहे हैं, या फिर चार्टर फ्लाइट से यात्रा कर रहे हैं. राजनैतिक दलों से जुड़े नेताओं के अलावा औद्योगिक घरानों से जुड़े लोग भी चार्टर फ्लाइट से यात्रा कर रहे हैं.

पीसीसी चीफ बनाए जाने पर बोले डोटासरा, पार्टी ने जो मुझे इज्जत बख्शी है,मैं बहुत आभार व्यक्त करता हूं

कोरोना काल में चार्टर फ्लाइट से आवागमन
- जयपुर एयरपोर्ट पर गर्मियों में बढ़ा चार्टर फ्लाइट का मूवमेंट
- आमतौर पर जून-जुलाई में नहीं होता चार्टर प्लेन का आवागमन
- रोज बमुश्किल एक चार्टर फ्लाइट का मूवमेंट होता है गर्मियों के दौरान
- लेकिन कोरोनाकाल में इन दिनों बढ़ा चार्टर फ्लाइट का मूवमेंट
- पिछले डेढ माह में 78 चार्टर फ्लाइट का हुआ आवागमन
- कांग्रेस के राजनैतिक घटनाक्रम में नेताओं का चार्टर विमानों से हुआ मूवमेंट
- श्री सीमेंट, बिड़ला, रिलायंस और कई अन्य ग्रुप के लोगों का हुआ मूवमेंट
- चार्टर विमान कम्पनियां हर घंटे का औसतन ढाई से 3 लाख रुपए लेती किराया
- सामान्य फ्लाइट में ज्यादा यात्री होने पर रहता है संक्रमण का खतरा
- चार्टर फ्लाइट में केवल 2-5 लोग होने पर सुरक्षित माना जाता सफर

...फर्स्ट इंडिया के लिए काशीराम चौधरी की रिपौर्ट

और पढ़ें