Live News »

अदालतों के कम्प्लीट शटडाउन से मुख्य न्यायाधीश का इंकार, हाइकोर्ट बार ने न्यायिक कार्य नही करने का किया ऐलान

अदालतों के कम्प्लीट शटडाउन से मुख्य न्यायाधीश का इंकार, हाइकोर्ट बार ने न्यायिक कार्य नही करने का किया ऐलान

जयपुर: कोरोना वायरस को लेकर मुख्य न्यायाधीश इंद्रजीत महांति ने हाइकोर्ट बार एसोसिएशन के सुझाव को मानने से इंकार कर दिया. हाइकोर्ट बार एसोसिएशन ने 31 मार्च तक हाइकोर्ट को पूर्ण बंद रखने की मांग की थी. कोरोना को लेकर आज मुख्य न्यायाधीश की अध्यक्षता में रिव्यू मीटिंग की गयी. 

VIDEO- Coronavirus Updates: झुंझुनूं के प्रशासन के भरोसे मत रहिए! कर्फ्यू वाले एरिया में लगा रहा जमघट 

राजस्थान हाई कोर्ट दिन में केवल 2 घंटे ही सुनवाई करेगी:
17 मार्च को हुई बैठक में आम सहमति से यह फैसला लिया गया था कि राजस्थान हाई कोर्ट दिन में केवल 2 घंटे ही सुनवाई करेगी, लेकिन प्रदेश में बुधवार देर रात धारा 144 लगने के एक बार फिर से सीजे इंद्रजीत माहंती की अध्यक्षता में उच्च स्तरीय बैठक बुलाई गई. बैठक में महाधिवक्ता एम एस सिंघवी, ASG आर डी रास्तोगी, बार के प्रतिनिधि मौजुद रहे. 

कोरोना वायरस के खौफ के बीच भीलवाड़ा में तैयार मास्क बचा रहा लोगों की जान 

अदालतों को पूरी तरह से बंद नहीं किया जा सकता:
बार की ओर से कहा गया कि जब तक स्थिति पूरी तरह से कंट्रोल में नहीं आ जाए तब तक प्रदेश की अदालतों सहित हाई कोर्ट को पूरी तरह से बंद कर दिया जाए. लेकिन सीजे इंद्रजीत माहंती ने कहा कि कोर्ट की मंशा न्यायालयों में भीड़ कम करने की है अदालतों को पूरी तरह से बंद नहीं किया जा सकता है. बैठक से  सहमति नहीं बनने पर अध्यक्ष महेंद्र शांडिल्य ने बैठक में ही चीफ जस्टिस से कह दिया कि जजेज चाहे तो अदालतें खोल सकते हैं लेकिन वकील अदालतों में पैरवी नहीं करेंगे. 

और पढ़ें

Most Related Stories

Rajasthan Corona Updates: पिछले 24 घंटे में 4 मरीजों की मौत, 298 नए केस आये सामने, कुल मरीजों की संख्या पहुंची 8 हजार 365

Rajasthan Corona Updates: पिछले 24 घंटे में 4 मरीजों की मौत, 298 नए केस आये सामने, कुल मरीजों की संख्या पहुंची 8 हजार 365

जयपुर: राजस्थान में कोरोना वायरस के लगातार मामले बढ़ते जा रहे है. पिछले 24 घंटे में 4 मरीजों की मौत हो गई. जबकि 298 नए पॉजिटिव केस सामने आये है. जयपुर में 3, झुंझुनूं में एक मरीज की मौत हो गई. जोधपुर में फिर सामने आए सर्वाधिक 67 पॉजिटिव केस, अजमेर में 13, अलवर में 2, भरतपुर में 45, भीलवाड़ा में एक, बीकानेर में दो, चित्तौड़गढ़ में एक, चूरू में 6, धौलपुर में 5, डूंगरपुर में 6, हनुमानगढ़ में 5,जयपुर में 23,जैसलमेर में चार, झुंझुनूं में 12, झालावाड़ में 42,कोटा में 17,नागौर में 19, पाली में 1,सीकर में 13,सिरोही में 5,उदयपुर में 9 पॉजिटिव केस सामने आये है. कुल मौतों का आंकड़ा 184 पहुंच गया है. वहीं राजस्थान में कुल 8 हजार 365 पॉजिटिव मरीज है.

