मुख्य निर्वाचन अधिकारी आनन्द कुमार ने किया मतदाता सत्यापन कार्यक्रम का शुभारंभ 

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/09/01 02:23

जयपुर: मुख्य निर्वाचन अधिकारी आनन्द कुमार ने कहा कि मतदाता सूचियां पूर्णतया त्रुटिरहित हों और कोई भी पात्र मतदाता का नाम मतदाता सूची से वंचित नहीं रहे. उन्होंने प्रदेश के आमजन से आह्वान किया कि वे सभी स्वयं आयोग द्वारा उपलब्ध करवाई गई सुविधाएं जैसे एनवीएसपी पोर्टल, वोटर हैल्पलाइन मोबाइल एप के माध्यम से अपनी प्रविष्टियों का सत्यापन करें. 

ऑनलाइन सुविधा:
आज सचिवालय में समिति कक्ष-1 में मतदाता सत्यापन कार्यक्रम का शुभारंभ कुमार ने किया. उन्होंने कहा कि सत्यापन के दौरान यदि प्रविष्टियों में किसी प्रकार का संशोधन आवश्यक हो तो मतदाता आयोग द्वारा अधिकृत दस्तावेज यथा भारतीय पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस, आधार कार्ड, बैंक पास बुक, किसान प्रमाण पत्र, सरकारी या अर्द्ध सरकारी कर्मचारियों को जारी किए गए पहचान पत्र एवं राशन कार्ड में से एक दस्तावेज ऑनलाइन अपलोड करवा सकते हैं. 

सत्यापन के कई माध्यम:
आपको बता दें कि भारत निर्वाचन आयोग के निर्देषों पर सम्पूर्ण राज्य में जिला मुख्यालय पर जिला निर्वाचन अधिकारियों यानी कलक्टर्स, विधानसभा क्षेत्र मुख्यालय पर निर्वाचक रजिस्ट्रीकरण अधिकारी एवं बूथ स्तर पर बूथ लेवल अधिकारी द्वारा इस अभियान की शुरुआत की गई है. इसके तहत 1 सितम्बर, 2019 से 15 अक्टूबर, 2019 के मध्य नाम जुड़वाए, हटाए और और संशोधित किए जा सकते हैं. मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि मतदाता द्वारा सत्यापन का काम वोटर हैल्प लाइन, मोबाइल एप के माध्यम से किया जा सकता है. यह एप गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड किया जा सकता है. उन्होंने बताया कि जिन मतदाताओें के पास इंटरनेट की सुविधा नहीं है या एन्ड्राॅयड मोबाइल फोन नहीं है, वह उपरोक्त दस्तावेजों में से एक दस्तावेज के साथ उनके क्षेत्र में स्थापित काॅमन सर्विस सेन्टर पर जाकर अपनी प्रविष्टियों का सत्यापन कर सकते हैं और आवश्यकता होने पर ऑनलाइन आवेदन पत्र भर कर प्रस्तुत कर सकते हैं. इसके साथ-साथ राज्य के सभी निर्वाचक रजिस्ट्रीकरण अधिकारी कार्यालयों में वोटर फेसिलिटेशन सेन्टर भी खोले गए हैं, जिन पर भी सत्यापन का कार्य करवाया जा सकता है. 

विशेष योग्य जन के लिए सुविधा:
विशेष योग्य जन के लिए सत्यापन की सुविधा काॅल सेन्टर के माध्यम से की गई है, वह 1950 पर फोन कर प्रविष्टियों का सत्यापन करवा सकते हैं. अभियान की अवधि में बूथ लेवल अधिकारी घर-घर जाकर मतदाता की प्रविष्टियों का सत्यापन करेंगे. इस दौरान यदि परिवार के किसी पात्र व्यक्ति का मतदाता सूची में पंजीकरण नहीं करवाया है, तो मौके पर ही आवेदन पत्र प्राप्त करेंगे. वृहदतम मतदाता सत्यापन कार्यक्रम से जुड़े पोस्टर्स का भी विमोचन किया गया. इस दौरान अतिरिक्त मुख्य निर्वाचन अधिकारी डाॅ. रेखा गुप्ता, डाॅ. जोगाराम, संयुक्त मुख्य निर्वाचन अधिकारी एमएम तिवारी, उप मुख्य निर्वाचन अधिकारी विनोद पारीक सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे.    

... संवाददाता ऐश्वर्य प्रधान की रिपोर्ट 
 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in