पर्यटन क्षेत्र को मिलेगी संजीवनी,1 जून से खुलेंगे पर्यटन स्थल, शुरू में स्मारकों में प्रवेश रहेगा फ्री

जयपुर में कोरोना का बढ़ता दायरा:
राजधानी जयपुर में लगातार कोरोना का दायरा बढ़ता जा रहा है. पिछले 24 घंटे में 3 मरीजों की मौत  हो गई. कुल 23 नए पॉजिटिव केस सामने आये है. रामगंज, संजय नगर, ईदगाह, जनता कॉलोनी व लोहरवाड़ा में 2-2 केस, घनश्याम कॉलोनी, धानोता, सुमेर नगर, दिल्ली बाईपास, घाटगेट, दूदू, गोविंदपुरा, मानसरोवर, बास बदनपुरा, विद्याधर नगर, शास्त्री नगर, हरसोली, खेड़ा में 1-1 कोरोना पॉजिटिव केस चिन्हित किया गया है. जयपुर में अब तक कुल 88 मरीजों की मौत हो गई. जबकि कुल 1932 पॉजिटिव केस है.

पॉजिटिव से नेगेटिव हुए कुल मरीज 5244:
राजस्थान में कुल 5 हजार 244 मरीज पॉजिटिव से नेगेटिव हुए है. अस्पताल से कुल 4 हजार 553 मरीज डिस्चार्ज किए गए है. अस्पताल में कुल 2937 उपचाररत एक्टिव मरीज है. कुल कोरोना पॉजिटिव प्रवासियों की संख्या 2 हजार 328 पहुंच गई है.

राजस्थान के सबसे बड़े मेडिकल कॉलेज में 1 लाख कोरोना टेस्ट, RT-PCR मशीन के जरिए हुए टेस्ट

राजस्थान के सबसे बड़े मेडिकल कॉलेज में 1 लाख कोरोना टेस्ट, RT-PCR मशीन के जरिए हुए टेस्ट

जयपुर: राजधानी जयपुर के SMS मेडिकल कॉलेज से शुक्रवार को बड़ी खबर मिली है. राजस्थान के सबसे बड़े मेडिकल कॉलेज में 1 लाख कोरोना टेस्ट किए गए है. RT-PCR मशीन के जरिए एक लाख टेस्ट किए गए है. राजस्थान में 2 मार्च को कोरोना का पहला मामला सामने आया था. तब राजस्थान में किसी भी जगह पर कोरोना जांच की सुविधा नहीं थी.

प्रवासियों के मूमेंट से बढ़ रहे कोरोना केस जल्द होंगे कम, राजस्थान में कोरोना के हालात को लेकर स्वास्थ्य भवन में समीक्षा

माइक्रोबायोलॉजी विभाग की कड़ी मेहनत:
करीब 3 महीने के दरमियान कॉलेज की माइक्रोबायोलॉजी विभाग की कड़ी मेहनत से यह सब हो पाया है. मेडिकल कॉलेज प्राचार्य डॉ.सुधीर भंडारी के निर्देशन में टीम ने बड़ी मेहनत की और 90 दिन में 1 लाख कोरोना टेस्ट का कीर्तिमान रच दिया है.

चिकित्सा मंत्री ने दी बधाई:
चिकित्सा मंत्री डॉ.रघु शर्मा ने इस मौके पर टीम SMS को बधाई देते हुए कहा कि लैब के सभी सीनियर रेजीडेंट्स, रेजीडेंट्स, पैरामेडिकल स्टाफ ने बेमिसाल काम किया है. कोरोना महामारी के दौर में बिना रूके राउंड द क्लॉक काम किया है. पूरे देश में अब तक 35 लाख से ज्यादा कोरोना टेस्ट हुए. जिसमें से 1 लाख टेस्ट जयपुर स्थित SMS की लैब में हुए है.

पर्यटन क्षेत्र को मिलेगी संजीवनी,1 जून से खुलेंगे पर्यटन स्थल, शुरू में स्मारकों में प्रवेश रहेगा फ्री

पर्यटन क्षेत्र को मिलेगी संजीवनी,1 जून से खुलेंगे पर्यटन स्थल, शुरू में स्मारकों में प्रवेश रहेगा फ्री

जयपुर: राजस्थान की अर्थव्यवस्था की रीढ़ माने जाने वाले पर्यटन उद्योग के लिए लंबे इंतजार के बाद आज अच्छी खबर आई है. 1 जून से पर्यटन शुरू किया जा रहा है. जिसके तहत प्रदेश के सभी स्मारक, संग्रहालय, नेशनल पार्क, टाइगर प्रोजेक्ट और सफारी तथा बायो लॉजिकल पार्क पर्यटकों के लिए खोल दिए जाएंगे. हालांकि इस समय पर्यटन के लिहाज से ऑफ सीजन चल रहा है लेकिन सरकार के प्रयास है कि हैं कि ऑफ सीजन के दौरान इस तरह की गतिविधियां शुरू की जाएं कि पर्यटन आने वाले दिनों में दोबारा मुख्यधारा में लौट सके. ध्यान रहे पर्यटन उद्योग को हो रहे नुकसान को लेकर फर्स्ट इंडिया न्यूज़ लगातार खबर प्रसारित करता रहा है. फर्स्ट इंडिया न्यूज़ में ही सबसे पहले जून में पर्यटन शुरू होने के संकेत भी दे दिए थे.

पर्यटन उद्योग को प्रतिदिन 10 करोड़ से ज्यादा का हुआ नुकसान:
दरअसल कोरोना संक्रमण के चलते प्रदेश में पर्यटन उद्योग को 18 मार्च को लॉक डाउन कर दिया गया था. 31 मई को प्रदेश में पर्यटन को बंद हुए ढाई महीने हो जाएंगे. इस दौरान पर्यटन उद्योग को प्रतिदिन 10 करोड़ से ज्यादा का नुकसान हुआ है. 75 दिन के नुकसान का आकलन करें तो यह राशि 3500 करोड रुपए से ज्यादा की होती है. पर्यटन व्यवसाय से जुड़े तमाम स्टेक होल्डर जिनमें होटल, क्लब, बार, गाइड, ट्रांसपोर्ट, हस्तशिल्प, ज्वेलरी, इवेंट मैनेजमेंट के अलावा छोटे-छोटे वेंडर हॉकर सभी हाशिए पर आ गए हैं. विदेशी पर्यटकों की बात करें तो वर्ष 2021 तक की तमाम बुकिंग रद्द हो चुकी हैं. ट्रैवल ट्रेड से जुड़ी 10 हजार से ज्यादा छोटी बड़ी एजेंसी बंद हो चुकी हैं.

70 फ़ीसदी लोग प्रत्यक्ष और परोक्ष रूप से हुए बेरोजगार:
टूरिज्म ट्रेड से जुड़े 70 फ़ीसदी लोग प्रत्यक्ष और परोक्ष रूप से बेरोजगार हुए हैं. प्रदेश के पांच सितारा होटल से लेकर तमाम बजट होटल तक भारी घाटे में चले गए हैं. स्टाफ को या तो लंबी छुट्टी पर भेज दिया गया है या उनके वेतन में भारी कटौती की गई है. अब उम्मीद है तो सरकार से कि वह इस इंडस्ट्री को दोबारा से खड़ा करने के लिए न केवल रियायतें दे वरन आर्थिक पैकेज भी प्रदान करें. इस स्थिति को ध्यान में रखते हुए राज्य के पर्यटन मंत्री विश्वेंद्र सिंह, पर्यटन विभाग की प्रमुख सचिव श्रेया गुहा, निदेशक डॉ भंवरलाल सहित तमाम अफसरों के साथ बैठकर एक रिवाइवल प्लान तैयार किया है. रिवाइवल प्लान केेे तहत ही शुरुआत में स्मारकों में पर्यटकों का प्रवेश निशुल्क रहेगा. इस मामले में स्टेट वाइल्डलाइफ बोर्ड के सदस्य और ट्री हाउस रिसॉर्ट के मालिक सुनील मेहता साफ कहते हैं कि लॉक डाउन के इंडस्ट्री पर दो तरह के प्रभाव पड़ेंगे. इंडस्ट्री को अरबों खरबों का नुकसान हुआ है लेकिन लॉक डाउन हटने के बाद भारत से बाहर जाने वाले पर्यटक नए पर्यटन स्थलों की ओर मुड़ेंगे, इससे राजस्थान सहित पूरे देश को फायदा भी होगा.

जयपुर एयरपोर्ट से हवाई यात्रा का पांचवां दिन, 20 में से मात्र 9 फ्लाइट का हुआ संचालन

विदेशी पर्यटकों का अगले डेढ़ दो साल तक भारत आना संभव नहीं:
दरअसल भारत से करीब सवा करोड़ लोग हर साल विदेश भ्रमण के लिए जाते हैं. इसी तरह करीब 65 लाख विदेशी हर साल भारत घूमने आते हैं. कोविड-19 के चलते विदेशी पर्यटकों का अगले डेढ़ दो साल भारत आना संभव नहीं लगता. ऐसे में हालात सामान्य होने पर अगले एक-दो महीने में भारत से बाहर जाने वाले पर्यटकों को देश में ही सुरक्षित और प्राकृतिक नजारों से लबरेज नए पर्यटन स्थलों की तलाश रहेगी. पर्यटन उद्योग को इस स्थिति का ही लाभ उठाना है. घरेलू पर्यटकों को बेहतर और सुरक्षित सुविधाओं के साथ ऐसे पर्यटन स्थलों पर स्टे कराना चाहिए जो अभी मुख्यधारा में नहीं रहे. इसके लिए प्रदेश का पर्यटन महकमा पिछले 2 वर्ष से काफी मेहनत भी कर रहा है विभाग की प्रमुख सचिव श्रेया गुहा और उनकी टीम ने प्रदेश में नए पर्यटन स्थलों की तलाश की है और वहां आधारभूत सुविधाओं के विकास के भी प्रयास किए जा रहे हैं.

लॉकडाउन के बाद दोबारा से मुख्यधारा में लाना बड़ी चुनौती:
पर्यटन मंत्री विश्वेंद्र सिंह ने भी साफ तौर पर कहा है कि पर्यटन को लॉक डाउन के बाद दोबारा से मुख्यधारा में लाना बड़ी चुनौती तो है लेकिन इसे एक अवसर के तौर पर देखना चाहिए। विश्वेंद्र सिंह ने सरकार से भी मांग की है कि इंडस्ट्री को दोबारा मजबूती से खड़ा करने के लिए सरकार जितने पैकेज, रियायत व अन्य तरह से मदद कर सकती है वह जल्दी से जल्दी करनी चाहिए. सूत्रों की मानें तो राज्य सरकार ने जो टूरिज्म इंडस्ट्री के लिए रिवाइवल प्लान तैयार किया है उसके तहत होटल इंडस्ट्री को टैक्स में छूट दी जा सकती है. पर्यटन स्थलों पर सोशल डिस्टेंसिंग ध्यान रखते हुए उन्हें शुरू किया जा रहा है. पर्यटन स्थलों पर प्रवेश शुल्क में कमी की गई है. विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स के जरिए प्रदेश के पर्यटन उत्पादों का प्रचार-प्रसार भी तेजी से शुरू किया जाएगा. बहरहाल लॉक डाउन से नुकसान को लेकर टूर ऑपरेटर हो या फिर फॉरेन एक्सचेंजर सभी में भारी निराशा के भाव हैं.

प्रदेश की अर्थव्यवस्था के सबसे मजबूत स्तंभ:
कुल मिलाकर कहा जा सकता है कि प्रदेश की अर्थव्यवस्था के सबसे मजबूत स्तंभ समझे जाने वाले पर्यटन उद्योग को जिस सरकारी संजीवनी की जरूरत कि वह मिल गई है. हालांकि अभी पैकेज की घोषणा नहीं हुई है लेकिन जिस तरह से 1 जून से प्रदेश में पर्यटन शुरू होने जा रहा है उससे उम्मीद की जा सकती है कि कोरोना से संघर्ष में टूरिज्म इंडस्ट्री ने जो दमखम दिखाया है निश्चित तौर पर राजस्थान उसमें सबसे आगे खड़ा दिखाई देगा.  

प्रवासियों के मूमेंट से बढ़ रहे कोरोना केस जल्द होंगे कम, राजस्थान में कोरोना के हालात को लेकर स्वास्थ्य भवन में समीक्षा

VIDEO: पीसीसी प्रवक्ता प्रदीप चतुर्वेदी को फोन पर धमकी, मोदी सरकार के खिलाफ लिखने पर कहे अपशब्द

जयपुर: मोदी सरकार की नीतियों का विरोध करने पर पीसीसी प्रवक्ता डॉ प्रदीप चतुर्वेदी को फोन पर धमकी मिली है. धमकी देने वाले अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ चतुर्वेदी ने मानसरोवर के शिप्रा थाने में मुकदमा दर्ज कराया है. हालांकि धमकी देने वाले का खुलासा अभी नहीं हो पाया है. इस बारे में चतुर्वेदी ने टॉप लीडरशीप को लिखा है.

121 श्रमिक स्पेशल ट्रेनों का संचालन, 4 सप्ताह में 1 लाख 73 हजार प्रवासियों को पहुंचाया गंतव्य तक 

लिखने पर अप्रत्याशित परिणाम भोगने के लिए तैयार रहने को भी कहा: 
चतुर्वेदी ने कहा कि एक अज्ञात व्यक्ति ने मोबाइल फोन पर मेरे लेखों के बारे में अप्रसन्नता जाहिर की और मुझसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विरुद्ध लिखने का कारण पूछा. मैंने अपनी विचारधारा के बारे में उसे अवगत कराया. उस अनजान व्यक्ति ने मुझे धमकी देते हुए कहा कि मैं भविष्य में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मोदी के विरुद्ध कुछ ना लिखूं. लिखने पर अप्रत्याशित परिणाम भोगने के लिए तैयार रहने को भी कहा. इसके बाद मुझे अपशब्द बोले जिसकी रिकार्डिंग पुलिस को दे दी है. 

रेल मंत्रालय ने की यात्रियों से अपील, पूर्व ग्रसित बीमारी वाले व्यक्ति नहीं करें रेल यात्रा 

वाराणसी के रामनगर में TikTok वीडियो बनाते समय गंगा में डूबने से पांच दोस्तों की मौत

वाराणसी के रामनगर में TikTok वीडियो बनाते समय गंगा में डूबने से पांच दोस्तों की मौत

वाराणसी(यूपी): वाराणसी के रामनगर के कोदोपुर क्षेत्र के सिपहिया घाट पर पांच युवकों को टिकटॉक वीडियो बनाना मंहगा पड़ गया. शुक्रवार की सुबह गंगा में टिकटॉक वीडियो बनाने के दौरान पांच किशोर डूब गए. पांचों को 11 एनडीआरएफ और पुलिस टीम गंगा से निकालकर अस्पताल लेकर गई जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया. 

121 श्रमिक स्पेशल ट्रेनों का संचालन, 4 सप्ताह में 1 लाख 73 हजार प्रवासियों को पहुंचाया गंतव्य तक 

एक को बचाने के चक्कर में सब डूबे: 
स्थानीय लोगों से मिली जानकारी के मुताबिक पांचों ने पहले तो रेत पर टिकटॉक वीडियो बनाया और उसके बाद गंगा में उतर गए. इस दौरान एक किशोर का पैर फिसल गया और वह गहराई में डूबने लगा. ऐसे में अन्य चार किशोर उसे बचाने दौड़े और एक-एक कर पांचों गंगा में डूब गए.

रेल मंत्रालय ने की यात्रियों से अपील, पूर्व ग्रसित बीमारी वाले व्यक्ति नहीं करें रेल यात्रा 

घटना के बाद मचा कोहराम:
घटनास्थल पर मौजूद एक अन्य युवक ने भागकर गया तो परिजन मौके पर आए और पुलिस को सूचना दी गई. पांचों को गंगा से निकालकर अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया. मृतकों में रामनगर थाना के वारीगढ़ही के तौसीफ (17), फरदीन (14), शैफ (15), रिजवान (15) और सकी (14) शामिल है. घटना से रामनगर कस्बे के वारीगढ़ही, कोदोपुर और सीवान में कोहराम मचा हुआ है. 

मौसम विभाग ने अलर्ट किया जारी, राजस्थान के कई जिलों में चल सकती है तेज धूलभरी आंधी

मौसम विभाग ने अलर्ट किया जारी, राजस्थान के कई जिलों में चल सकती है तेज धूलभरी आंधी

जयपुर: नौतपा का शुक्रवार को पांचवां दिन है, जिससे सूर्य देव उगल रहे है. तेज गर्मी के बीच मौसम विभाग ने शुक्रवार को कई जिलों में अलर्ट जारी किया है. तेज़ धूलभरी आंधी चलने की संभावना जताई गई है. प्रदेश के अलवर, भरतपुर, जयपुर, सीकर, दौसा, झुंझुनूं, बीकानेर,जोधपुर, चूरू,हनुमानगढ़,नागौर,श्रीगंगानगर जिले में अलर्ट जारी किया है. वहीं तापमान में गिरावट से गर्मी से राहत मिली है. शुक्रवार दोपहर 12 बजे तक का प्रमुख जिलों में तापमान में गिरावट दर्ज की गई है. किसी भी जिले का तापमान आज 45 डिग्री तक नहीं पहुंचा है. चूरू में 39.6 डिग्री, बीकानेर 36 डिग्री, गंगानगर 34 डिग्री और जयपुर में 35 डिग्री तापमान दर्ज किया गया है. 

121 श्रमिक स्पेशल ट्रेनों का संचालन, 4 सप्ताह में 1 लाख 73 हजार प्रवासियों को पहुंचाया गंतव्य तक

गुरुवार को बदला मौसम का मिजाज:
नौतपा के बीच पिछले 4 दिन से पूरा प्रदेश तप रहा था. इसमें गुरुवार को कुछ राहत मिली. प्रदेश के कुछ इलाकों में गुरुवार को मौसम ने पलटा खाया और बारिश हुई. वहीं भरतपुर में बारिश हुई तो धौलपुर के कुछ इलाकों में तेज आंधी आई. भीलवाड़ा के ग्रामीण इलाकों में बारिश के साथ ओले गिरे. 

कोरोना वायरस संक्रमण फैलाने पर क्लीनिक संचालक सहित 4 के विरुद्ध प्रकरण दर्ज

1 जून तक आंधी बारिश का अलर्ट जारी:
सवाई माधोपुर में गुरुवार शाम 4 बजे अंधड़ के साथ कुछ देर बारिश व ओले गिरे. आसमान में घने काले बादल छा गए और देखते ही देखते बरसात होनी शुरू हो गई. कई दिनों की गर्मी के बाद ठंडी हवा चलने से मौसम खुशनुमा हो गया और लोगों ने राहत की सांस ली. मौसम विभाग ने 1 जून तक 21 जिलों में आंधी बारिश का अलर्ट जारी किया है.

सहकारिता विभाग में 132 कनिष्ठ सहायक के पद पर चयनित अभ्यर्थियों की 1 से 3 जून तक होगी पात्रता जांच

सहकारिता विभाग में 132 कनिष्ठ सहायक के पद पर चयनित अभ्यर्थियों की 1 से 3 जून तक होगी पात्रता जांच

जयपुर: रजिस्ट्रार नरेशपाल गंगवार ने बताया कि प्रशासनिक सुधार विभाग द्वारा सहकारिता विभाग को आवंटित 132 कनिष्ठ सहायक के पद पर चयनित अभ्यर्थियों की पात्रता, शैक्षणिक योग्यता एवं अन्य दस्तावेजों का सत्यापन 1 जून से 3 जून तक सहकार भवन में किया जायेगा. 

121 श्रमिक स्पेशल ट्रेनों का संचालन, 4 सप्ताह में 1 लाख 73 हजार प्रवासियों को पहुंचाया गंतव्य तक 

गंगवार ने बताया कि सूची की क्रम संख्या 1 से 45 तक चयनित अभ्यर्थी 1 जून को, क्रम संख्या 46 से 90 तक के अभ्यर्थी 2 जून को तथा क्रम संख्या 91 से 127 (1 से 5 टीएसपी अभ्यर्थी) तक के अभ्यर्थी 3 जून को नेहरू सहकार भवन में प्रातः 11.00 बजे काउंसलिंग के लिये अपनी उपस्थिति देंगे. उन्होंने बताया कि प्रशासनिक सुधार विभाग द्वारा विभाग को आवंटित कनिष्ठ सहायकों की सूची विभागीय वेबसाइट http://www.rajsahakar.rajasthan.gov.in/ पर अपलोड की गई है.

10वीं, 12वीं व विश्वविद्यालय की परीक्षा पर आज होगा फैसला, 15 जून के बाद कभी भी हो सकती परीक्षाएं 

रजिस्ट्रार ने बताया कि आवंटित दिनांक के अनुसार चयनित अभ्यर्थी अपने साथ सभी दस्तावेजों/प्रमाण पत्रों शैक्षणिक योग्यता, प्रशैक्षणिक योग्यता (कम्प्यूटर संबधी), आयु व अन्य किसी छूट (एससी/एसटी/ओबीसी/एमबीसी/दिव्यांग आदि) के सबंध में आवश्यक मूल प्रमाण पत्र एवं सभी दस्तावेजो/प्रमाण पत्रों (उच्च माध्यमिक परीक्षा प्रमाण पत्र सहित) कि सत्य प्रतियां एवं 2 चरित्र प्रमाण पत्रों (सक्षम अधिकारी द्वाराप्रमाणित) तथा जिला आवंटन हेतु सहमति पत्र संयुक्त रजिस्ट्रार (प्रशासन) को उपलब्ध करायेंगे. 

कोरोना वायरस संक्रमण फैलाने पर क्लीनिक संचालक सहित 4 के विरुद्ध प्रकरण दर्ज

कोरोना वायरस संक्रमण फैलाने पर क्लीनिक संचालक सहित 4 के विरुद्ध प्रकरण दर्ज

झालावाड़: जिले के झालरापाटन थाना अधिकारी जगदीश मीणा ने बताया कि कस्बा झालरापाटन में सब्जी कुईया के पास स्थित क्लीनिक संचालक द्वारा कोरोना वायरस संक्रमण फैलाने पर क्लीनिक संचालक के विरुद्ध थाना झालरापाटन पर राजस्थान महामारी अधिनियम 2020 तथा रोग संक्रमण फैलाने की धाराओं में प्रकरण दर्ज किया गया है.

121 श्रमिक स्पेशल ट्रेनों का संचालन, 4 सप्ताह में 1 लाख 73 हजार प्रवासियों को पहुंचाया गंतव्य तक 

घटना का विवरण:  
पुलिस उप अधीक्षक व्रत झालावाड़ ने बताया कि विगत दिनों कस्बा झालरापाटन में कोरोना के पॉजिटिव आए मरीजों की हिस्ट्री मालूमात की तो ज्यादातर मरीजों ने सब्जी कुईया के पास स्थित एक क्लीनिक पर प्राइवेट कंपाउंडर से इलाज करवाना बताया था. इस पर क्लीनिक संचालक इब्राहिम पुत्र शेख जाति बोहरा मुसलमान निवासी सब्जी कुईया के पास झालरापाटन का कोरोना वायरस जांच हेतु चिकित्सा टीम द्वारा सैंपल लेना चाहा तो क्लीनिक संचालक द्वारा चिकित्सा टीम को सैंपल देने से मना कर दिया. परंतु जब ज्यादातर पॉजिटिव मरीजों का क्लीनिक संचालक के संपर्क में होने की हिस्ट्री पूछताछ पर सामने आई तो पुलिस द्वारा जबरन क्लीनिक संचालक का चिकित्सा टीम को सैंपल दिलवाया गया जो जांच में पॉजिटिव पाया गया. क्लीनिक संचालक ने अपनी हिस्ट्री छुपाकर कोरोना वायरस संक्रमण फैलाकर आम जनता का जीवन संकट में डाला है और असाध्य रोग फैलाने में सहायक रहा है. 

आम जनता का जीवन संकट में डालने की धाराओं में प्रकरण दर्ज: 
इस पर झालरापाटन के हरिप्रसाद लकवाल मुख्य चिकित्सा अधिकारी सेटेलाइट अस्पताल झालरापाटन द्वारा दिए जाने पर क्लीनिक संचालक इब्राहिम के विरुद्ध राजस्थान महामारी अध्यादेश 2020 तथा असाध्य रोग का संक्रमण फैला कर आम जनता का जीवन संकट में डालने की धाराओं में आपराधिक प्रकरण दर्ज किया गया है.  

रेल मंत्रालय ने की यात्रियों से अपील, पूर्व ग्रसित बीमारी वाले व्यक्ति नहीं करें रेल यात्रा 

मौत के बाद लॉक डाउन का उल्लंघन होने पर लोगों पर मुकदमा दर्ज:
साथ ही इमली गेट पर 1 महिला की मौत होने पर 1 परिवार के 3 लोगों पर भी मुकदमा दर्ज हुवा जिन्होंने मौत के बाद लॉक डाउन का उल्लंघन कर बड़ा प्रोग्राम आयोजित किया, जिसमे बड़ी संख्या में लोगों ने शिरकत की जिसके कारण mp से लोगों का यहा बड़ी संख्या में पहुंचे और कोरोना फैलाने में कारण बने. इस पर पुलिस ने 4 लोगों पर मुकदमा दर्ज कर अनुसन्धान शुरू कर दिया है.  

Open Covid-19